टिकट काटकर बीजेपी ने आधिकारिक तौर पर बता दिया- नकारे हैं छत्तीसगढ़ के 10 चौकीदार

मुद्दा , रायुपर, शुक्रवार , 22-03-2019


chchattisgarh-ticket-election-bjp-chaukidar-modi-raman-singh

तामेश्वर सिन्हा

रायपुर। ट्वीट के मैदान-ए-जंग में नरेंद्र मोदी से लेकर भाजपा के तमाम नेता अपने नाम के आगे चौकीदार लगा रहे हैं। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ के भाजपा सांसद भी अपने नाम के आगे चौकीदार लिख रहे थे। लेकिन क्या छत्तीसगढ़ के 11 सांसदों की चौकीदारी इतनी खराब थी कि इस लोक सभा चुनाव में उनके टिकट काटकर नये चेहरों को सामने लाना पड़ा। इसको लेकर छत्तीसगढ़ में बहस बहुत तेज हो गयी है।

बता दें कि पार्टी नेता और छत्तीसगढ़ प्रभारी अनिल जैन ने कहा है कि सभी 10 वर्तमान सांसदों को टिकट नहीं दिया जाएगा और उनकी जगह पर नए उम्मीदवार उतारे जाएंगे।

21 मार्च को जारी पार्टी की लोकसभा प्रत्याशियों की सूची में छत्तीसगढ़ के पांच सदस्यों के नाम शामिल हैं। राज्य में लोकसभा की कुल 11 सीटें हैं। शेष सीटों के प्रत्याशियों के नाम अगली लिस्ट में आएंगे। पार्टी ने छत्तीसगढ़ में पार्टी के सभी मौजूदा 10 सांसदों के टिकट काट दिए हैं। पहली लिस्ट में शामिल पांच उम्मीदवारों में से दो महिलाएं हैं।

केंद्र की मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में छत्तीसगढ़ के इकलौते प्रतिनिधि रहे वरिष्ठ भाजपा नेता विष्णुदेव साय का टिकट कटने की खबर से उनके समर्थक भौंचक हैं।  उधर बस्तर में भाजपा के पितृ पुरूष स्व. बलिराम कश्यप के बेटे दिनेश कश्यप का टिकट कटने से बस्तर के भाजपा कार्यकर्ताओं में भी निराश छाई हुई है। बस्तर से जुड़े भाजपा के एक बड़े नेता ने बताया कि पार्टी के लिए 2018 के विधानसभा चुनावों के समय कार्यकर्ताओं की नाराजगी और भितरघात के चलते मिली हार का घाव अब भी हरा है। यही वह बड़ी वजह है जिसके चलते पिछले विधानसभा चुनावों में बस्तर समेत पूरे छत्तीसगढ़ में भाजपा का सूपड़ा साफ हो गया था। लेकिन पार्टी ने शायद अब भी कोई सीख नहीं ली है।

सांसदों का टिकट काटने की घोषणा कर पहले ही अस्तित्व का संघर्ष कर रहे पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए बड़ी परेशानी खड़ी कर दी है। 11 लोकसभा क्षेत्रों में से 10 सीटों पर जीत दर्ज कर केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले राज्य के भाजपा सांसद और उनके समर्थक इस घोषणा के बाद बेहद निराश हैं। हालांकि संगठन के डंडे के डर से भाजपा के नेता या कार्यकर्ता फ़िलहाल मीडिया को अधिकृत बयान देने से बच रहे हैं।

(रायपुर से जनचौक संवाददाता तामेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट।)








Tagchhattisgarh loksabhaelection ticket bjp ramansingh

Leave your comment











Samnath Kashyap piplawand :: - 03-22-2019
भाजपा राजनीति के चौकीदार सचमुच खरे नहीं उतरे इस तरह की निर्णय लिया हो