नेता नहीं, नीतियों में बदलाव से बदलेंगे हालात

बेबाक , , शुक्रवार , 20-07-2018


rahul-modi-policy-naxla-chhattisgarh-chidambaram-raman-himanshu

हिमांशु कुमार

राहुल गांधी तुम्हारे आश्रम में एक रात बिताएंगे 

यह गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता और राज्यसभा की सांसद निर्मला देशपांडे का फोन था 

मैं दिल्ली आया हुआ था तुरंत छत्तीसगढ़ के बस्तर वापस जाने के लिए टिकट कटाया और अपने आश्रम पहुंचा 

आस-पास के गांव वालों को सूचित किया कि राहुल गांधी आ रहे हैं वह अपनी बात उनसे कह सकते हैं 

अगले दिन मेरे पास खबर आई कि राहुल गांधी से कहा गया है कि वह मेरे आश्रम में नहीं रुक सकते क्योंकि मैं नक्सलियों का समर्थक हूं

कुछ घंटों बाद मुझे अमित जोगी का फोन आया कि राहुल गांधी जगदलपुर में आपसे मुलाकात करेंगे आप जगदलपुर आइए 

मैं जगदलपुर पहुंचा अंदर राहुल गांधी मौजूद थे उनसे मिलने बहुत लोग आए हुए थे 

मुझे गेट पर रोक दिया गया 

मैंने कहा मुझे राहुल गांधी ने मिलने के लिए बुलाया है लेकिन पुलिस ने मुझे अन्दर नहीं जाने दिया,

मैने कांग्रेस के नेता अजीत जोगी जो उस समय राहुल गांधी के साथ भीतर थे, को फोन लगाया

अजीत जोगी ने बताया कि पुलिस ने आपके नाम को क्लियर नहीं किया है उन्होंने कहा है कि आप नक्सल समर्थक हैं इसलिए राहुल गांधी आपसे नहीं मिल सकते

अजीत जोगी ने बाद में मुझे बताया कि आपकी अनुपस्थिति वहां सबसे ज्यादा चर्चा का विषय थी और आप अनुपस्थित होकर भी सबसे ज्यादा चर्चा का विषय थे

कुछ वर्षों बाद जब आदिवासियों पर हमले बहुत ज्यादा बढ़ गए दिल्ली में कांग्रेस की सरकार थी 

मैं और मेरी पत्नी जाकर राहुल गांधी से मिले और उन्हें सब कुछ बताया

राहुल गांधी ने हमें चिदंबरम से मिलने को कहा मैं चिदंबरम से मिला 

चिदंबरम ने बस्तर आने का वादा किया लेकिन पीछे से रमन सिंह के साथ मिलकर मेरे कार्यकर्ताओं को जेल में डलवा दिया। मेरे आश्रम पर बुलडोजर चला दिया गया 

और अंत में मुझे छत्तीसगढ़ छोड़ने पर मजबूर कर दिया गया

मुझे हमेशा से लगता है कि सवाल कांग्रेस और भाजपा का नहीं है

सवाल हमारी विकास की नीतियों, गरीबों की लूट, पूंजीपतियों की सेवा, मानव अधिकारों के हनन को सरकारी स्वीकृति जैसे मुद्दों का है 

चाहे राहुल रहें या मोदी कोई अंतर नहीं आएगा

हम नेता बदलते हैं और सोचते हैं हमारी हालत बदल जाएगी 

लेकिन अगर हम नीतियों पर बात नहीं करेंगे और उन्हें नहीं बदलेंगे तो कुछ भी नहीं बदलेगा

(हिमांशु कुमार गांधीवादी कार्यकर्ता हैं और आजकल हिमाचल प्रदेश में रहते हैं।)




Tagrahul modi naxal chhattisgarh raman

Leave your comment