अब बीजेपी के मंच से बोलेंगे सन्नी देओल- पाकिस्तान ज़िन्दाबाद

विमर्श , , मंगलवार , 23-04-2019


sunny-bjp-join-gurudaspur-sitaraman-pakistan

प्रेम कुमार

सन्नी देओल बीजेपी से अब हुंकार भरेंगे। गुरदासपुर से विनोद खन्ना की विरासत वाली सीट पर चुनाव लड़ेंगे। बीजेपी सांसद हेमामालिनी और पूर्व सांसद धर्मेंद्र के पुत्र सन्नी देओल बीजेपी से अपने परिवार के परम्परागत संबंध को मजबूत करेंगे। दो केंद्रीय मंत्रियों निर्मला सीतारमन और पीयूष गोयल ने सन्नी देओल को बीजेपी की सदस्यता दिलायी और उनका स्वागत किया। 

सन्नी देओल का स्वागत करते हुए पीयूष गोयल ने बहुत महत्वपूर्ण बात कही, जिसे सार रूप में बताएं तो वह यह थी कि सन्नी देओल देशभक्ति की भावना जगाने वाले कलाकार हैं। जब तक यह भावना अंदर से नहीं आती, तब तक एक्टिंग में भी जान नहीं पाती। उनके कहने का मतलब साफ था कि सन्नी देओल देशभक्त हैं, तभी देशभक्ति की आवाज़ को बुलन्द कर पाते हैं। 

...हमारा हिन्दुस्तान ज़िन्दाबाद है, था और रहेगा

सन्नी देओल की गदर फ़िल्म यादगार फ़िल्म है जिसमें वे अपनी पत्नी को हासिल करने के लिए, जो पाकिस्तानी होती हैं, पाकिस्तान जा पहुंचते हैं। पत्नी के साथ उनका बेटा भी है। ससुर पाकिस्तान सरकार में मंत्री रहते हैं। पत्नी और बेटे के लिए सन्नी देओल हर शर्त मान लेते हैं। यहां तक किइस्लाम जिन्दाबादऔरपाकिस्तान ज़िन्दाबादका नारा भी सन्नी देओल बुलन्द करते हैं। मगर, हिन्दुस्तान के लिए बुरे नारे लगाने की मांग पर सन्नी भड़क जाते हैं। कड़कती और ललकारती आवाज़ में वे कहते हैं- “आपका पाकिस्तान जिन्दाबाद है..इसमें हमें कोई एतराज नहीं, लेकिन हमारा हिन्दुस्तान ज़िन्दाबाद है, था और रहेगा....”

निश्चित रूप से पीयूष गोयल के शब्द और उनकी भावना यहां भी लागू होती है। सन्नी देओल को इस्लाम और पाकिस्तान ज़िन्दाबाद बोलने में कोई परहेज नहीं है। फ़िल्म का संदेश भी यही है। हर भारतीय भी ऐसा ही चाहता है। मगर, ‘वसुधैव कुटुम्बकमको भारतीय संस्कृति की परम्परा बताती रही बीजेपी क्या आज की तारीख में खुलकर यह कहेंगे- इस्लाम ज़िन्दाबाद, पाकिस्तान ज़िन्दाबाद? सन्नी देओल के बीजेपी में शामिल होने से यह बहस नये सिरे से पैदा होगी।

बीते दिनों में नवजोत सिंह सिद्धू की सभा मेंपाकिस्तान ज़िन्दाबादके नारे लगे थे। बीजेपी ने इसे आरोप बताकर पेश किया और लगातार कांग्रेस को पाकिस्तानी बताने की कोशिश करते रहे। ऐसे ही एक अवसर पर टीवी डिबेट में इन पंक्तियों के लेखक ने भी बीजेपी प्रवक्ता को टोका था किपाकिस्तान ज़िन्दाबादकहना देशद्रोह कैसे हो सकता है? उसके बाद स्थिति ऐसी बनी कि पैनल पर मौजूद बीजेपी प्रवक्ता, आरएसएस प्रवक्ता, सेना की नुमाइंदगी करने वाले पूर्व सैन्य अफसर और यहां तक कि एंकर भी एकजुट होकर उल्टा सवाल दागने लगे- “आप दुश्मन देश का ज़िन्दाबाद कैसे कर सकते हैं?” अपशब्द बोलने की असभ्यता का खुलकर सबने इजहार किया।

पाकिस्तान ज़िन्दाबाद बोलना देशद्रोह नहीं, सबूत बने रहेंगे सन्नी देओल

सन्नी देओल, उनकी फ़िल्म और उनके डायलॉग टीवी डिबेट के दौरान भी याद आए और उसे दोहराया भी। मगर, कोई सुनने को तैयार नहीं था। सवाल ये है कि पड़ोसी देशों का ज़िन्दाबाद क्यों हो, चाहे वह पाकिस्तान हो या बांग्लादेश या फिर नेपाल या कोई और देश? ‘दुश्मन देशका दर्जा हिन्दुस्तान ने किसी को नहीं दिया है। बालाकोट की एअर स्ट्राइक भी आधिकारिक बयान के मुताबिक जनता, सैन्य प्रतिष्ठान और 

पाकिस्तान के विरुद्ध नहीं थी। वह एअर स्ट्राइक आतंकियों की ओर से हमले की योजना से पहले की एहतियातन कार्रवाई थी।

सन्नी देओल के बीजेपी में शामिल होने के बाद यह उम्मीद की जानी चाहिए कि पड़ोसी देशों के साथ एकतरफा और विद्वेषपूर्ण सोच अतार्किक नहीं रहेगी। बीजेपी में भी पाकिस्तान ज़िन्दाबाद और इस्लाम ज़िन्दाबाद बोलने वाले लोग हैं, इसके सबूत के तौर पर सन्नी देओल को देखा जाएगा। उन्होंने एक्टिंग जरूर की थी, मगर पीयूष गोयल ने सही कहा है कि दिल में सच्ची भावना रहती है तभी एक्टिंग भी हो पाती है। सन्नी देओल देशभक्त हैं, कलाकार हैं और अब राजनीतिज्ञ भी हो चुके हैं। वे हिन्दुस्तान के लिए कभी बुरा सुन सकते हैं, कह सकते हैं। मगर, वे पड़ोसी देश का ज़िन्दाबाद करने में भी पीछे नहीं रहे हैं।

क्या राजनीति बदल पाएंगे सन्नी?

सन्नी देओल की मौजूदगी से क्या बीजेपी की राष्ट्रवादी सोच में कोई फर्क पड़ेगा? सन्नी देओल केवल गुरदासपुर की सीट जीतने राजनीति में नहीं आए हैं। उनके आने से राजनीति बदलेगी। वे बीजेपी के लोगों के लिए भी प्रेरणा साबित होंगे। ऐसी उम्मीद की जा सकती है। अब बीजेपी के भीतर भीपाकिस्तान ज़िन्दाबादबोलने वालों की संख्या में इज़ाफ़ा होगा। वसुधैव कुटम्बकम की राह से भटकाव पर विराम लगेगा। अब सन्नी देओल चीख-चीख कर बीजेपी की ओर से बोलेंगे- “पाकिस्तान ज़िन्दाबाद”, “इस्लाम ज़िन्दाबाद मगर, हां। वे यह बोलना भी नहीं छोड़ेंगे- “आपका पाकिस्तान जिन्दाबाद है..इसमें हमें कोई एतराज नहीं, लेकिन हमारा हिन्दुस्तान ज़िन्दाबाद है, था और रहेगा….”

 

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं और आजकल विभिन्न चैनलों की बहसों के पैनल में उन्हें देखा जा सकता है।








Tagsunnydeol bop Gurudaspur Sitaraman pakistan

Leave your comment











Umesh Chandola :: - 04-23-2019
पापी पेट का सवाल है बाबा।