लाल के बाद भगवा कार्यकर्ताओं का दमन

आंदोलन , , बृहस्पतिवार , 25-05-2017


bjp-protest-lathicharge-police-oppression

सत्येंद्र प्रताप सिंह

कोलकाता। कोलकाता में आज बीजेपी पुलिस मुख्यालय लालबाजार पर प्रदर्शन करेगी यह कार्यक्रम पहले से ही तय था। बीजेपी के इस कार्यक्रम को रोकने के लिए कोलकाता पुलिस ने भी जो व्यवस्था कर रखो थी वह भी अभूतपूर्व थी। लालबाजार जाने वाले हर रास्ते को पुलिस छावनी में पहले ही तब्दील कर दिया गया था। पुलिस की तैयारी यह बताने के लिए काफी थी कि बीजेपी जो तेजी से पश्चिम बंगाल में मुख्य विपक्षी दल बनने की राह पर है, उसकी राह को आज कैसे रोकना है। तीन दिन पहले वामपंथियों की रैली के लिए पुलिस की तैयारी और आज की तैयारी में जमीन-आसमान का फर्क था। बड़ी तादाद में कोलकाता और आसपास के बीजेपी कार्यकर्ताओं के इस प्रदर्शन में भाग लेने की संभावनाओं के चलते हर गली और नुक्कड़ पर पुलिस के जवान डंडों और वाटर कैनन के साथ पहले से ही तैनात थे। नजारा देखकर ही लग रहा था की सेंट्रल कोलकाता आज रणक्षेत्र में बदलने वाला है। हुआ भी वही जिसकी आशंका थी। कोलकाता पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर मारा, लाठी, वाटर कैनन व टियर गैस का भरपूर इस्तेमाल हुआ। भारी संख्या में कार्यकर्ता घायल हुए, अधिकांश घायलों को एसएसकेएम और कोलकाता मेडिकल कॉलेज में दाखिल कराया गया है। दूसरी तरफ बीजेपी के शीर्ष नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।
मीडिया कर्मियों को दिये गये थे विशेष जैकेट
मीडिया कर्मियों पर पुलिस की लाठी नहीं बरसे इसके लिए पुलिस की ओर से पीले और हरे रंग के प्रेस लिखे जैकेट बांटे गए थे। तमाम सुरक्षा इंतजाम के बावजूद नदिया से आए बीजेपी के करीब 30-35 कार्यकर्ता बस में सवार हो कर पुलिस मुख्यालय गेट तक पहुंच गए। हालांकि, पुलिस ने बस को जब्त कर बीजेपी कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया।
पुलिस के सामने डटे रहे भाजपाई
कॉलेज स्क्वायर, हावड़ा स्टेशन और धर्मतल्ला से शुरू हुए बीजेपी के जुलूस में शामिल हजारों कार्यकर्ताओं को लालबाजार के आस-पास पहुंचने पर पुलिस ने उन्हें रोक लिया। जब कार्यकर्ताओं ने उससे आगे बढ़ने की कोशिश की तो पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाईं। एक तरफ बीजेपी कार्यकर्ता बैरिकेड को तोडऩे की कोशिश कर रहे थे तो दूसरी तरफ पुलिस लाठीचार्ज करने के साथ-साथ आंसू गैस के गोले दाग रही थी।
पुलिस वाहन में आगजनी और तोड़फोड़
इस संघर्ष में कई लोगों के घायल होने की खबर है। झड़प के दौरान ही बी बी गांगुली स्ट्रीट में पुलिस की एक सोमो विकटा गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया तो दूसरी गाड़ी में कार्यकर्ताओं ने जमकर तोडफ़ोड़ की। तीन अलग-अलग जगहों से रैली का नेतृत्व कर लालबाजार पहुंचे प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष, कैलाश विजयवर्गीय, रूपा गांगुली, राहुल सिन्हा सहित कई शीर्ष नेताओं को हिरासत में ले लिया गया।
बम चलने की खबर से हड़कंप
आरोप है कि बेंटिक स्ट्रीट में रैली में शामिल लोगों की ओर से बम भी फेंका गया जिसके बाद पुलिस को मजबूरन लाठी चार्ज करनी पड़ी। हालांकि बीजेपी ने इस आरोप को खारिज कर दिया है। पुलिस के साथ हो रही धक्कामुक्की में बीजेपी महिला मोर्चा की महासचिव अभिनेत्री लॉकेट चटर्जी को भी चोट लगी है, उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां से पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया। घटना के विरोध में बीजेपी नेताओं के एक प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा है। बीजेपी नेता राहुल सिन्हा का कहना है कि शांतिपूर्ण जुलूस पर पुलिस ने लाठी बरसाई है जिसमें सैकड़ों लोग जख्मी हुए हैं। प्रदर्शन के कारण हावड़ा से लेकर मध्य कोलकाता तक सड़कें जाम रहीं। इस भीषण गर्मी में लोगों को घंटों फजीहत झेलना पड़ा।
इस बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जो आज मोदी से मुलाक़ात के लिए दिल्ली में हैं। कल उनकी सोनिया गांधी से मुलाक़ात होगी।






Leave your comment