हर कोने से उठी एक ही आवाज़- मैं हूं गौरी

आंदोलन , फोटो अलबम, बृहस्पतिवार , 07-09-2017


gauri-lankesh-protest

जनचौक स्टाफ

पत्रकार और एक्टिविस्ट गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में कल लगभग पूरा देश सड़कों पर उतर आया। पत्रकारों और बुद्धिजीवियों से लेकर आम नागरिक ने भी इस विरोध प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। देशभर से आ रहीं तमाम तस्वीरें इसकी गवाह हैं। गौरी लंकेश की हत्या ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया है। देश के तमाम हिस्सों में बुधवार को जुलूस, धरना, प्रदर्शन और सभाएं हुईं। कई जगह उनकी याद में मोमबत्ती जलाई गईं। हर जगह एक ही नारा बुलंद हुआ आई एम गौरी...मैं हूं गौरी।  

गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में प्रेस क्लब, दिल्ली में सभा। फोटो साभार

 

गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में प्रेस क्लब, दिल्ली में सभा। फोटो : मुकुल सरल

गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में प्रेस क्लब, दिल्ली में सभा। फोटो : मुकुल सरल

गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में प्रेस क्लब, दिल्ली में सभा। फोटो : मुकुल सरल

प्रेस क्लब, दिल्ली

दिल्ली में प्रेस क्लब, इंडिया गेट और दिल्ली यूनिवर्सिटी समेत कई जगह विरोध सभाएं हुईं। प्रेस क्लब की सभा में अंदर से बाहर तक भीड़ ही भीड़ थी। इसमें पत्रकारों के अलावा अन्य बुद्धिजीवी, शिक्षक, समाजसेवी और कई राजनीतिक दलों के नेता मौजूद थे।

गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में प्रेस क्लब, दिल्ली में सभा। फोटो : मुकुल सरल

सभी ने इसे असहमति की आवाज़ दबाने की कोशिश बताया। और ऐसी ताकतों के खिलाफ पुरज़ोर लड़ाई का संकल्प लिया।

इंडिया गेट पर विरोध प्रदर्शन। फोटो साभार

इंडिया गेट, दिल्ली

इसके अलावा प्रसिद्ध वकील और समाजसेवी प्रशांत भूषण और स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव की अगुआई में इंडिया गेट तक मार्च कर मोमबत्ती जलाई गईं।

दिल्ली विश्वविद्यालय में विरोध सभा। साभार

दिल्ली विश्वविद्यालय

दिल्ली विश्वविद्यालय में भी छात्रों ने प्रतिरोध सभा कर अपना दुख और गुस्सा जाहिर किया।

सभी जगह कट्टर तत्वों द्वारा गौरी लंकेश की हत्या के प्रति तीखा रोष प्रकट किया गया। कनार्टक सरकार से इस मामले की जल्द जांच कराके हत्यारों की तुरंत गिरफ़्तारी और सज़ा की मांग की गई। साथ ही प्रधानमंत्री से भी हस्तक्षेप की मांग करते हुए कट्टरवादी हिन्दुत्वादी ताकतों पर अंकुश लगाने की मांग की गई। सभाओं में सोशल मीडिया पर गौरी लंकेश को लेकर चल रहे अनर्गल प्रचार पर भी गुस्सा जाहिर किया गया। सोशल मीडिया पर गौरी को गाली देने वालों में ऐसे भी लोग शामिल हैं जिन्हें ट्विटर पर प्रधानमंत्री फॉलो करते हैं, इसपर सभी ने चिंता जाहिर की और ऐसे तत्वों से नाता तोड़कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की प्रधानमंत्री से मांग की गई।  

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने एक बयान में कहा,  गौरी लंकेश की हत्या लोकतंत्र में असहमति के लिए अशुभ संकेत है और यह प्रेस की आज़ादी पर हमला है।

साभार : गूगल

देशभर में प्रतिरोध

दिल्ली के अलावा मुंबई, बेंगलुरू, चेन्नई, हैदराबाद, मंगलौर, पुणे, यूपी के लखनऊ, गोरखपुर, बनारस, गुजरात के अहमदाबाद, त्रिवेंद्रम तमाम जगह से विरोध प्रदर्शन और सभाओं की ख़बरें और तस्वीरें मिल रही हैं। 

साभार

साभार

साभार

साभार

साभार

साभार

साभार

अहमदाबाद। फोटो कलीम सिद्दीकी

अहमदाबाद। फोटो कलीम सिद्दीकी

साभार

साभार

साभार

साभार

अंतिम विदाई

कल बुधवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार कर  दिया गया। अंतिम संस्कार में भारी भीड़ उमड़ी। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया भी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने पहुंचे। उनके अलावा गृह मंत्री रामालिंगा रेड्डी, अभिनेता प्रकाश राज, रंगमंच की हस्तियां, कई पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता मौजूद थे

पत्रकार गौरी लंकेश को अंतिम विदाई। फोटो साभार : गूगल

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या से दुखी परिजन। फोटो साभार : गूगल

पत्रकार गौरी लंकेश को अंतिम विदाई। फोटो साभार : गूगल

पत्रकार गौरी लंकेश को अंतिम विदाई देते कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया। फोटो साभार : गूगल

आपको बता दें कि पत्रकारिता जगत की एक बुलंद आवाज़ गौरी लंकेश की मंगलवार, 5 सितंबर की रात कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में उनके घर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्यारों ने बहुत नज़दीक से उनके ऊपर सात गोलियां चलाईं। हिन्दुत्ववादी ताकतों की प्रखर आलोचक गौरी 'गौरी लंकेश पत्रिकेनाम से साप्ताहिक पत्रिका का संपादन करती थीं। 13 सितंबर का अंक इसका आख़िरी अंक साबित हुआ। इसमें उन्होंने फेक न्यूज़ के मुद्दे पर संपादकीय लिखते हुए आरएसएस और बीजेपी के कई मंत्रियों पर निशाना साधा था। उन्हें इससे पहले भी धमकियां मिल रही थीं। 55 साल की गौरी कन्नड़ के प्रसिद्ध कवि और पत्रकार पी लंकेश की सबसे बड़ी बेटी थीं। कर्नाटक सरकार ने इस हत्याकांड की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है। 

(सभी तस्वीरें गूगल, सोशल मीडिया, मित्रों एवं अन्य स्रोतों से ली गई हैं। सभी का आभार।) 






Leave your comment