संजली को न्याय दिलाने के लिए कई जनसंगठन उतरे सड़कों पर, कांग्रेस नेता राजबब्बर ने की परिजनों से मुलाकात

आंदोलन , , सोमवार , 24-12-2018


sanjali-protest-dharna-lucknow-rajbabbar-congress

जनचौक ब्यूरो

लखनऊ। आगरा में मासूम संजली की पेट्रोल से जलाकर की गई निर्मम हत्या की गूंज आज लखनऊ में सुनाई पड़ी। विभिन्न महिला संगठनों और आवाम पसंद लोगों ने इस घटना की घोर निंदा करते हुए अम्बेडकर प्रतिमा के सामने विरोध-प्रदर्शन किया। वक्ताओं ने इस मामले में सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रदेश में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं के नाम पर ढोंग किया जा रहा है। प्रदेश में कहीं भी बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं और उनकी पढ़ाई-लिखाई तो दूर सामान्य रूप से कहीं आना जाना भी मुश्किल गया है।

विभिन्न जनसंगठनों ने संयुक्त धरना-प्रदर्शन के माध्यम से दसवीं की छात्रा संजली के साथ हुई नृशंष घटना पर अपना विरोध-प्रदर्शन किया। वक्ताओं ने मासूम संजली को श्रद्धांजलि  अर्पित करते हुए कहा कि प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है। लूट, हत्या, बलात्कार की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है। हर तरफ अपराध और अत्याचारों की बाढ़ आ गई है, जबकि सरकार गाय और हनुमान से आगे बढ़ने को तैयार ही नहीं दिखती। लोगों ने कहा कि उनका विरोध प्रदर्शन संजली के हत्यारों की गिरफ्तारी के साथ उनके परिवार को न्याय दिलाये जाने तक जारी रहेगा। 

संजली को न्याय दिलाने को लेकर लखनऊ में धरना।

इस अवसर पर विभिन्न महिला संगठन एडवा, महिला फेडरेशन और एपवा एवं  अमन-पसंद जनसंगठनों एसएफआई, डीवाईएफआई, आइसा, आरवाईए, साझी दुनिया, रिहाई मंच, जसम, पीयूसीएल से जुड़े सैकड़ों लोग विरोध-प्रदर्शन में शामिल हुए। प्रतिवाद सभा में उपस्थित लोगों में प्रमुख थीं लखनऊ विवि की पूर्व कुलपति प्रो. रूप रेखा वर्मा, वरिष्ठ पत्रकार व एक्टिविस्ट वंदना मिश्र, सामाजिक कार्यकर्ता नाइस हसन, विमल किशोर, दलित बुद्धिजीवी व एक्टिविस्ट राम कुमार, जसम के कौशल किशोर, इप्टा के राकेश, जनवादी नौजवान सभा के नेता का. राधे श्याम वर्मा, आरवाईए नेता राजीव, आइसा नेता शिवा रजवार, इलाहाबाद विवि छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष लाल बहादुर सिंह, रिहाई मंच के राजीव यादव। पूरा आयोजन महिला फेडरेशन की आशा मिश्रा, एपवा की मीना सिंह, एडवा की सीमा राना द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था।

इस बीच, यूपी कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने आज आगरा दौरा कर संजली के परिजनों से मुलाकात की। बब्बर इस मौके पर बेहद भावुक हो गए। उन्होंने कहा का परिजनों को सांत्वना देने के लिए उनके पास शब्द नहीं हैं। इसके साथ ही उन्होंने यूपी पुलिस पर भी आरोप लगाया। उनका कहना था कि पुलिस पुराने मामले को नया मोड़ देने की साजिश रच रही है। जिसके तहत वो संजली के घर वालों को ही उसकी मौत का जिम्मेदार ठहरा देने की कोशिश कर रही है। उनका कहना था कि सूबे की पुलिस की साख खत्म हो गयी है। जिस तरह से उसने तमाम मामलों में खुलकर सरकार और सत्तारूढ़ पार्टी का पक्ष लिया है उससे अब उस पर भरोसा करने लायक नहीं रह गया है। लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि संजली को जब तक न्याय नहीं मिल जाता उनकी पार्टी चुप नहीं बैठेगी।








Tagsanjali protest dharna rajbabbar congress

Leave your comment