गुजरात दंगा फिर सुप्रीम कोर्ट में, मोदी को मिली क्लीन चिट के खिलाफ जाकिया की याचिका पर 19 को सुनवाई

बड़ी ख़बर , नई दिल्ली, मंगलवार , 13-11-2018


gujarat-riots-modi-zakia-zafari-clean-chit-gulbarga-godhara

जनचौक ब्यूरो

नई दिल्ली। गोधरा दंगा मामले में पीएम मोदी को मिली क्लीन चिट को चुनौती देने वाली जाकिया जाफरी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 19 नवंबर को सुनवाई करेगा।

जाकिया जाफरी पूर्व कांग्रेस सांसद और 2002 के दंगों के दौरान गुलबर्गा सोसाइटी में मारे गए एहसान जाफरी की पत्नी हैं। उन्होंने गुजरात के तब के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी, दूसरे नेताओं और वरिष्ठ नौकरशाहों को एसआईटी द्वारा दी गयी क्लीन चिट को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। गौरतलब है कि एसआईटी ने अपनी क्लोजर रिपोर्ट में उनके खिलाफ सजा देने के ठोस सबूतों के अभाव का हवाला देकर मामले को बंद कर दिया था।

2012 में एक मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने गोधरा के बाद हुए दंगों के दौरान मारे गए 69 लोगों के सभी 58 आरोपियों को बरी कर दिया था। उस समय मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट एमएस भट्ट ने कहा था कि एसआईटी के मुताबिक जाकिया द्वारा की गयी शिकायत में शामिल 58 लोगों की सूची में किसी के भी खिलाफ कोई प्रमाण नहीं मिला। उसके बाद याचिकाकर्ता जाकिया ने फैसले के खिलाफ 2013 में हाईकोर्ट में अपील दायर की थी।

पिछले साल गुजरात हाईकोर्ट ने मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के फैसले को बरकरार रखते हुए जाकिया के उस आरोप को खारिज कर दिया कि नरोदा पटिया, नरोदा गाम और गुलबर्ग की घटनाएं एक बड़े षड्यंत्र का हिस्सा थीं।

मामले की सुनवाई जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच कर रही है। मामले के सामने आने के बाद जस्टिस खानविलकर ने कहा कि बेंच याचिका के डिटेल में नहीं जा सकी है।इसलिए मामले की 19 नवंबर को सुनवाई होगी।

https://janchowk.com/pahlapanna/gujarat-riots-modi-zakia-zafari-clean-chit-gulbarga-godhara-raju-ramchandra-amicus-qury/3675








Taggujarat riots zakiazafari modi gulbarga

Leave your comment