बीजेपी के लिए उलटा पड़ सकता है हार्दिक के कथित सेक्स वीडियो का दांव

गुजरात की जंग , , मंगलवार , 14-11-2017


hardik-sex-cd-patel-pass-bjp-congress

कलीम सिद्दीकी

अहमदाबाद। गुजरात चुनाव प्रचार अभियान के अंतर्गत सोमवार को राहुल गांधी पाटीदारों के गढ़ मेहसाना में थे। मेहसाना में मिले समर्थन से राहुल गांधी गदगद थे। इसी दरमियान पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की कथित सीडी की खबर जंगल में आग की तरह फ़ैल गई। तथाकथित सेक्स सीडी ने गुजरात की राजनीति में भूचाल ला दिया। यह सीडी भारत से नहीं बल्कि किसी अन्य देश से यू ट्यूब पर अपलोड की गई थी। हालांकि कुछ ही घंटों में यू ट्यूब ने हार्दिक पटेल के कथित सेक्स वीडियो (जिसमें वह आपत्तिजनक हालत में एक महिला के साथ हैं) को अपने प्लेटफार्म से हटा दिया। इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव में हार्दिक का कद कितना बड़ा हो चुका है। पाटीदारों द्वारा आरक्षण के लिए चलाये जा रहे आन्दोलन और पाटीदारों को आरक्षण देने को लेकर कांग्रेस की तरफ से पाटीदार नेताओं को कपिल सिब्बल ने तीन फार्मूला सुझाए थे। जिनके आधार पर उन्हें आरक्षण मिल सकता है। इस फोर्मुले पर दोनों पक्ष की जानिब से सहमति भी बन रही थी। सोमवार की रात संभवतः कांग्रेस को समर्थन देने पर बड़े फैसले की उम्मीद थी। लेकिन उससे पहले सेक्स सीडी ने भूचाल ला दिया। 

सेक्स सीडी पर हार्दिक पटेल ने बीजेपी पर गन्दी राजनीति का आरोप लगाया। हार्दिक ने कहा कि इस घटिया हरकत से उनका आन्दोलन और मज़बूत होगा। बीजेपी उन्हें खरीद नहीं पाई तो अब किसी भी कीमत पर बदनाम करने की कोशिश कर रही है। सार्वजनिक जीवन और निजी जीवन दोनों अलग हैं। दिव्य भास्कर के पोलिटिकल एडिटर मयूर जानी को दिए इंटरव्यू में हार्दिक पटेल ने कहा कि “वीडियो में दिख रहा व्यक्ति मैं नहीं हूँ और दिख रही महिला को जानता भी नहीं।” 

वीडियो अपलोड होने के बाद सबसे पहले मीडिया के ध्यान में लाने वाले आश्विन सांकड़शेरिया ने दावा किया है कि ये वीडियो हार्दिक पटेल का ही है साथ ही चुनौती दिया कि यदि नकली हो तो चार दिन में साबित करें हार्दिक पटेल। आश्विन पाटीदार अनामत आन्दोलन संघर्ष समिति के संयोजक हैं। 15 दिन पहले ही बीजेपी में शामिल हुए हैं। वीडियो वायरल होने के बाद पास की तरफ से आश्विन के बीजेपी नेताओं के साथ फोटो वायरल किया गया। जिसके आधार पर पास ने कथित सीडी के पीछे बीजेपी का षड्यंत्र होने का दावा किया। हार्दिक ने सीडी के खेल को पुराना बताते हुए संजय जोशी की कथित सेक्स सीडी की भी याद दिलाई और बताया कि गुजरात में कैसे महिलाओं की जासूसी की जाती है।  

सरदार पटेल ग्रुप के लालजी पटेल ने कथित सीडी पर टिप्पणी करने से मना कर दिया। लालजी ने कहा कि निजी जीवन पर कुछ भी कहना ठीक नहीं है। कांग्रेस पार्टी की तरफ से हार्दिक पटेल का बचाव करते हुए शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि बीजेपी इस चुनाव में अपनी हार सुनिश्चित देख रही है। इसीलिए अब गन्दी और हलकी राजनीति पर उतर आयी है। बीजेपी पाटीदारों को दबाने के लिए शाम दाम दंड भेद की राजनीति कर रही है। कांग्रेस के परेश धनानी ने कहा कि इस कथित सीडी में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है।   

वरिष्ठ पत्रकार आश्विन अग्रवाल का कहना है कि इस कथित सीडी से हार्दिक पटेल की इमेज पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। क्योंकि हार्दिक को पाटीदारों ने उसके जुनून और आरक्षण के संघर्ष पर समर्थन दिया है। जिस प्रकार से एक फिल्म स्टार के कई महिलाओं से संबंध होने के बावजूद उसकी एक्टिंग को पसंद करते हुए लोग फ़िल्में देखते हैं हार्दिक पटेल एक 24 वर्षीय नौजवान है। यदि सीडी सही भी है तो भी समाज उनके साथ खड़ा रहेगा। किसी को भी हार्दिक के निजी जीवन से फर्क नहीं पड़ना चाहिए। 

हमारी आवाज़ संस्था के कौशर अली सैय्यद का कहना है कि सीडी काण्ड के बाद बीजेपी और पाटीदार समाज के बीच तल्खियां और बढ़ जाएंगी। मेरा मानना है कि जिस प्रकार से मुस्लिमों के पास बीजेपी के खिलाफ खड़े रहने के अलावा कोई विकल्प नहीं है अब इस चुनाव में पाटीदारों के पास भी बीजेपी के विरोध में जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है। 

बीजेपी की तरफ से केन्द्रीय मंत्री मनसुख मांडवीया ने प्रेस वार्ता कर हार्दिक के कथित वीडियो से पार्टी को अलग करते हुए कहा कि बीजेपी को इस वीडियो से कोई लेना देना नहीं है। यदि वीडियो फर्जी है तो हार्दिक को पुलिस के सामने शिकायत करनी चाहिए। 






Leave your comment