अफरजुल के परिजनों ने की दोषियों के लिए फांसी की मांग, घटना के पीछे बताया बड़ी साजिश

ज़रूरी ख़बर , , बृहस्पतिवार , 07-12-2017


rajasthan-murder-hacking-hindu-jehad-muslim-rss-dgp

जनचौक ब्यूरो

नई दिल्ली। राजस्थान के राजसमंद में बर्बर तरीके से मारे गए अफरजुल खान के परिवार ने हत्यारों के लिए फांसी की सजा मांग की है। साथ ही घटना के पीछे किसी बड़ी साजिश का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि इसमें बड़े लोग शामिल हैं। गौरतलब है कि अफरजुल खान की हत्या का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। जिसमें आरोपी शंभूलाल रैगर उनकी पहले तलवार और कुल्हाड़ी से हत्या करता है और फिर पेट्रोल छिड़क कर शव में आग लगा देता है। और इस बीच अपने 14 साल के भतीजे की मदद से घटना का पूरा वीडियो बनाता है।

परिवार के सदस्यों ने कहा है कि “जिन लोगों ने उनकी जानवरों की तरह हत्या की है और फिर उनकी फोटो को पूरी दुनिया में दिखाया है उन्हें फांसी की सजा मिलनी चाहिए।” अफरजुल पश्चिम बंगाल के मालदा के रहने वाले थे। उनका ज्यादातर परिवार वहीं रहता है।

इंडियन एक्सप्रेस के हवाले से आई खबर में बताया गया है कि गुरुवार को पुलिस ने शंभूलाल रैगर को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही उसके भतीजे को भी हिरासत में ले लिया गया। राजस्थान के डीजीपी ओपी गलहोत्रा ने रिपोर्टरों से बात करते हुए कहा कि “ये बर्बर अपराध है। पहली नजर में ऐसा नहीं लगता है कि ये किसी सामान्य इंसान द्वारा किया गया है।”

घटना की सूचना मिलने के बाद ही कोलकाता से 325 किमी दूर उनके घर सैयदपुर में मातम छा गया। इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए अफरजुल की पत्नी गुल बहार बीबी ने कहा कि “मैं उन लोगों के लिए फांसी की सजा चाहती हूं जिन्होंने मेरे पति की इतने बर्बर तरीके से हत्या की है। मैं इंसाफ चाहती हूं। वो इसलिए मारे गए क्योंकि वो मुस्लिम थे। कल शाम 3 बजे के आस-पास राजस्थान पुलिस ने मुझे फोन पर बताया कि मेरे पति की हत्या कर दी गयी है।”

अफरजुल की बेटी रेजिना खातून ने बताया कि “यहां तक कि मंगलवार को हम लोगों की उनसे बात हुई थी। वो रोजाना फोन करते थे। हम लोग तो ये भी नहीं जानते कि लव जिहाद क्या होता है? उनके पोते हैं। उन्होंने शव में आग लगाने से पहले मेरे पिता को जानवरों की तरह मारा है। मैं चाहती हूं उनके साथ जिन लोगों ने ऐसा किया है उनके साथ भी वैसा ही व्यवहार हो। जब मेरे पिता को मारा जा रहा था उस समय का मैंने वीडियो भी देखा है और अपने बेबस और लाचार पिता का चिल्लाना भी।”

तीन बेटियों के पिता अफरजुल को इसी महीने के अंत में अपनी छोटी बेटी की शादी के लिए घर लौटना था। परिवार के सदस्यों के मुताबिक अफरजुल पिछले 12 सालों से राजस्थान में मजदूरी कर रहे थे। हर दो महीने के बाद वो घर चले जाते थे। उनके पास जमीन का एक टुकड़ा था लेकिन उससे परिवार का भरण-पोषण नहीं हो पाता था।

अफरजुल की भतीजी जीनत खान ने कहा कि “ इसमें षड्यंत्र है और कई बड़े लोग शामिल हैं। एक मजदूर भला क्या कर सकता है? जिस तरह से सोशल मीडिया पर इसे फैलाया गया है उससे लगता है कि इसके पीछे एक गहरी साजिश है और इसमें बड़े लोग शामिल हैं। हमारे रिश्तेदार राजस्थान में हैं और वो इस समय थाने में हैं।”

अफरजुल के एक पड़ोसी ने बताया कि “मैं उन्हें सालों से जानता हूं। उनके खिलाफ किसी तरह का कोई मामला दर्ज नहीं है। वो बहुत ही नेक आदमी थे और खुदा से भी डरते थे।” एक दूसरे पड़ोसी इब्राहिम शेख ने उनके बच्चों के लिए चिंता जाहिर करते हुए कहा कि “ अब कौन परिवार चलाएगा। उनकी सबसे छोटी बेटी 10वीं में पढ़ती है। घर में वही अकेले कमाने वाले सदस्य थे। परिवार बहुत गरीब है।”






Leave your comment