पीएनबी के बाद एक और बैंक घोटाला, रोटोमैक पेन के मालिक विक्रम कोठारी 800 करोड़ की संपत्ति के साथ फरार!

बड़ी ख़बर , नई दिल्ली/कानपुर, रविवार , 18-02-2018


vikram-kothari-bank-scam-rotomac-allahabad-bankofindia

जनचौक ब्यूरो

नई दिल्ली/कानपुर। पंजाब नेशनल बैंक फ्राड के बीच एक और बड़े बैंक घोटाले की खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि इस घोटाले में रोटोमैक पेन बनाने वाली कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी शामिल हैं। उन पर अलग-अलग बैंकों के 500 करोड़ रुपये लेकर भागने का आरोप लग रहा है। हालांकि कुछ खबरों में ये राशि 800 करोड़ तक बतायी जा रही है। 

न्यूज़ 18 के हवाले से आयी खबर में बताया गया है कि विक्रम कोठारी ने पांच सरकारी बैंकों से 800 करोड़ से ज्यादा के लोन लिए थे। इसमें इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ोदा, इंडियन ओवरसीज बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया शामिल हैं। सामने आ रहे आंकड़ों के मुताबिक कोठारी ने 485 करोड़ रुपये यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से और 352 करोड़ रुपये इलाहाबाद बैंक से लिया था। ऐसा बताया जा रहा है कि इसके एक साल बाद कोठारी ने न तो ब्याज ही जमा किया और न ही लोन की रकम।

कानपुर के मालरोड पर स्थित कोठारी का दफ्तर बहुत दिनों से बंद बताया जा रहा है। उसके बाद से कोठारी का भी कोई अता-पता नहीं है। 

आखिर कौन है विक्रम कोठारी-

- पान पराग के संस्थापक एमएम कोठारी के बेटे हैं विक्रम कोठारी

- पिता की मृत्यु के बाद विक्रम कोठारी ने स्टेशनरी का बिजनेस शुरू किया

- रोटोमैक के नाम से पेन, स्टेशनरी और ग्रीटिंग्स कार्ड्स का काम शुरू किया

- कुछ ही साल में विक्रम कोठारी ने रोटोमैक को बड़ी कंपनी बनाया

- पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने विक्रम कोठारी को सम्मानित किया था

एबीपी चैनल ने बताया कि नियमों को ताक पर रखकर विक्रम कोठारी को इतना बड़ा लोन दिया गया। अब विक्रम कोठारी की ओर से लोन अदायगी न होने से बैंक अधिकारी सकते में हैं। यूनियन बैंक के मैनेजर पीके अवस्थी का कहना है कि विक्रम कोठारी पर उनके बैंक का 485 करोड़ का लोन हैं। और उन पर एनसीएनटी के तहत कार्रवाई चल रही है। साथ ही उनकी प्रॉपर्टी को भी बेचने की तैयारी है। इलाहाबाद बैंक से विक्रम कोठारी ने 352 करोड़ का कर्ज लिया है। बैंक के मैनेजर राजेश कुमार गुप्ता ने लोन चुकता न करने पर विक्रम कोठारी की प्रॉपर्टी को बेच कर पैसे रिकवर होने की उम्मीद जताई है।

 










Leave your comment