प्रद्युम्न हत्याकांड के बाद अभिभावकों की बढ़ी चिंता

इंसाफ की मांग , गुड़गांव, सोमवार , 11-09-2017


Pradyumna-murder-rayon-international-school

सोनिया नहरवाल

गुड़गांव (गुरुग्राम) सोहना रोड पर भोंड़सी स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या की घटना से अभिभावकों में अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंता बढ़ गई है। और यह सिर्फ रेयान के बच्चों के अभिभावकों के साथ ही नहीं हुआ है, बल्कि अन्य स्कूलों व ज़िलों के बच्चों के माता-पिता भी डरे हुए हैं।

छात्र प्रद्युम्न। फोटो साभार

प्रद्युम्न की हत्या के मामले में स्कूल बस कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर लिया गया है। अशोक ने मीडिया के सामने अपना गुनाह कूबुल किया और बताया कि उसने प्रद्युम्न के गले पर चाकू से दो बार वार किया था।

सोहना की बार ऐसोसिएशन ने आरोपी की तरफ से केस न लड़ने का फैसला लिया है। उधर प्रद्युम्न के अभिभावकों ने घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। इसके अलावा रविवार को प्रदर्शन कर रहे अभिभावकों पर पुलिस के लाठीचार्ज को लेकर भी लोगों में काफी गुस्सा है।

हत्या का आरोपी। फोटो साभार : गूगल

सीबीएसई ने मांगी रिपोर्ट

सीबीएसई कमेटी ने स्कूल मैनेजमेंट से दो दिन के अंदर रिपोर्ट की मांग की है। स्कूल को निर्देश दिया गया है कि स्कूल को रिपोर्ट को एफआईआर की कॉपी के साथ दाखिल करना होगा। स्कूल के प्रबंधक को सस्पेंड कर दिया गया है। एसआईटी की जांच में स्कूल की कई खामियां सामने आई हैं। लोगों की मांग है कि रेयान स्कूल की मान्यता रद्द कर दी जानी चाहिए।

प्रद्युम्न के पिता। फोटो साभार

प्रद्युम्न की मां। फोटो साभार

प्रद्युम्न को श्रद्धांजलि

प्रद्युम्न को श्रद्धांजलि देने के लिए अभिभावकों समेत स्कूल-कॉलेज विद्यार्थियों ने भी जिलें में अनेक जगहों पर कैंडल यात्रा निकाली। अभिभावकों की मांग है कि स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए ताकि अन्य किसी स्कूल में ऐसा कोई हादसा न हो पाए।

लोगों में ग़म और गुस्सा

सात साल के मासूम बच्चे के साथ इतना दर्दनाक हादसा होने से पूरा गांव गम और गुस्से में है। मासूम की हत्या से गुस्साए लोगों ने रविवार को स्कूल के आसपास तोड़फोड़ भी की और जाम लगाया। अभिभावक पूरी घटना की सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे, जिसपर पुलिस ने अभिभावकों पर लाठियां बरसाईं। इतना ही नही पुलिसकर्मियों ने लोगों पर लात भी चलाई। इसे लेकर भी लोगों में पुलिस और सरकार के प्रति गुस्सा है।

अभिभावकों पर लाठीचार्ज। फोटो साभार : गूगल

मीडिया पर भी हमला

पुलिसकर्मियों द्वारा मीडिया पर भी हमला किया गया। रिपोर्टरों के साथ मारपीट कर उन्हें घायल कर दिया गया। कैमरामैन के कैमरे तोड़ दिए गए। ऐसे में आम लोगों का कहना है कि पुलिस ने मीडिया तक को नही छोड़ा है। अब आम जनता को पुलिस से खतरा लग रहा है।

स्कूलों में बढ़ाए गए सुरक्षा इंतज़ाम

कई स्कूलों में रेयान स्कूल में हुए हादसे के बाद सुरक्षा के इंतजामों को बढ़ा दिया गया है। सिक्योरिटी गार्ड, सीसीटीवी कैमरे व अन्य सुरक्षा मानकों की जांच की गई। सिक्योरिटी गार्ड, ड्राइवर, स्कूल मेड आदि पर कैमरों के द्वारा निगरानी के इंतजाम किए गए है। इसके अलावा स्कूलों के बाथरूम के बाहर व सीढ़ियों पर कैमरे लगवा दिए गए है।

अभिभावकों की बढ़ रही है चिंता

प्रद्युम्न हत्याकांड से घबराए हुए अभिभावक अब अपने बच्चों को स्कूल में भेजने से भी डर रहे हैं। उनका कहना है कि अब बच्चे स्कूल में भी सुरक्षित नहीं हैं। ऐसे में अभिभावक स्कूल बस से नही बल्कि स्वयं ही बच्चों को स्कूल छोड़ने जाते हैं व छुट्टी होने पर स्कूल से लेकर आते हैं। बच्चों की सुरक्षा अब पैरेंट्स के लिए चिंता का विषय बन गई है। ऐसे में ऑफिस में काम करने वाले माता पिता को अधिक परेशानी हो रही है। अब अभिभावकों के लिए अच्छे स्कूल का चयन करना भी मुश्किल हो गया है। ऐसे में अभिभावकों ने स्कूलों में सुरक्षा इंतजामों को बढ़ाने की मांग की है।










Leave your comment