बेलगाम में युवकों की गिरफ्तारी से इलाके में रोष, व्यापारियों ने बंद की अपनी दुकानें

दक्षिण के झरोखे से , , बृहस्पतिवार , 21-12-2017


belgam-muslim-youth-arrest-shop-police-bjp

जनचौक ब्यूरो

नई दिल्ली। कर्नाटक के बेलगाम शहर में हुई पत्थरबाजी की घटना के बाद युवकों की गिरफ्तारी पर स्थानीय लोगों में बेहद रोष है। उनका कहना है कि पुलिस ने निर्दोष युवकों को गिरफ्तार किया है। जिनका उस घटना से कोई लेना-देना नहीं है। उसके विरोध में स्थानीय व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर रखी हैं। उनका कहना है कि जब तक उन युवकों को छोड़ा नहीं जाता वो दुकान नहीं खोलेंगे।

एक स्थानीय वेबसाइट के मुताबिक पुलिस ने इस मामले में 23 युवकों को गिरफ्तार किया है जिसमें ज्यादातर मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं जो वहां छोटे-मोटे रोजगार करते हैं। इन युवकों को पुलिस ने धारा 143,147,148,153ए, 332, 333,307, 427, 435, 353 और 149 के तहत गिरफ्तार किया है।

हिंदू अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक घटना बेलगाम के अंगोल इलाके में स्थित अंबेडकर नगर की है। यहां सोमवार की रात को पत्थरबाजी की घटना हुई थी। जिसमें पुलिस ने तत्काल कदम उठाते हुए मामले को काबू कर लिया था। उत्तरी रेंज के इंचार्ज कमिशनर भास्कर राव ने इलाके का दौरा किया और उन्होंने मीडिया को बताया घटना बहुत छोटी थी और स्थिति नियंत्रण में है।

सूत्रों के मुताबिक इलाके की बिजली चली गयी थी जिसके बाद कुछ शरारती तत्वों ने कुछ एक घरों पर पत्थरबाजी कर दी थी। जिसके बाद इलाके में तनाव उत्पन्न हो गया। बीजेपी नेताओं के इसके विरोध में प्रदर्शन किया था। 

बाद में पुलिस ने इन युवकों को गिरफ्तार किया। हालांकि स्थानीय लोगों का कहना है कि वो बिल्कुल निर्दोष हैं। और पुलिस ने बेवजह उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। लोगों की मानें तो उन युवकों की पिटाई की गयी है। साथ ही उनके खिलाफ ऐसी धाराएं लगायी गयी हैं जिससे उनके भविष्य पर भी बुरा असर पड़ सकता है। स्थानीय व्यापारी और दुकानदार पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं। उन लोगों ने इसके विरोध में अपनी दुकानें बंद कर रखी हैं।  










Leave your comment