17 सालों के इतिहास में छत्तीसगढ़ में छत्तीस से ज्यादा सीडीकांड

पड़ताल , , शनिवार , 28-10-2017


chhattisgarh-raman-cd-judev-ajit-jogi-raipur-vinod-verma

अखिलेश अखिल

छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री राजेश मूणत को कथित अश्लील सीडी के जरिए कथित ब्लैकमेलिंग के मामले में गिरफ्तार वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को शनिवार देर रात तक  रायपुर पहुंचाने की तैयारी है। वर्मा रायपुर क्राइम ब्रांच पुलिस के साथ राजधानी के रास्ते में हैं।  कल विनोद वर्मा की गिरफ्तारी उनके आवास गाजियाबाद स्थित इंदिरापुरम से की गयी थी। 

गौरतलब है कि इस सीडी प्रकरण के कारण छत्तीसगढ़ की सियासत में भूचाल आ गया है। मंत्री राजेश मूणत का आरोप है कि सीडी फर्जी है और इसके जरिए उन्हें बदनाम करने की साजिश की जा रही है।

छत्तीसगढ़ के 17 साल के इतिहास में तकरीबन आधा दर्जन चर्चित सीडी और एमएमएस कांड हो चुके हैं। इनमें ज्यादातर कांड राजनेताओं से जुड़े हुए हैं। हालांकि, अब तक जितनी भी सीडी की जांच हुई है, उसमें किसी को दोषी नहीं पाया गया है। बाजवूद इसके तीन से अधिक नेताओं के राजनैतिक कैरियर का ग्राफ अर्श से फर्श पर आ गया। इनमें प्रदेश के कद्दावर नेता अजीत जोगी भी शामिल हैं।

जोगी के लिए ग्रहण बनी सीडी

छत्तीसगढ़ की राजनीति में सबसे ताकतवर नेता रहे पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के राजनीति जीवन पर ग्रहण लगाने का काम एक सीडी कांड ने ही किया था। 2003 में विधायकों की खरीद-फरोख्त से उनकी राजनीतिक साख प्रभावित हुई। इसके बाद से वो अपनी ही पार्टी में कमजोर पड़ने लगे। और आखिर में 2016 में आयी अंतागढ़ उप चुनाव की सीडी उनके पार्टी छोड़ने की वजह बनी।

 प्रदेश की राजनीति में सक्रिय दो-तीन नेताओं को सीडी कांड का मास्टर कहा जाता है। इनमें से दो कांग्रेस से जुड़े रहे हैं। उनमें से एक अब पार्टी छोड़ चुका है, दूसरा अब भी उसी में है। जबकि तीसरा व्यक्ति किसी राजनीतिक दल में शामिल नहीं है, लेकिन उसका ताल्लुक राजनीतिक परिवार से है।

अब तक के चर्चित मामले

कांग्रेस मंत्री की सीडी : कांग्रेस सरकार में राज्यमंत्री रहे एक नेता की अश्लील सीडी सुर्खियों में रही। यह सीडी सार्वजनिक नहीं हुई, लेकिन चर्चा है कि आज भी कई लोगों के पास वह सीडी सुरक्षित है।

जूदेव सीडी कांड :राज्य के पहले विधानसभा चुनाव में अपनी मूंछ दांव पर लगा कर सुर्खियों में आए भाजपा के तत्कालीन कद्दावर नेता और केन्द्र में पर्यावरण एवं वन मंत्री स्व. दिलीप सिंह जूदेव की 2003 में रिश्वत लेते हुए सीडी जारी हुई। दिल्ली के होटल में उनका यह स्टिंग किया गया था। इस सीडी में जूदेव का डायलॉग कि 'पैसा खुदा तो नहीं पर खुदा से कम भी नहीं" लंबे समय तक चर्चित रहा।

विधायक खरीद-फरोख्त कांड : राज्य के पहले विधानसभा चुनाव का परिणाम कांग्रेस के खिलाफ आया। इसी दौरान भाजपा विधायकों की खरीद- फरोख्त का एक स्टिंग हुआ। इसमें भाजपा के करीब दर्जनभर विधायकों को खरीदने की कोशिश हुई थी। इस मामले में कथित तौर पर अजीत जोगी भी शामिल थे।

सवाल के बदले पैसा : संसद में सवाल पूछने के बाद पैसे लेने वाले सांसदों के चर्चित स्टिंग में राजनांदगांव से भाजपा सांसद प्रदीप गांधी का भी नाम था। सीडी की वजह से गांधी की कुर्सी चली गई और राजनीतिक कैरियर हाशिए पर आ गया।

नेत्री का एमएमएस : 2005 में एमएमएस जारी हुआ, इसे प्रदेश की एक भाजपा नेत्री का बताया गया। बाद में यह एमएमएस फर्जी निकला, लेकिन इसकी चर्चा लंबे समय तक रही।

 

  • सेक्स के अलावा भ्रष्टाचार से जुड़े थे कई मामले
  • कई कांडों ने नेताओं का कैरियर खराब कर दिया

 

जग्गी हत्याकांड : एनसीपी नेता रामअवतार जग्गी हत्याकांड मामले में कोर्ट का फैसला आने के बाद दोषी करार दिए गए एक आरोपी के भाई ने एक सीडी जारी की। भाई ने मामले के मुख्य आरोपी को बरी किए जाने के एवज में लेन-देन का आरोप लगाया था। इस सीडी को लेकर कोर्ट में अवमानना याचिका भी दायर हुई थी।

इंदिरा बैंक नार्को टेस्ट सीडी : इंदिरा प्रियदर्शिनी बैंक घोटाले में बैंक के तत्कालीन मैनेजर उमेश सिन्हा के नार्को टेस्ट की सीडी जारी हुई। इसमें सत्ता पक्ष के कई लोगों के नाम था।

अंतागढ़ टेपकांड : अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस ने 2016 में एक सीडी जारी की। यह कथित तौर पर चुनाव में कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी मंगतूराम पवार से चुनाव नहीं लड़ने के एवज में सौदेबाजी करने की थी।

तो सच यही है कि छत्तीसगढ़ राज्य बने 17 साल हो गए।  इन वर्षों में दर्जन भर से ज्यादा सीडी काण्ड सामने आये। राजनीति गर्म हुयी और समय के साथ सब कुछ ठंडा हो गया।  किसी भी सीडी की सत्यता की जांच नहीं हो पायी और न ही कोई दण्डित किया जा सका। राजेश मूणत से जुड़े इस कथित सीडी का अंत कहां होगा यह भविष्य का विषय है। लेकिन इतना तो  सच है कि इस काण्ड ने एक वरिष्ठ पत्रकार की प्रतिष्ठा दांव पर लगा दी है।

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं और दिल्ली में रहते हैं।) 

 










Leave your comment