योगी के मंत्री नंदी के बिगड़े बोल, आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज, गिरफ़्तारी की मांग

उपचुनाव , इलाहाबाद, बुधवार , 07-03-2018


complaint-in-the-election-commission-against-up-minister-nandi

जनचौक स्टाफ

इलाहाबाद। वरिष्ठ अधिवक्ता और सामाजिक कार्यकर्ता केके राय, रमेश कुमार यादव और चार्ली प्रकाश ने भारत के निर्वाचन आयोग, यूपी के मुख्य चुनाव आयुक्त को एक ऑन लाइन याचिका के जरिये फूलपुर संसदीय उपचुनाव को लेकर योगी सरकार के मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी के खिलाफ शिकायत की है। शिकायत में नन्दी के विरुद्ध उपचुनाव में प्रचार के दौरान अशिष्ट, अपमानजनक, भड़काऊ और असंसदीय भाषण देने का आरोप लगाया गया है। 

मंत्री के खिलाफ दी गई ऑन लाइन याचिका। स्क्रीन शॉट

याचिका में कहा गया है कि स्टांप एवं पंजीयन शुल्क व नागरिक उड्डयन मंत्री नंदी ने इलाहाबाद की जनसभा में सपा और बसपा के शीर्ष नेता मुलायम सिंह यादव, मायावती, अखिलेश यादव को रावण, सूर्पनखा, मेघनाद कहा और उन पर भद्दे आक्षेप लगाए।

याचिका में मांग की गयी है कि चुनाव आयोग नंदी के चुनाव प्रचार करने पर तुरंत रोक लगाए और जिला निर्वाचन अधिकारी (जिलाधिकारी) को आदेश दे कि वो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन्हें तत्काल गिरफ्तार करें।

याचिका में नंदी के ऊपर अन्य गंभीर आरोप लगाते हुए उनके द्वारा बैंको से लिये और कथित तौर पर हजम किये गए 60 करोड़ के कर्ज की तत्काल वसूली करने की भी मांग की गई है। आरोप है कि यह पैसा चुनाव में वोट खरीदने के लिए खुलकर इस्तेमाल हो रहा है।

बसपा ने भी अपने नेता के अपमान के खिलाफ इलाहाबाद के धूमनगंज थाने में मंत्री नंदी के खिलाफ तहरीर दी है। समाजवादी छात्र सभा ने भी इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सामने नंदी का पुतला फूंका।

ख़बर है कि चुनाव आयोग ने मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी के खिलाफ आदर्श आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज कर लिया है।

आपको बता दें कि यूपी की फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं। ये दोनों सीटें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद खाली हुई हैं। दोनों सीटों पर 11 मार्च को वोट डाले जाएंगे और 14 मार्च को मतगणना होगी। कहने के लिए ये महज़ दो सीट हैं लेकिन लोकसभा के गणित के हिसाब से हैं बहुत महत्वपूर्ण। दोनों सीटों पर बीजेपी के साथ योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य की व्यक्तिगत प्रतिष्ठा भी दांव पर है।  










Leave your comment