मुंहमांगी सीटें न मिलने पर पाटीदारों का फूटा गुस्सा, कांग्रेस दफ्तरों पर तोड़फोड़

गुजरात , अहमदाबाद, सोमवार , 20-11-2017


gujrat-pass-patidar-congress-attack-ticket

कलीम सिद्दीकी

अहमदाबाद। एक लम्बी जद्दोजहेद के बाद कांग्रेस ने 77 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। लेकिन लिस्ट जारी करने के बाद बनती बाज़ी बिगड़ती दिख रही है। 77 सीटों में से पाटीदार अनामत आन्दोलन समिति ने अपने 11 नेताओं के लिए टिकट मांग रखी थी। लेकिन जारी लिस्ट में महज 3 नेताओं के नाम थे। नाराज़ पाटीदारों ने अहमदाबाद और सूरत के कांग्रेस दफ्तर पर हल्लाबोल कर तोड़फोड़ की। हार्दिक पटेल के साथी दिनेश बांभानिया भारत सोलंकी से मिलने उनके घर पहुंचे तो पता चला भारत सोलंकी गायब हैं। सोलंकी के निवास स्थान पर पहले से उपस्थित पुलिस ने दिनेश और उनके साथियों को डिटेन कर लिया। हालांकि फिर तुरंत रिहा भी कर दिया। दिनेश ने पुलिस पर दारू पीकर बदसुलूकी का आरोप लगाया। 

दिनेश का कहना है कि उनके संगठन ने कांग्रेस से टिकट नहीं मांगा था फिर भी कांग्रेस उनके तीन संयोजकों को टिकट दे दिया है। लेकिन जानकारों का कहना है पास को उनकी अपेक्षा के अनुसार टिकट नहीं मिला इसलिए यह विरोध और कांग्रेस को हराने की धमकी दी जा रही है। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोशी ने बताया कि कांग्रेस और पास के बीच कुछ समझने में भूल हुई है। जिसे जल्द ही सुलझा लिया जायेगा। सूची की घोषणा के बाद कांग्रेस ने अपने सभी दफ्तरों पर ताला जड़ दिया है।  

कांग्रेस ने भले ही मात्र 3 पास नेताओं को टिकट दिया हो लेकिन 77 उम्मीदवारों की सूची में 25 पाटीदार समाज से हैं। कांग्रेस ने सभी जातियों को अपने साथ लेने की कोशिश की है। सूची के अनुसार पाटीदार– 25, कोली पटेल – 12, आदिवासी – 11, दलित – 7, अहीर – 6, मुस्लिम – 3, ब्राह्मण – 2, मेर – 2, वणिक – 2, ठाकोर – 1 अन्य – 1 को टिकट दिया गया है। कांधल जाडेजा की गोंडल सीट पर कांग्रेस ने उम्मीदवार उतारकर एनसीपी के साथ गठ्बन्धन पर पूर्ण विराम लगा दिया है। महुवा सीट पर भी विजय बारैय्या को टिकट देकर कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता कनु भाई कलसरिया को भी झटका दिया है। पहले बताया जा रहा था कि कांग्रेस कनु भाई के खिलाफ उम्मीदवार नहीं उतारेगी। छोटू वसावा की झगड़िया सीट सहित अन्य चार सीटों पर कांग्रेस ने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं। माना जा रहा है इन सीटों पर छोटू वसावा उम्मीदवार उतारेंगे। 

कांग्रेस ही नहीं बीजेपी के कमलम से भी टिकट को लेकर बवाल की ख़बरें आई हैं। टिकट ना पाने वाले कई नेताओं के समर्थकों ने तोड़ फोड़ की है। पंच महेल से सांसद प्रभात सिंह चौहान ने अपनी पत्नी के लिए टिकट मांगी थी। लेकिन टिकट न मिलने पर खुद ही निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिए हैं। मैक्सान ग्रुप के मालिक धनजी पटेल को बीजेपी ने वाधवान से टिकट दिया है। जिसके बाद बीजेपी के दूसरे गुट ने टिकट 9 करोड़ में बेचने का आरोप लगाया है।    






Leave your comment