शिवराज सरकार ने खेत-खलिहानों को श्मशान बना दिया: कमलनाथ

मध्य प्रदेश , , बृहस्पतिवार , 24-05-2018


madhyapradesh-formerdeath-rajgarh-narsinghgarh-kamalnath

जनचौक ब्यूरो

नई दिल्ली/उज्जैन। मध्य प्रदेश में किसानों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। एक सप्ताह पूर्व फसल बेचने के इंतजार में विदिशा की लटेरी मंडी में किसान मूलचंद की मौत के बाद, अब राजगढ़ की नरसिंहगढ़ मंडी में किसान ओमप्रकाश पाटीदार की मौत हो गई। किसानों की मौत के बाद प्रदेश की राजनीति में उबाल आ गया है। विपक्ष बीजेपी सरकार पर हमलावर है। मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट किया है कि-

‘‘मध्यप्रदेश में पिछले 14 साल में 16,000 से अधिक किसान आत्महत्या कर चुके हैं। शिवराज सिंह चौहान सरकार ने मध्यप्रदेश को मृत्यु प्रदेश और खेत-खलिहानों को श्मशान बना दिया है।’’ 

—किसानों को मरने की हद तक लाचार करने वाली सरकार और शासक की विदाई का वक़्त आ गया है।@INCIndia @INCMP @RahulGandhi pic.twitter.com/BQf6U6JTse

अभी तक सरकार ने कांग्रेस अध्यक्ष के ट्वीट पर कोई जवाब नहीं दिया है। जिला प्रशासन मामले को रफा-दफा करने में लगा है। जिला प्रशासन के अनुसार, ‘‘ राजगढ़ जिले के नरसिंहगढ़ तहसील मुख्यालय पर मंगलवार को हुई  किसान ओमप्रकाश पाटीदार की मौत प्रारंभिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार हृदयाघात से हुई है। जिला प्रशासन ने ओमप्रकाश के परिवार को चार लाख रुपये का सहायता अनुदान स्वीकृत किया है,जो शीघ्र ही पीड़ित परविार को दे दिया जाएगा। ओमप्रकाश  अपने भाई पीरूलाल को भोजन एवं अन्य सामग्री देने दोपहर ग्राम बोड़ा से नरसिंहगढ़ आए थे। उनके भाई फसल बेचने के लिए यहां पहुंचे थे, दोपहर में साढ़े तीन बजे उनके भाई की फसल की तौल हो चुकी थी। तौल और भोजन करने के बाद लगभग शाम चार से पांच बजे के बीच ओमप्रकाश की मृत्यु हुई।’’  

कमलनाथ राज्य की शिवराज सरकार पर हमला करते हुए कहते हैं कि -

‘‘मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने को किसान पु़त्र कहते हैं। किसान पुत्र के राज में किसानों की मौत का सिलसिला जारी है। कभी गोली से, कभी कर्ज के बोझ से और अब मंडी में फसल बेचने के इंतजार में किसान मौत के मुंह में जा रहे हैं। किसानों को मरने की हद तक लाचार करने वाली सरकार और शासक की विदाई का वक्त आ गया है। शिवराज सरकार में किसान नुकसान में और व्यापारी फायदे में चल रहे हैं।’’

किसानों की मौत पर कमलनाथ ने कहा कि अब इस सरकार को सत्ता में बने रहने का अधिकार नहीं है। लेकिन पिछले पंद्रह साल से सत्ता में रहने वाली सरकार को कांग्रेस कैसे बेदखल करेगी के सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी किसी एक नेता को अपना चेहरा नहीं बनाएगी। प्रदेश के पीड़ित किसान, असुरक्षित महिला, बेरोजगार नौजवान ही चुनाव में कांग्रेस पार्टी के चेहरे होंगे। कांग्रेस इन्हीं लाखों चेहरों के साथ चुनाव लड़ेगी। पहली बार जनता का हर वर्ग बीजेपी सरकार से त्रस्त है और बीजेपी आम जनता के सवालों का जबाव देने की स्थिति में नहीं है। इस बार आम जनता झूठ और वादाखिलाफी का हिसाब लेने के लिए चुनाव लड़ेगी। 










Leave your comment











Shurti dahkad :: - 05-24-2018
2003 se mp me bjp ki govt hai. Bjp ke 3 re cm shivraj Singh Chouhan ne madhyapradedh ko jab tak kendra me bjp ki sarkar 2014 tak achhe se chlaya. Lekin jab se kendra me bjp sattaseen hui hai . Madhya Pradesh me arjkta or samsye badi hai iske sath sath ab bjp ke swarn netao ke man me ek ( obc) cm aankho ke khtkne LGA hai. Or ye bat Chouhan ji ko bhi samaj aa chuki hogi. Bese ye bat saare desh ko pta hai bjp anti constitutional govt hai jisko bharat ke savidhan me viswas nahi hai. Shivraj ji ka bjp prem jitna jldi khatm ho achha hoga.bese bhi shivraj ji ne samajik asmanta ko door karne ke liye apne jeevan me koi kaam nahi kiya kewal khud ke utthan ke liye rajniti ko hai. Aaj bhi mradesh me cm ke samaj Jo ki varnvavastha me sabse nichle paydan par hai usko aaj bhi gramin shetro me bhedbhaav or uchh neech ka samna karna padta hai aaj bhi ucch neech ka samana kar raha hai or uska samajik aarthik daman ho raha hai.shivraj Singh ne jaativaad ke kod ko door karne ke liye kuch nahi kiya iske ulat bjp RSS ki jaativaadi neetiyo ko pratkash rup se badane ka kam kiya hai. Jab shivraj ji rajniti se retire hokar jeevan ki antim saanae bed par letkar gin rahe hoge us din shivraj ji ko samajh aayega ki unka jeevan vayarth raha. Useless shivraj