जहानाबाद में अपराधियों ने किया तांडव, गरीबों की झोपड़ियां जलाकर मनाई होली

बिहार , , शुक्रवार , 02-03-2018


patna-cpi-ml-jahanabad

जनचौक ब्यूरो

 

 

पटना। आज जब पूरा देश होली के रंगों में सराबोर है और गांव मोहल्लों में होली खेलने में व्यस्त है। ठीक उसी समय बिहार के जहानाबाद के मखदूमपूुर गांव में गरीब अपने घावों को सहला रहे हैं ओर जली हुई झोपड़ी को निहार रहे हैं। स्थानीय दबंगों ने प्रशासन की मिलीभगत से मखदूमपुर के गरीबों को मारा-पीटा और उनके घर को जला दिया। सूचना के मुताबिक

होली की पूर्व संध्या पर प्रशासन की मिलीभगत से जहानाबाद के मखदूमपुर में सामंती-अपराधी तत्वों ने गरीबों पर कहर ढाया। 1 मार्च की रात लगभग 8.30 बजे मखदूमपुर स्टेशन पर बसे गरीबों के घर जला दिए गए और उन पर जान लेवा हमला किया गया। हमले में भाकपा-माले की महिला नेता मुन्ना देवी का सिर फट गया। जबकि मनोज पासवान, राम छपीत पासवान समेत दर्जन भर महिला-पुरुष बुरी तरह घायल हो गए। कई लोग लापता भी बताए जा रहे हैं। यह पहली घटना नहीं है। इसके पहले भी स्थानीय गुंडों ने गरीबों को बेदखल करने के लिए उन पर हमला किया था।

भाकपा-माले के जिला सचिव श्रीनिवास शर्मा का कहना है कि यह हमला प्रशासन की मिलीभगत तथा जहानाबाद विधानसभा उपचुनाव के मद्देनजर किया गया है। हमलावरों ने होली की रात को जान बूझकर हमला किया, ताकि मामला तूल न पकड़ सके और वे गरीबों को बेदखल कर दें। उन्होंने कहा कि पीड़ितों ने जब अपनी सुरक्षा के लिए स्थानीय थाने से अपील की, तो गरीब-गुरबों की आवाज सुनने की बजाए प्रशासन ने उनके ही ऊपर दमन चलाना आरंभ कर दिया। गरीबों की शिकायत दर्ज करने की बजाए घायल मनोज पासवान को सामंती-अपराधियों के इशारे पर गिरफ्तार कर लिया गया। अस्पताल में घायलों का इलाज भी ठीक से नहीं हो रहा है।

घायल मनोज पासवान

भाकपा-माले के नेताओं और जनता के दबाव में प्राथमिकी दर्ज की गयी। प्राथमिकी मनोज पासवान की पत्नी बिन्दु देवी द्वारा की गयी है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि जब 1 मार्च की रात वे खाना-पीना खाकर अपने परिवार के साथ सोने की तैयारी कर रहे थे, तभी अचानक रात के 8.30 बजे 50-60 की संख्या में अपराधी लोग भद्दी-भद्दी गालियां बकते हुए आ धमके और हमारी झोपड़ियों में उन्होंने आग लगा दी। विदित हो कि-

लंबे अरसे से लगभग सौ की संख्या में दलित-गरीब मखदूमपुर रेलवे स्टेशन के पास बसे हुए हैं। इसमें मुसहर, रविदास व दुसाध जाति के गरीबों की झोपड़ियां हैं। हमलावरों ने लाठी-डंडों से मुन्ना देवी, पति-रणधीर दास, मनोज पासवान, रामछपित पासवान समेत कई लोगों को घायल कर दिया। करीब 40 झोपड़ियों में आग लगाई गई और कपड़ा, बर्तन, वासन, अनाज सहित अन्य लाखों की संपत्ति को जला कर राख कर दिया गया। तीन लोग घायल हुए।

दरअसल, पटना-गया रोड के बीचो-बीच मखदूमपुर स्टेशन के पास बसे गरीबों की जमीन पर स्थानीय माफियाओं की नजर लंबे समय से है। इस जमीन पर वे कब्जा जमाना चाहते हैं। भाजपा के सत्ता में आने के बाद उनकी कोशिश और बढ़ गई है। होली की पूर्व संध्या यानि अगजा के दिन सुनियोजित तरीके से उन्होंने हमला किया और गरीबों की झोपड़ियों में आग लगा दी। भाकपा-माले ने इस घटना की कड़ी निंदा की है और जिला प्रशासन से अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई तथा पीड़ितों की सुरक्षा व इलाज की मांग की है।

 










Leave your comment











Birendrapaswn :: - 03-03-2018

Raj kumar :: - 03-03-2018
Very sad news

skumar :: - 03-03-2018
thanks for sharing this incident janchowk.good work keep it up