वीडियो:इलाहाबाद में अमित शाह को काला झंडा दिखाने वाली छात्राओं का बाल पकड़कर खींचने के बाद पिटाई

इंसाफ की मांग , नई दिल्ली/इलाहाबाद, शनिवार , 28-07-2018


allahabad-amitshah-black-flag-girl-student-police-university

जनचौक ब्यूरो

नई दिल्ली। इलाहाबाद में शुक्रवार को बीजेपी के बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ नारे का नग्न प्रदर्शन हुआ। जब विश्वविद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं को उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की आंखों के आगे न केवल बाल पकड़कर खींचा गया बल्कि उनकी पिटाई भी की गयी। और ये काम कोई महिला पुलिसकर्मियों ने नहीं बल्कि योगी के मुस्टंडे पुरुष खाकीधारियों ने किया। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के पास दो मिनट का वक्त नहीं था कि वो इन छात्राओं की बात सुन लेते। ये छात्राएं प्रदेश में जारी महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाओं का विरोध कर रही थीं। बाद में इन छात्राओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। 

अमित शाह के काफिले के सामने आकर उन्हें काले झंडे दिखाने वाली इन छात्राओं का नाम नेहा यादव और रमा यादव है। बताया जा रहा है कि नेहा जेआरएफ है और वो इलाहाबाद विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रही है। जबकि रमा पोस्ट ग्रेजुएट की छात्रा है।

इस घटना से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें इन छात्राओं को बीजेपी अध्यक्ष के काफिले के आगे काले झंडे लेकर विरोध करते हुए देखा जा सकता है। बाद में उसमें एक लड़का भी शामिल हो जाता है। उसके बाद पुरुष पुलिसकर्मी तीनों को पक़ड़कर सड़क के किनारे ले जाते हैं। इस दौरान वो नेहा का बाल पकड़कर घसीटना शुरू कर देते हैं। और जब पुलिस जीप के पास ले जाते हैं तो दूर से एक दूसरा पुलिसकर्मी नेहा को एक लाठी मारता है।

पुलिस ने बताया नेहा, रमा और किशन मौर्या को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। बताया जा रहा है कि ये समाजवादी छात्र सभा की कार्यकर्ता हैं।   

समाजवादी पार्टी की नेता रिचा सिंह ने इस पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि छात्र शांतिपूर्ण तरीके से काले झंडे दिखा रहे थे लेकिन उनकी बर्बर तरीके से पिटाई की गयी और उस समय कोई महिला पुलिस भी मौजूद नहीं थी। कानून का उल्लंघन हुआ है। पुरुष पुलिसकर्मियों ने महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किया है।

इसी तरह से पिछले साल जून में सीएम योगी आदित्यनाथ के कार काफिले के सामने आकर छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया था। जिसकी अगुवाई पूजा शुक्ला कर रही थीं। बाद में उन्हें काफी दिनों तक जेल में रहना पड़ा था।










Leave your comment