तत्काल बंद होनी चाहिए ये वहशियाना हरकत

ज़रा सोचिए... , , मंगलवार , 14-11-2017


alwar-umar-firing-cow-protest-police-rajasthan

हिमांशु कुमार

भाजपा के शासन में आने के बाद देश में मोब लिंचिंग शुरू हुई है

मोब लिंचिंग का अर्थ होता है एक समुदाय के लोग इकट्ठा होकर दूसरे समुदाय के व्यक्ति की हत्या कर दें

यहाँ हम दंगों में होने वाली हत्याओं की बात नहीं कर रहे हैं

बल्कि शांतिकाल में सड़क चलते सिर्फ किसी के धर्म की वजह से भीड़ किसी को मार डाले

उसे मोब लिंचिंग कहते हैं

अमेरिका में सत्तर के दशक में एक मोब लिंचिंग हुई थी

अमेरिका उस घटना से हिल गया था

उस घटना में एक समलैंगिक व्यक्ति को ईसाईयों ने मिल कर मार डाला था क्योंकि उनके धर्म में समलैंगिक होना पाप माना जाता है

लेकिन उसके बाद अमेरिका ने इसके खिलाफ बहुत कड़े कानून और तरीके बनाये, अमेरिकी समाज उसके खिलाफ संगठित हुआ कि किसी सभ्य समाज में यह बर्दाश्त नहीं हो सकता,

आजकल भारत में मुसलमानों को भीड़ पकड़ कर मार रही है

उन्हें गोमाता का हत्यारा कह कर मार डाला जा रहा है

मार डाले गये लोगों में सत्तर साल के बुज़ुर्ग और चौदह साल के बच्चे तक शामिल हैं

गाय पाल कर दूध बेचने का काम मुसलमान हमेशा से करते आ रहे हैं

मुसलमान गाय खरीद कर भी ले जाते थे

लेकिन उनकी हत्या नहीं होती थी

भाजपा के सत्ता में आने के बाद मुस्लिम गोपालकों को सड़क पर पकड़ कर मार डाला गया है

दो दिन पहले राजस्थान में फिर से एक मुस्लिम गोपालक उमर को भीड़ ने पहले पीटा फिर गोली मार दी

अगर एक समुदाय के लोग दूसरे समुदाय के लोगों को पकड़ कर मार डालें

और सरकार उस पर खामोश रहे

या सरकार के मंत्री अपराधियों को बचाएं

तो इसका क्या असर होगा ?

देखिये दस बीस मुसलमानों के मर जाने से मुसलमान कम नहीं हो जायेंगे

लेकिन अगर आप एक समुदाय के लोगों को कहीं भी कभी भी पकड़ कर मार डालते हैं

तो पूरा समुदाय भयभीत हो जाता है कि पता नहीं अगला नम्बर किसका हो

अगर भाजपा का इरादा मुसलमानों को डराने का है तो इसका नतीजा क्या निकलेगा ?

इसका नतीजा यह निकलेगा कि जिस सरकार को रोज़गार, सुरक्षा और तरक्की के लिए काम करना चाहिए

वह सरकार गुंडागर्दी करने में लग जायेगी

और ऐसी गुंडा सरकार को समर्थन देने वाला समुदाय भी गुंडा और अपराधी बन जाएगा

और गुंडागर्दी में डूबा हुआ समाज बहुत जल्दी ही नष्ट हो जाएगा

अगर आपको नष्ट होना है तो जल्दी से ज्यादा गुंडा बन जाइए और खत्म हो जाइए

आपसे पहले भी बहुत सारी कौमें नष्ट हो चुकी हैं

लेकिन अगर आपमें ज़रा सी भी अक्ल है

तो अभी भी समय है खुद को और इस मुल्क को बचाने के लिए आवाज़ उठाइए

इस गुंडागर्दी के खिलाफ आवाज़ उठाइए 

मोब लिंचिंग का विरोध कीजिये 

भाजपा की साम्प्रदायिक राजनीति का विरोध कीजिये 

(लेखक गांधीवादी कार्यकर्ता हैं और आजकल हिमाचल प्रदेश में रह रहे हैं।)

 






Leave your comment