गिरफ्तारी के दो दिन बाद मजदूर नेता बच्चा सिंह को पुलिस ने किया प्रेस के सामने पेश

मुद्दा , रांची, रविवार , 03-06-2018


bachcha-singh-majdoor-sangathan-samiti-police-maovadi

जनचौक ब्यूरो

रांची। झारखंड मजदूर संगठन समिति के केंद्रीय महासचिव बच्चा सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही संगठन के सचिव प्रदीप कुमार की भी गिरफ्तारी हुई है। बोकारो से हुई गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर इन दोनों को प्रेस के सामने पेश किया। हालांकि उनकी गिरफ्तारी को लेकर कई तरह के विवाद सामने आये हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस ने दोनों को 31 मई को रात में 11.30 बजे ही उनके ठिकानों से उठा लिया था। लेकिन अब तीन दिन बाद उनकी गिरफ्तारी दिखायी गयी है।

बच्चा सिंह के गिरफ्तार होने के बाद से झारखंड समेत पूरे प्रगतिशील जनवादी तबके में हलचल मच गयी थी। दो दिनों तक कोई सूचना न मिलने से लोग परेशान हो गए थे। सवाल उठ रहा था कि आखिर 58 घंटे तक दोनों मजदूर नेताओं को पुलिस ने कहां छुपाकर रखा था और उनकी गिरफ्तारी की बात क्यों नहीं कबूल कर रहा था? आपको बता दें कि मजदूर संगठन समिति को झारखंड सरकार ने 22 दिसम्बर, 2017 को एक नोटिस जारी कर माओवादियों का फ्रंटल संगठन घोषित करते हुए प्रतिबंधित कर दिया था। इसके बाद इस संगठन का सदस्य न होने के बावजूद दामोदर तुरी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

प्रतिबंध लगाने के बाद अब लगभग 20 कार्यकर्ताओं को ‘मजदूर संगठन समिति’ का सदस्य होने के आरोप में देशद्रोह जैसे केस लगाकर उन्हें जेल में डाला जा चुका है। पुलिस ने अपनी एफआईआर में बोकारो से बच्चा सिंह की गिरफ्तारी को दिखाया है। इसमें उन्हें प्रतिबंधित मजदूर संगठन समिति का सदस्य बताया गया है।

प्राथमिकी में कहा गया है कि बच्चा सिंह और दीपक ने मजदूर संगठन समिति के स्थान पर दूसरे संगठन के निर्माण की बात को स्वीकार कर लिया है। साथ ही इसमें इस बात का जिक्र किया गया है कि भाकपा माओवादी से रिश्ता होने के नाते सरकार ने मजदूर संगठन समिति को प्रतिबंधित कर दिया है। एफआईआर में संगठन के कार्यालय को सील करने की बात कही गयी है।

संगठन पर अवैध रूप से चंदा वसूली करने और माओवादियों को सहायता पहुंचाने का आरोप है। इसके अलावा बच्चा सिंह के खिलाफ दर्ज अब तक के तमाम मामलों का एफआईआर में जिक्र है। जिसमें बोकारो थर्मल थानाकांड, गोमिया थाना कांड, गिरीडीह मुफसिल थाना कांड प्रमुख हैं। बच्चा और दीपक कुमार के पास से बरामद सामानों की सूची में चार मोबाइल दिखाया गया है। इसके अलावा छापेमारी में शामिल 12 पुलिसकर्मियों के नाम दर्ज है।








Tagbachcha singh majdoor maovadi police

Leave your comment