छत्तीसगढ़ में सड़क दर सड़क गूंजा-‘‘मोदी गो बैक’’

ग्राउंड रिपोर्ट , , बृहस्पतिवार , 14-06-2018


chhattishgarh-bhilai-raipur-pmnarendramodi-modigoback

तामेश्वर सिन्हा

रायपुर/भिलाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज छत्तीसगढ़ दौरे पर पहुंचे। प्रशासनिक अमला जहां प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर सतर्क था वहीं छात्र एवं युवा आक्रोश में थे। छात्रों ने प्रधानमंत्री के छत्तीसगढ़ आने के विरोध में भिलाई की सड़कों पर ‘‘मोदी गो बैक’’ के नारे लिख दिए। सड़कों पर ‘‘मोदी गो बैक’’ नारे को देखकर पुलिस-प्रशासन के होश उड़ गए। इसके बाद पूरे राज्य में एनएसयूआई से जुड़े छात्रों की धर पकड़ शुरू हो गयी। देखते ही देखते राज्य के विभिन्न जिलों से पुलिस ने सैकड़ों छात्रों को हिरासत में ले लिया। एनएसयूआई के मिद्राश मैथ्यू ने कहा कि-

‘‘मोदी गो बैक’’ का नारा किसी एक संगठन या छात्र ने नहीं लिखी है। यह छत्तीसगढ़ के आम छात्रों की आवाज है। एनएसयूआई ने प्रधानमंत्री की यात्रा का विरोध नहीं किया है। लेकिन जिस तरह से पुलिस-प्रशासन प्रधानमंत्री की यात्रा के मद्देनजर छत्तीसगढ़ में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं और नेताओं को बड़ी संख्या में गिरफ्तार किया वह प्रधानमंत्री की यात्रा की आड़ में राज्य में आतंक बनना है। पुलिस छात्रों एवं कार्यकर्ताओं के साथ अपराधियों जैसा सलूक कर रही है।’’ 

मैथ्यू कहते हैं कि हम सभी छात्रों एवं छात्रनेताओं की तत्काल रिहाई की मांग करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भिलाई इस्पात संयंत्र में 18 हजार करोड़ की लागत से बनी नई यूनिट देश को समर्पित किया। इससे पहले उन्होंने 155 करोड़ की लागत से बने रायपुर के यूनिफाइड कमांड कंट्रोल रूम का लोकार्पण भी किया। भिलाई में हुई जनसभा में उन्होंने कहा- पहले बस्तर का नाम गोला-बारूद और बंदूक से जोड़ा जाता था, लेकिन अब इसका नाम जगदलपुर की हवाई सेवा से जोड़ा जाएगा। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के भिलाई स्टील प्लांट आने के ठीक पहले ही पुलिस एनएसयूआई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने में जुट गई। प्रदेश के अलग-अलग जगहों से छात्रों एवं छात्र नेताओं को गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार किए गए कार्यकर्ताओं में आकाश शर्मा, कोमल अग्रवाल समेत कई कार्यकर्ता शामिल हैं। गिरफ्तार छात्रों को रायपुर के आमानाका थाना और भिलाई के भट्टी थाना में बंद किया गया है। वहीं कुछ कार्यकर्ताओं को अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है। खबर मिल रही है कि गिरफ्तार कार्यकर्ताओं को महाराष्ट्र बार्डर चिचोला ले जाया गया है। गिरफ्तारी की वजह से छात्रों के परिजन परेशान हैं।

सूचना के मुताबिक छात्र नेता अर्जुन शर्मा को घर में सोते हुए उठाकर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। कांग्रेस का कहना है कि मोदी छत्तीसगढ़ में आतंक और दमन का संदेश लेकर आए।आप को बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज एक दिन के प्रवास पर छत्तीसगढ़ आए थे। पीएम मोदी इस दौरान नया रायपुर स्मार्ट सिटी और भिलाई नगर में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल हुए। उल्लेखनीय है कि विगत लगभग तीन वर्ष में पीएम मोदी का यह पांचवा छत्तीसगढ़ दौरा है। 

छात्रों के अलावा भिलाई इस्पात संयंत्र और औद्योगिक क्षेत्र के कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री के सभा से पहले धरना-प्रदर्शन किया। कर्मचारियों की समस्याओं को  लेकर ट्रेड यूनियनों के संयुक्त संगठन ने विरोध प्रदर्शन किया। 

एनएसयूआई ने ट्वीट कर कहा कि- 

‘‘पूरे प्रदेश में एनएसयूआई और युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं को गिरफ्तार कर अपराधियों जैसा व्यवहार किया गया। लेकिन हमने प्रधानमंत्री के विरोध की घोषणा नहीं की थी। अगर इसके बाद भी आप दमन कर रहे हैं तो सुन लीजिए यह मोदी जी की कोई अंतिम छत्तीसगढ़ यात्रा नहीं है।’’ 

एनएसयूआई न गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि छात्रों एवं छात्र नेताओं के खिलाफ पुलिसिया दमन अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, आंदोलन करने और मांग करने के मौलिक अधिकार का उल्लंघन है।

 

 






Leave your comment