Monday, June 5, 2023

जींस पहनने के चलते मारी गयी बच्ची के घर का ऐपवा की टीम ने किया दौरा

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के तरकुलवा थाने के अंतर्गत आने वाले शबरी जी खर्ग गाँव की नेहा पासवान का जींस पहनना परिवार के लोगों को खासतौर पर दादा व चाचा को इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी।

ऐपवा की राज्य सहसचिव व देवरिया की जिला अध्यक्ष गीता पांडे के नेतृत्व में 7 सदस्यों की टीम ने गाँव का दौरा किया। लड़की के माँ-बाप से मुलाकात कर घटना की पूरी जानकारी ली। हत्यारों को कठोरतम सजा व मृतिका के माता-पिता की सुरक्षा के लिए प्रशासन से मांग की गई है। मृतिका के माता-पिता के साथ ऐपवा के साथियों ने मौके पर ही प्रोटेस्ट भी किया। जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल जाता है ऐपवा अपना आंदोलन जारी रखेगी। इस  आंदोलन में मृतका के माता पिता भी शामिल होने के लिए तैयार हैं।

geeta2

मृतका की मां ने कहा हम लड़ेंगे ताकि जो मेरी बेटी के साथ हुआ वह किसी और की बेटी के साथ ना हो। माँ ने कहा जब तक मेरी बेटी के हत्यारों की सजा नहीं मिल जाती हमारी लड़ाई जारी रहेगी। माँ ने कहा कि मेरी बेटी का ख्वाब था दरोगा बनने का जिसको परिवार के ही लोगों ने छीन लिया है। लेकिन मैं चुप नहीं बैठूंगी। गांव के दौरे में ऐपवा राज्य सहसचिव गीता पांडे जिला सचिव सुमन, सीमा सविता, उर्मिला, कुसुमावती प्रमिला समेत 7 सदस्य टीम में मुख्य रूप से मौजूद रहे। ऐपवा के साथियों ने मृतिका के माता-पिता को हर संभव सहयोग देने का वादा किया है।

पितृसत्तात्मक, मर्दवादी विचारों से लैस समाज आखिर यह सब तय करने पर आमादा क्यों है कि लड़कियां और महिलाएं क्या करेंगी और क्या नहीं करेंगी ? इसका अधिकार उनको किसने दिया है। इनको ये बात कब समझ आएगी की महिलाओं को अपने जीवन का फैसला खुद करने का अधिकार है। उत्तर प्रदेश में जब से अजय सिंह बिष्ट सत्तासीन हुए हैं प्रदेश में ब्राह्मणवादी व सत्ता पोषित लोगों के द्वारा महिलाओं, लड़कियों व दलितों के अधिकारों पर लगातार हमला किया जा रहा है। बलात्कार की घटनाओं की तो जैसे बाढ़ ही आ गयी है, 6 साल की बच्ची से लेकर 60 साल की महिला तक सुरक्षित नहीं हैं।

geeta3

प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गयी है। योगी आदित्यनाथ जी के गृह जिले गोरखपुर में दिनदहाड़े चौराहे पर एक दलित नौजवान की ऊंची जाति की लड़की से विवाह करने पर हत्या कर दी गयी।

यूपी में कथित रामराज्य के बावजूद 16 जिलों में 72 घंटे के भीतर 15 मर्डर, 3 रेप और एक डकैती की वारदात हुई। सीतापुर में डकैती के दौरान महिला की हत्या कर दी गई। महोबा में 60 साल की बुजुर्ग महिला से गैंगरेप हुआ। महिला के प्राइवेट पार्ट में दरिंदों ने मिर्च का पाउडर डाल दिया। बागपत में 6 साल की बच्ची को हैवानों ने रेप के बाद मार डाला। अमेठी में युवक की कनपटी से सटाकर गोली मारकर हत्या कर दी गई। मुजफ्फरनगर में गन प्वाइंट पर नाबालिग से रेप की घटना सामने आई। लग रहा है कि भयमुक्त अपराधियों ने प्रदेश में कानून का ही एनकाउंटर कर दिया है।

geeta4

RSS व BJP के नेताओं से पूछा जाना चाहिए कि बेटियों को बराबरी से जीने का अधिकार क्यों नहीं होना चाहिए? योगी आदित्यनाथ इन गुंडों अपराधियों हत्यारों पर आपकी सरकार क्या सख्त कारवाई करेगी? इनकी भी संपत्ति जब्त होगी या फिर यह केवल आंदोलनकारियों के लिए ही है ताकि जनता सरकार की गलत नीतियों का विरोध न कर सके।

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of

guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles

दलित स्त्री: कुछ सवाल-1

                               भारतीय समाज एक स्तरीकृत असमानता पर आधारित समाज है और जाति नाम की संरचना...