करणी सेना गैंग के गुंडे ने युवक को थूक चटवाया, घर में घुस कर गोली मारने की दी धमकी

Estimated read time 1 min read

मध्यप्रदेश के सतना में करणी सेना के गुंडे शशांक सिंह बघेल से जो पैसे नहीं देने पर संतोष को बीच रास्ते रोक कर लाठी मारा और फिर थूक चटवाया।

घटना को स्वतंत्रता दिवस के दिन नागोद रोड पर अंजाम दिया गया। लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद घटना के 2 दिन बाद आरोपियों पर FIR दर्ज़ किया गया । 

नागौद के बंटी चौराहे पर शशांक सिंह ने अपने साथी सुजीत सिंह के साथ मिलकर संतोष पांडेय नाम के युवक के साथ मारपीट की थी। दोनों ने युवक को पहले लाठी-डंडों से पीटा। उसके बाद उसे थूक कर चाटने को कहा। डरा-सहमा संतोष जान के डर से सब कुछ करता रहा। इसके बाद आरोपी उसे गाड़ी में भरकर अन्य जगह ले गए। जहां फिर से उसके साथ मारपीट की गई। मारपीट की वजह कर्ज़ बताई जा रही है। संतोष ने शशांक से कुछ रुपए उधार लिए थे, लेकिन लौटा नहीं पा रहा था।

वहीं एक और ख़बर के मुताबिक आरोपी शशांक बघेल ने अपने साथियों के साथ मिलकर बिल्डिंग मटेरियल सप्लाई करने वाले संतोष पांडे की सिर्फ़ इसलिये पिटाई की क्योंकि वो उनके परिचित की दुकान से सामान ख़रीदने को तैयार नहीं था।

करणी सेना गैंग का है, दो बार लड़ चुका है चुनाव 

बता दें कि मुख्य आरोपी शशांक सिंह बघेल करणी सेना के साथ सपाक्स से 2018 में विधानसभा और 2019 में सांसद का चुनाव लड़ चुका है। शंशाक सिंह बघेल 2018 में सपाक्स से जुड़ा था। उसके बाद उसने राजपूत करणी सेना जॉइन की जिसका जिलाध्यक्ष है। सवर्ण सेना का अध्यक्ष भी रहा है।

सतना जिले के थाना नागौद, ग्राम सोनोरा निवासी आरोपी शशांक सिंह बघेल के पिता बड़े किसान हैं। जबकि आरोपी ज़मीन का दलाल और भूमाफिया है। बीते दिनों ही इसने अपने गांव सोनोरा के सरकारी तालाब पर कब्जा कर प्लाट काट दिये थे। 

आरोपी गिरफ्तार, पुलिस ने नहीं माना संगीन अपराध 

पुलिस अधीक्षक सतना ने ट्वीट करके बताया है कि आरोपी शशांक बघेल और उसके तीन साथियों के ख़िलाफ़ थाना नागोद में धारा 365, 386, 341, 294, 323, 500, 506 , 34 आईपीसी का प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है।

देर रात मामले के मुख्य आरोपी शशांक सिंह बघेल एवं उसके साथी विनय सिंह को सीधी जिले से पुलिस हिरासत में लिया गया।

इससे पहले पीड़ित ने अपने अपहरण और गंभीर मारपीट जैसे मामले की शिक़ायत नागौद थाने में लेकर गया। पुलिस ने घटना को संज्ञेय अपराध ही नहीं माना। खानापूर्ति के लिये घटना में NCR काट दी। 

फिर मजबूर होकर पीड़ित युवक मामले की शिक़ायत करने सतना पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा। उसने एडिशनल एसपी को आवेदन दिया है। तब तक घटना का वीडियो वायरल हो गया। 

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने पीड़ित युवक का मेडिकल करवा आरोपियों के ख़िलाफ़ प्रकरण दर्ज़ करने के निर्देश नागौद थाने पुलिस को दिए । आनन फानन में अपराधियों पर दस-दस हजार रुपये का नगद इनाम भी घोषित किया गया था। देर रात मामले के मुख्य आरोपी शशांक सिंह बघेल एवं उसके साथी विनय सिंह को सीधी जिले से पुलिस हिरासत में लिया गया।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments