Wednesday, February 8, 2023

खिरिया बाग में किसानों के संघर्ष ने दो महीने पूरे किए, निकाला जुलूस

Follow us:
Janchowk
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

खिरिया बाग, आज़मगढ़। संघर्ष के दो महीने पूरे होने पर किसानों-मजदूरों ने पदयात्रा किया और छात्र-युवा किसान-मजदूर पंचायत का आयोजन हुआ। पंचायत में फैसला दिया कि किसान-मजदूर अपनी जमीन नहीं देगा और सरकार एयरपोर्ट के विस्तारीकरण का मास्टर प्लान रद्द करे। पदयात्रा खिरिया बाग से जिगिना करमनपुर, गदनपुर हिच्छनपट्टी, मंदुरी, जमुआ में निकली। एयरपोर्ट का मास्टर प्लान वापस लो, जमीन नहीं देंगे, एयरपोर्ट बहाना है जमीन ही निशाना है, खिरिया बाग आंदोलन जिंदाबाद, किसान-मजदूर एकता जिंदाबाद, जब-जब जुल्मी जुल्म करेगा सत्ता के गलियारों से चप्पा-चप्पा गूंज उठेगा इंकलाब के नारों से, अडानी-अम्बानी का यार है देश का गद्दार है, ‘जमीन हमारी आपकी नहीं, किसी के बाप की नहीं’, नारे लगाते हुए झंडे लेकर जुलूस निकाला गया।

khiria3

वक्ताओं ने कहा कि सरकार किसान-मजदूर की जमीन छीनकर छात्रों-युवाओं के भविष्य पर हमला करने की साजिश रची। इस साजिश को हम सफल नहीं होने देंगे। देश के संस्थानों का निजीकरण कर रोजगार छीनने वाली सरकार जमीनों का अपहरण कर रही है। एयरपोर्ट से अगर विकास होता तो सालों से मंदुरी में बने एयरपोर्ट से विकास हो गया होता लेकिन न आज तक वहां से कोई विमान उड़ा न ही किसी को रोजगार मिला। 

khiria5

छात्र-युवा किसान-मजदूर पंचायत ने कहा कि किसानों-मजदूरों की जमीन-मकान छीनने वाली सरकार ही छात्रों-नौजवानों की शिक्षा-रोजगार छीन रही है। हमारा दुश्मन एक ही है इसलिए इस आंदोलन के समर्थन में पूरे पूर्वांचल में छात्र-युवा किसान-मजदूर पंचायत होगी। हम गांव-कस्बे में जाकर खिरिया बाग किसान-मजदूर आंदोलन के लिए समर्थन मागेंगे। पूर्वांचल का यह आंदोलन अब तय करेगा कि विकास का नाम पर जमीन की लूट नहीं होगी।

khiria2

छात्र-युवा किसान-मजदूर पंचायत को रामनयन यादव, राजीव यादव, वीरेंद्र यादव, अंजली, राहुल विद्यार्थी, संदीप, राहुल, अंशदीप, अजीत, विनोद यादव, अवधेश यादव, तेज बहादुर, विमला यादव, हरिकेश यादव, संदीप यादव, राजेन्द्र यादव ने संबोधित किया। अध्यक्षता सुनीता भारती और संचालन अरविंद भारती ने की।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

अडानी समूह पर साल 2014 के बाद से हो रही अतिशय राजकृपा की जांच होनी चाहिए

2014 में जब नरेंद्र मोदी सरकार में आए तो सबसे पहला बिल, भूमि अधिग्रहण बिल लाया गया। विकास के...

More Articles Like This