Thursday, December 9, 2021

Add News

लिखत पढ़त में सुशांत सिंह राजपूत नशेड़ी ही घोषित

ज़रूर पढ़े

सुशांत सिंह राजपूत मौत के मामले में सीबीआई जाँच अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है क्योंकि सुशांत की एक बहन पर भी एफआईआर है कि डॉक्टर के गलत पर्चे से दवा लेकर उन्होंने सुशांत को अवसाद की दवाइयां दीं जिससे सुशांत आत्महत्या करने के लिए प्रेरित हो गये। लेकिन सुशांत सिंह राजपूत के नशे के मामले में एक बुरी खबर है। सुशांत की मौत के करीब 9 महीने बाद नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो ने शुक्रवार को केस नंबर 16/20 में अपनी चार्जशीट दाखिल करने के साथ ही सुशांत सिंह राजपूत लिखत पढ़त में नशेड़ी-गंजेड़ी घोषित हो गये।

एनसीबी, ऐक्‍टर की मौत मामले में ड्रग्‍स केस की जांच कर रहा है। एनसीबी के मुंबई ज़ोनल हेड समीर वानखेड़े ने खुद इस चार्जशीट को स्‍पेशल एनडीपीएस कोर्ट में दाख‍िल किया। बताया जाता है कि यह चार्जशीट करीब 52,000 पन्‍नों की है, जिसमें 12 हजार पन्‍ने हार्ड कॉपी और 40 हजार पन्‍ने डिजिटल फॉर्मेट के रूप में सौंपे गए हैं। जिन 33 लोगों को इसमें आरोपी बनाया गया है, उसमें रिया चक्रवर्ती और शौविक चक्रवर्ती का भी नाम है।

14 जून 2020 को सुशांत की लाश उनके बांद्रा स्‍थ‍ित फ्लैट के बेडरूम में मिली थी। मामले में ड्रग्‍स चैट के सामने आने के बाद एनसीबी ने इसकी जांच शुरू की थी। ड्रग पेडलर्स से लेकर सुशांत के मैनेजर्स तक से पूछ ताछ के बाद एनसीबी ने सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया था। करीब एक महीने जेल में रहने के बाद रिया चक्रवर्ती जमानत पर रिहा हैं। एनसीबी की चार्जशीट में रिया चक्रवर्ती के अलावा उनके भाई शौविक चक्रवर्ती, सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत का भी नाम है। जिन 33 लोगों को चार्जशीट में आरोपी बताया गया है, उनमें से 25 कोर्ट से जमानत मिलने के बाद रिहा हैं। जबकि 8 अभी न्‍यायिक हिरासत में हैं।

एनसीबी ने 52 हजार पन्‍नों की जो चार्जशीट बनाई है, उसमें रिया चक्रवर्ती 10वें नंबर की आरोपी हैं। 12 हजार हार्ड कॉपी के अलावा जो 40 हजार डिजिटल पन्‍ने शेयर किए हैं, उनमें मेसेजेज के स्‍क्रीनशॉट्स, बैंक खातों और क्रेडिट कार्ड के ट्रांजेक्‍शंस शामिल हैं। इसके अलावा कॉल रेकॉर्ड्स भी शामिल हैं।

जांच के दौरान ड्रग्‍स के तार बॉलीवुड की कई बड़ी हस्‍ति‍यों से जुड़े हुए पाए गए। इन सिलेब्रिटीज के नाम ड्रग पेडलर्स से पूछताछ में सामने आए। एनसीबी ने इसके बाद दीपिका पादुकोण से लेकर सारा अली खान और रकुल प्रीत सिंह से लेकर मधु मंटेना तक से मामले में पूछताछ की। ड्रग्‍स केस में एनसीबी ने ऐक्‍टर्स के मैनेजर्स से भी पूछताछ की। इन्‍हीं पूछताछ और शुरुआती सबूतों के आधार पर रिया और शौविक को गिरफ्तार किया गया था। दोनों जमानत पर रिहा हैं।

रिया और शौविक पर आरोप हैं कि उन्‍होंने सुशांत को ड्रग्‍स सप्‍लाई किए। हालांकि, हाई कोर्ट में रिया को जमानत देते हुए कोर्ट ने यह भी माना कि एनसीबी के पास इस बात के कोई सबूत नहीं हैं कि रिया ने खुद ड्रग्‍स की खरीद-फरोख्‍त की या फिर खुद ड्रग्‍स लिए। रिया ने भी अपने बयान में यही कहा कि उन्‍होंने सुशांत के कहने पर ही उनके लिए ड्रग्‍स उपलब्‍ध करवाए थे। सुशांत ने ही इसके लिए पैसे दिए थे और पेडलर्स की जानकारी भी सुशांत ने ही दी थी। रिया के भाई शौविक और उनके हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा पेडलर्स से सीधे संपर्क में थे।

अगस्‍त 20 में नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की थी। सुशांत मामले में मनी लॉन्‍ड्र‍िंग की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को रिया और शौविक के फोन में ड्रग्‍स चैट मिले थे। ईडी ने यह जानकारी एनसीबी से साझा की थी, जिसके बाद ब्‍यूरो ने ड्रग्‍स केस की जांच शुरू की। इन ड्रग्‍स चैट में सुशांत की टैलेंट मैनेजर जया साहा से लेकर दीपेश सावंत और सैमुअल मिरांडा के नाम थे।

एनसीबी ने जांच के दौरान रिया चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती, दीपेश सावंत और सैमुअल मिरांडा को ड्रग्‍स सप्‍लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। 9 महीने के बाद मौजूदा वक्‍त में ये सभी जमानत पर रिहा हैं। रिया चक्रवर्ती गिरफ्तारी के 1 महीने बाद तो शौविक चक्रवर्ती 3 महीने बाद जमानत पर जेल से रिहा हो गए थे।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत में ड्रग्स के ऐंगल से जांच कर रही एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती सहित 32 लोगों को आरोपी बनाया है। इस चार्जशीट में एनसीबी ने आरोप लगाया है कि रिया चक्रवर्ती ने ही सुशांत सिंह राजपूत के लिए ड्रग्स की डील को फाइनेंस किया था। 

चार्जशीट में ऐक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती पर एनडीपीएस ऐक्ट की धारा 27ए के तहत आरोप लगाए गए हैं जिसमें कम से कम 10 साल और अधितकम 20 साल की सजा हो सकती है। चार्जशीट में रिया पर आरोप लगाया गया है कि नवंबर 2019 से रिया की सहमति से उनके घर पर ड्रग्स की डिलीवरी हो रही थी और अपने घर का इस्तेमाल वह अपने बॉयफ्रेंड सुशांत को ड्रग्स सप्लाई करने के लिए कर रही थीं। रिया ने ड्रग्स की खरीद के लिए पैसों का इंतजाम किया, इसलिए वह लगातार ड्रग्स की खरीद-फरोख्त को फाइनेंस कर रही थीं। रिया ने अपने भाई शौविक चक्रवर्ती की मदद के जरिए ड्रग्स की सप्लाई का चैनल तैयार किया।

चार्जशीट में कहा गया है कि उपलब्ध सबूतों के आधार पर यह साफ है कि रिया ने ड्रग्स को खरीदने, पास रखने, बेचने और उसे एक-जगह से दूसरी जगह ले जाने की पूरी योजना बनाई। वह गांजा, मारिजूआना और बड की खरीद-फरोख्त में शामिल थीं। हालांकि 7 अक्तूबर को रिया को जमानत देते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा था कि इस बात के कोई सबूत नहीं मिले हैं कि रिया ने ड्रग्स की खरीद-फरोख्त के लिए फाइनेंस किया था और इसी आधार पर उन्हें बेल दी गई थी।

चार्जशीट में कहा गया है कि रिया, शौविक, सुशांत के हाउस हेल्प दीपेश सावंत, हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा और एक अन्य आरोपी ऋषिकेश पवार ने ड्रग्स लेकर सुशांत को सप्लाई की थी। इन लोगों ने कई पेडलर्स के जरिए ये ड्रग्स हासिल किए थे। एनसीबी की चार्जशीट में शामिल 33 आरोपियों में से ज्यादातर अभी जमानत पर बाहर हैं। हालांकि 8 आरोपी अभी भी जेल में हैं।

एनसीबी ने कहा है कि उन्होंने केस की गहराई से जांच की है और जब्त किए गए सबूतों, तकनीकी सबूतों, बयानों के आधार पर चार्जशीट तैयार की है। अभी मामले की जांच चल रही है और कोमल रामपाल, सपना पब्बी और करिश्मा प्रकाश सहित अन्य 14 आरोपियों के खिलाफ अलग से चार्जशीट जल्द ही दाखिल की जाएगी।

(वरिष्ठ पत्रकार जेपी सिंह की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

राजधानी के प्रदूषण को कम करने में दो बच्चों ने निभायी अहम भूमिका

दिल्ली के दो किशोर भाइयों के प्रयास से देश की राजधानी में प्रदूषण का मुद्दा गरमा गया है। सरकार...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -