Categories: बीच बहस

झारखंड: जमीन विवाद को लेकर ग्रामीणों और कंपनी के बीच तनातनी

झारखंड के पूर्वी सिंहभूम में सोनारी से सरायकेला खरसावां के डोबो ग्राम सभा के बीच 2015 से नदी में ब्रिज निर्माण शुरू होने से पहले 2010 से ही (1) हाईटेक हेरिटेज लि कम्पनी और (2) मेसर्स झारखण्ड एग्रो फार्मस आधुनिक एरिया के द्वारा जमशेदपुर यूटिलिटीज एंड सर्विसेज कंपनी लिमिटेड (जिसको/टाटा स्टील) के लिए जमीन खरीदना शुरू किया था। उस समय से लेकर अब तक इन कंपनियों के द्वारा गांव के कई रैयतों की जमीन जमशेदपुर यूटिलिटीज एंड सर्विसेज कंपनी लिमिटेड को बेच दिया गया है। अब गांव में इन कंपनियों के द्वारा खरीदी गई जमीन पर पक्का चहारदीवारी का कार्य जोरों से चल रहा है।

इन चहारदीवारी के कार्यों में खाता संख्या 1036 (174 प्लॉट संख्या) मौके पर एक तालाब है और मौजूदा समय में इसकी मालिक यही तीन कंपनियां हैं।

(1)हाईटेक हेरिटेज लि कम्पनी 

(2)मेसर्स झारखण्ड एग्रो फार्मस आधुनिक एरिया

(3) जमशेदपुर यूटिलिटीज एंड सर्विसेज कंपनी लिमिटेड 

इस तालाब की चहारदीवारी (बाउंड्री) के कारण बारिश का पानी तालाब में नहीं पहुंच पा रहा है, इसके अलावा तालाब के बीचों-बीच भी बाउंड्री कर तालाब का भी अतिक्रमण किया जा रहा है। जबकि इस तालाब के पानी पर ग्रामीणों के साथ ही पालतू जानवर भी निर्भर हैं। इस तरह तालाब की चहारदीवारी एवं उस पर अतिक्रमण होने से तालाब का वजूद ही समाप्त हो जाएगा, जिसका प्रभाव आदिवासी ग्रामीणों के साथ-साथ मवेशियों पर भी पड़ेगा।

यह डोबो गांव पांचवी अनुसूची जिला सरायकेला खरसावां के अंतर्गत आता है। यहां ग्रामसभा व्यवस्था है, किंतु आज तक इस गांव में जितनी भी जमीन इन कंपनियों के द्वारा खरीदी गई है, किसी भी जमीन की खरीद बिक्री में ग्राम सभा का “नो ऑब्जेक्शन” नहीं लिया गया है और इस इलाके में जमीन की खरीद-बिक्री ग्राम सभा और पेशा कानून का उल्लंघन करके किया गया है।

कंपनी के द्वारा सीएनटी एक्ट महतो की जमीन खरीदने की बात की जाए तो 4 दिसंबर 2010 को तत्कालीन राजस्व एवं भूमि सुधार सचिव संतोष कुमार ने सीएनटी एक्ट में वर्णित प्रावधान का उल्लेख करते हुए सामान्य जातियों पर अनुसूचित जातियों और पिछड़ी जातियों की जमीन की खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी थी, किंतु उसके बाद भी इस क्षेत्र में इन कंपनियों के द्वारा कई सीएनटी एक्ट प्रभावित महतो की जमीन खरीद बिक्री की गई।

इसी के आलोक में डोबो ग्राम सभा में पिछले 23/05/2021को ग्राम सभा के सदस्यों के द्वारा खाता संख्या -1036 (174 प्लॉट संख्या) के तालाब के बीचों-बीच ईट की बाउंड्री निर्माण एवं तालाब अतिक्रमण का विरोध करते हुए काम को रुकवाया गया और मुंशी के द्वारा खबर भिजवायी गयी कि कंपनी का मालिक ग्राम सभा से आकर मिले।

ग्रामीणों के द्वारा तालाब अतिक्रमण का विरोध करने के उपरांत भी दिनांक 24/05/2021 को हाईटेक हेरिटेज लि कम्पनी द्वारा बाउंड्री और तालाब अतिक्रमण जारी है।

डोबो ग्राम सभा के पारंपरिक ग्राम प्रधान शंकर सिंह ने कहा कि बाउंड्री निर्माण कार्य को मना करने के उपरांत भी कंपनी के द्वारा कार्य जारी है, कंपनी के द्वारा ग्राम सभा को नजरअंदाज करना ग्राम सभा बर्दाश्त नहीं करेगी। ग्राम सभा इस विषय में संबंधित पदाधिकारियों से मुलाकात करेगी और उचित कार्रवाई की मांग करेगी, तथा उचित कार्रवाई ना होने पर ग्राम सभा आंदोलन में उतरेगी। कहना होगा कि अगर ग्रामीणों को इंसाफ नहीं मिला तो ऐसे में कंपनी और ग्रामीणों के बीच कभी भी संघर्ष की आशंका बन सकती है।

(झारखंड से वरिष्ठ पत्रकार विशद कुमार की रिपोर्ट।)

This post was last modified on May 24, 2021 6:16 pm

Share
%%footer%%