सीपीआई (एमएल) के एक और नेता की भोजपुर में हत्या

Estimated read time 0 min read

पटना। सीपीआई (एमएल) के एक चर्चित नेता की भोजपुर में हत्या कर दी गयी है। कॉ. झरी उर्फ सुरेश पासवान पार्टी के जुझारू नेता थे। भोजपुर के बिहटा में स्थित तरारी क्षेत्र के रहने वाले पासवान सामंती ताकतों की आंख का कांटा बने हुए थे। यह दूसरी घटना है जिसमें माले के किसी बड़े नेता की हत्या हुई है। इसके पहले पार्टी से जुड़े मुखिया अरुण सिंह की हत्या कर दी गयी थी। ये घटनाएं बताती हैं कि बिहार के भोजपुर में एक बार फिर सामंती ताकतें सिर उठा रही हैं। और इसके जरिये पूरे इलाके में अपना दबदबा कायम करना चाहती हैं।

पासवान की हत्या का सीपीआई (एमएल) के प्रदेश सचिव कुणाल ने निंदा की है। उन्होंने कहा कि जिले में एक बार फिर से अपराधियों का मनोबल सातवें आसमान पर है। ऐसा लगता है कि आज बिहार में सरकार नाम की कोई चीज नहीं रह गई है।

कॉ. सुरेश पासवान।

माले सचिव ने घटना का पूरा ब्योरा देते हुए बताया कि आज सुबह दो मोटरसाइकिल पर सवार 6 अज्ञात हमलावरों ने 60 वर्षीय झरी उर्फ सुरेश पासवान की हत्या उस वक्त कर दी जब वे चाय की एक दुकान पर बैठे ही थे।

हमलावर ताबड़तोड़ फायरिंग कर रहे थे जिसकी चपेट आकर पासवान की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। दिलचस्प बात यह है कि घटना तरारी थाने के ठीक बगल में घटित हुई। और उससे भी ज्यादा दिलचस्प बात यह देखने में सामने आयी कि हमलावरों को पकड़ने के बजाए थाना प्रभारी हत्या से आक्रोशित आम लोगों पर ही फायरिंग करनी शुरू कर दी। माले सचिव ने थाना प्रभारी को तत्काल निलंबन की मांग की है।

उन्होंने कहा कि इस इलाके में सोन नदी से बालू की अवैध निकासी व कई जगहों पर अवैध रूप से चल रही शराब की भट्ठियों के कारण अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है। इस पर तत्काल रोक लगनी चाहिए।

घटनास्थल पर लोगों के साथ माले विधायक सुदामा।

उनका कहना था कि उनकी पार्टी सभी अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी, मृतक के परिजन को 10 लाख का मुआवजा, उनके बच्चों की पढ़ाई व उनके लिए सरकारी नौकरी के प्रबंध की मांग करती है।

घटना की जानकारी मिलते ही माले के जिला सचिव जवाहर लाल सिंह व विधायक सुदामा प्रसाद घटनास्थल पर पहुंच गए। उनकी पहलकदमी से मृतक परिजन को फिलहाल 4 लाख का मुआवजा व अंतिम क्रिया की राशि प्राप्त हो गई है। कल सोन के घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा जिसमें माले के राज्य सचिव कुणाल व पोलित ब्यूरो के सदस्य कॉ. अमर शामिल होंगे।

माले सचिव ने प्रेस को बताया कि जिले में बढ़ते अपराध के खिलाफ आगामी 17 अक्तूबर को पूरे जिले में चक्का जाम किया जाएगा।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित खबर।)

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours