मशहूर बॉलीवुड नृत्य निर्देशिका सरोज खान नहीं रहीं

नई दिल्ली। बॉलीवुड की चर्चित नृत्य निर्देशिका सरोज खान का निधन हो गया है। वह 71 साल की थीं। सरोज की पुत्री सुकैना खान ने इंडियन एक्सप्रेस को इस खबर की पुष्टि की है।

सरोज खान निर्मल नागपाल के तौर पर पैदा हुई थीं। वह फिल्म उद्योग में एक बाल कलाकार के तौर पर शामिल हुई थीं। ‘नजराना’ में उन्होंने अभिनेत्री श्यामा के बचपन की भूमिका निभाई थी। इस कड़ी में उन्होंने 1950 के दशक की फिल्मों में बैकग्राउंड डांसर के तौर पर काम किया। बिमल राय की मधुमति में उन्होंने यह काम नृत्य निर्देशक बी सोहनलाल के निर्देशन और मातहत किया।

उसके बाद खान असिस्टेंट नृत्य निर्देशिका बन गयीं। स्वतंत्र नृत्य निर्देशिका के तौर पर उन्होंने 1974 में बनी फिल्म ‘गीता मेरा नाम’ पहला काम किया। उन्हें 1987 में बनी फिल्म मिस्टर इंडिया में ‘हवा-हवाई’ गाने से पहली बार प्रसिद्धि मिली। उसके बाद चांदनी और नगीना में श्रीदेवी के साथ किए गए प्रोजेक्ट ने उन्हें शोहरत की नई बुलंदियों पर पहुंचा दिया।
हालांकि उन्हें शोहरत की नई ऊंचाई माधुरी दीक्षित को निर्देशित उनके तेजाब फिल्म के गाने एक, दो, तीन से मिली जिसमें उनके साथ ही माधुरी दीक्षित को भी उतना ही फायदा हुआ। उसके बाद तम्मा-तम्मा लोगे (थानेदार), हमको आज है इंतजार (सैलाब), धक-धक करने लगा (बेटा) आदि फिल्में शामिल हैं, जिनसे उन्होंने अच्छा खासा नाम कमाया।

चार दशकों के अपने फिल्मी कैरियर में उन्होंने 2000 गानों में नृत्य को निर्देशित किया। इस महान कलाकार को तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया था। वह फिल्में थीं देवदास, जब वी मेट और श्रिंगाराम (तमिल)। इसके अलावा कई फिल्मों के लिए उन्हें फिल्म फेयर अवार्ड मिले। उनकी आखिरी फिल्म कलंक (2019) थी।

This post was last modified on July 3, 2020 8:01 am

Share
Published by