Sunday, May 29, 2022

यूरोप में कोरोना का फिर उभार, जर्मनी में एक दिन में 50 हजार से ज्यादा केस

ज़रूर पढ़े

न्यूज एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक ज़र्मनी में पिछले 24 घंटे में 50 हजार नए कोविड केस सामने आए हैं। जर्मनी में संक्रमण ने पिछले पांच महीनों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

ज़र्मनी में गुरुवार को कोविड-19 के रिकॉर्ड 50,196 नए मामले सामने आए हैं। महामारी की शुरुआत के बाद यह पहली बार है जब ज़र्मनी ने 50 हजार के आंकड़े को पार किया है। पिछले 24 घंटे में यहां 235 मौतें हुई हैं। वहीं, ज़र्मनी के टॉप वायरोलॉजिस्ट क्रिश्चियन ड्रॉस्टन ने आने वाले दिनों में 1 लाख मौतों की आशंका जाहिर की है।

संक्रामक रोगों के संस्थान रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट (RKI) ने कहा है कि ज़र्मनी की सात-दिवसीय कोविड -19 व्यापकता दर (incidence rate) प्रति 1,00,000 निवासियों पर 213.7 मामलों के नए उच्च स्तर पर पहुंच गई है। सोमवार 8 नवंबर को, व्यापकता दर (incidence rate) पहले से ही 201.1 के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर थी। पिछला रिकार्ड – पिछला रिकॉर्ड – 197.6 – पिछले साल दिसंबर में दूसरी कोविड -19 लहर के दौरान दर्ज़ किया गया था।

जर्मन वॉयरोलॉजिस्ट क्रिश्चियन ड्रॉस्टन ने इसे इमरजेंसी बताया और कहा कि हमें तत्काल एक्शन लेना होगा। उन्होंने कोरोना के UK स्ट्रेन पर हुई स्टडी के बारे में बताते हुए कहा कि वायरस संक्रामक होने के साथ जान लेवा भी हो गया है। डॉक्टरों का कहना है कि यह अब तक की सबसे खराब लहर हो सकती है। हाल के दिनों में संक्रमण और मौतों में बढ़त हुई है।

यहां के सैक्सोनी राज्य में संक्रमण दर सबसे अधिक है। यहां पिछले 7 दिनों में प्रति 1 लाख लोगों पर 459 मामले दर्ज किए गए हैं। इस राज्य ने अन-वैक्सीनेटेड लोगों पर बार, रेस्तरां, सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल होने पर रोक लगा दी है। टीकाकरण की दर 70% से कम होने के कारण सरकार लोगों से वैक्सीन लगवाने के लिए कह रही है। अन-वैक्सीनेटेड लोगों के लिए आने वाले महीनों में संक्रमित होने का सबसे ज्यादा खतरा बढ़ेगा।

सितंबर के आम चुनाव के बाद देश में कोराना के मामलों में उछाल आया है। कई राजनीतिक पार्टियां अनिवार्य वैक्सीनेशन के खिलाफ हैं। इनका कहना है कि सरकार में आने के बाद वो कोई लॉकडाउन नहीं लगाएंगी।

जर्मनी के रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि टीका नहीं लगवाने वालों और टीके की केवल एक खुराक लेने वालों को संक्रमण से सर्वाधिक खतरा है। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने देश में कोविड-19 के खिलाफ लोगों को अधिक प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करने वाली बूस्टर खुराक वाले टीकाकरण अभियान को तेज करने की वकालत की है। इसके साथ ही उन्होंने देश में जांच की संख्या बढ़ाने पर भी जोर दिया है।

ब्रिटेन में भी लगातार 30 हजार से अधिक केस सामने आ रहे हैं। ब्रिटेन में पिछले एक हफ्ते में 1200 से अधिक और जर्मनी में 950 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। बेल्जियम के स्वास्थ्य मंत्री फ्रैंक वांडरब्रुक ने भी माना है कि उनका देश कोरोना की चौथी लहर का सामना कर रहा है।

दुनियाभर में कोरोना से अब तक 25.22 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, इस महामारी से अब तक कुल 50.9 लाख से ज्यादा लोगों ने जान गंवाई है। जर्मनी और ब्रिटेन के साथ ही नीदरलैंड, पोलैंड और रूस जैसे देशों में कोरोना एक बार पांव पसार रहा है। ये वो देश हैं जो अपनी करीब दो तिहाई आबादी को पूरी तरह से वैक्सीनेट कर चुके हैं।

जर्मनी और ब्रिटेन के साथ ही नीदरलैंड, पोलैंड और रूस जैसे देशों में कोरोना एक बार पांव पसार रहा है। ये वो देश हैं जो अपनी करीब दो तिहाई आबादी को पूरी तरह से वैक्सीनेट कर चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर से यह सवाल पूछा जाने लगा है कि इस सर्दी में फिर कोविड का खतरा बढ़ जाएगा? भारत जैसा बड़ी आबादी वाला देश भी इस तरह के डेटा को देखकर चिंतित है। भारत अब तक सिर्फ अपनी 20 फीसद आबादी को पूरी तरह से वैक्सीनेट कर सका है।

यूरोपीय देशों में कोरोना महामारी पिछली बार की तरह अबकी सर्दी में भी तेजी से पांव पसार रही है। यह स्थिति तब है जब पिछली ठंड के विपरीत इस बार कोरोना रोधी टीकों का कवच उपलब्ध है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन के मुताबिक यूरोप और रूस जैसे क्षेत्र में नए मामले बढ़ रहे हैं। लगातार तीसरे हफ्ते में कोरोना के नए मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी दर्ज़ की गई है।

वहीं फ्रांस के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ओलिवर वेरन ने कहा कि इस ताजा लहर में कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से हो रहा है। फ्रांसीसी मंत्री के इस ऐलान से उन उम्‍मीदों को गहरा झटका लगा है जिसमें कहा जा रहा था कि सब कुछ ठीक हो गया है।

ओलिवर ने कहा क‍ि कई पड़ोसी देशों में कोरोना की पांचवीं लहर फैल गई है लेकिन हम जो अनुभव कर रहे हैं, वह स्‍पष्‍ट रूप से पांचवीं लहर की शुरुआत है। इससे पहले फ्रांस के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बुधवार को कोरोना के 11,883 नए मामले दर्ज किए थे। लगातार दो दिन से फ्रांस में कोरोना के मामले 10 हजार को पार कर गए हैं। इससे पहले फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति ने कोरोना पर चेतावनी देते हुए कहा था कि 65 साल और उसके ऊपर के बुजुर्गों को रेस्‍त्रां में जाने से पहले कोरोना के बूस्‍टर डोज का प्रमाण दिखाना होगा।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

- Advertisement -

Latest News

अब सावरकर के पर्दाफाश की बारी

आरएसएस/बीजेपी के आईटी सेल ने 2014 के बाद गांधी जी के बारे में मनगढ़ंत प्रोपेगेंडा अभियान चलाया। बीसवीं सदी...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This