Subscribe for notification

पाटलिपुत्र की जंग: CPI-ML के अगिआंव से प्रत्याशी मनोज मंजिल को जमानत मिली, जेल से हुए रिहा

नई दिल्ली। सीपीआई (एमएल) के अगिआंव से प्रत्याशी मनोज मंजिल को जमानत मिल गयी है और वह जेल से छूट गए हैं। मनोज मंजिल को पुलिस ने उस समय गिरफ्तार कर लिया था जब वह नामांकन करने गए थे। पुलिस का कहना था कि वह कई मामलों में वांछित थे।

गिरफ्तारी के बाद उन्होंने पुलिस कस्टडी में ही नामांकन किया। नामांकन के बाद पुलिस ने उन्हें दाउदनगर जेल भेज दिया था। मनोज मंजिल की गिरफ्तारी के बाद ही पूरे इलाके में दुख और गुस्से की लहर दौड़ गयी थी। और इलाके में उनके जेल में रहते ही उनकी जीत का ऐलान और संकल्प शुरू हो गया था। बताया जा रहा है कि उन्हें आरा की एडिशनल कोर्ट से जमानत मिली है।

दरअसल मनोज अपने इलाके में बेहद लोकप्रिय रहे हैं। उन्होंने बच्चों की शिक्षा के लिए सड़क पर स्कूल लगाया था। जिसके बाद से वह बेहद लोकप्रिय हो गए थे। इसके साथ ही आरवाईए के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहते उन्होंने नौजवानों के रोजगार की लड़ाई को भी राष्ट्रीय स्तर पर आगे बढ़ाने का काम किया।

इस बीच, बिहार विधानसभा चुनाव के प्रचार हेतु भाकपा-माले की पोलित ब्यूरो सदस्य व चर्चित महिला नेता कविता कृष्णन, आरवाईए के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव ओम प्रसाद और भाकपा-माले के केंद्रीय कार्यालय के सचिव प्रभात कुमार चौधरी आज सुबह पटना पहुंच गए हैं। इन नेताओं के पहले जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष एनसाईंबाला जी और गीता कुमारी पहले ही बिहार पहुंच गए हैं और पालीगंज सहित विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में महागठबंधन समर्थित माले प्रत्याशियों के पक्ष में चल रहे प्रचार अभियान में जुट गए हैं।

चुनाव प्रचार अभियान के सिलसिले में माले महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य कल दिनांक 11 अक्तूबर को आरा का दौरा करेंगे। आरा में वे आरा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से महागठबंधन समर्थित माले उम्मीदवार कयामुद्दीन अंसारी के समर्थन में एक नागरिक सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। 12 अक्तूबर को वे अरवल का दौरा करेंगे और वहां से महागठबंधन समर्थित माले प्रत्याशी महानंद सिंह के पक्ष में आयोजित नागरिक सम्मेलन में भाग लेंगे।

इस बीच, भाकपा-माले, आइसा व इनौस ने आपातकाल के खिलाफ लोकतंत्र की लड़ाई के प्रतीक जयप्रकाश नारायण जी की 118 वीं जयंती पर पूरे बिहार में कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया है। जेपी के जन्म दिवस पर नारा दिया गया है – छात्र-युवाओं ने ठाना है, तानाशाही को मिटाना है।

पार्टी ने पटना में 12 बजे गांधी मैदान स्थित जेपी की मूर्ति पर माल्यार्पण का कार्यक्रम रखा है। उनके नेताओं का कहना है कि इस मौके पर बिहार विधानसभा चुनाव में तानाशाह भाजपा को खदेड़ बाहर करने का संकल्प लिया जाएगा। पटना के कार्यक्रम में ऐपवा नेता कविता कृष्णन, पालीगंज से महागठबंधन समर्थित भाकपा-माले उम्मीदवार संदीप सौरभ, दीघा से महागठबंधन समर्थित उम्मीदवार शशि यादव, जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष व आइसा के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष एन साईं बालाजी और अन्य छात्र-युवा नेता भाग लेंगे।

This post was last modified on October 10, 2020 4:33 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by