Sunday, October 24, 2021

Add News

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र और उनके बेटे की 302 के तहत गिरफ्तारी की मांग

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

लखनऊ/नई दिल्ली। आज उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे द्वारा काला झंडा लेकर विरोध कर रहे किसानों पर गाड़ी चढ़ाकर हत्याओं को अंजाम देने वाली घटना पर तमाम राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने अपनी प्रतिक्रियायें दी हैं।

सीपीआईएमएल महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने लखीमपुर खीरी हत्याकांड पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि “आंदोलन कर रहे किसानों की जिंदगी और आंसू व्यर्थ नहीं जाएंगे। ये आंसू अहंकारी और क्रूर मोदी योगी राज को मिटा देंगे।”

राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष तेजस्वी यादव ने लखीमपुर खीरी घटना को ‘हैवानियत’ करार देकर कहा है कि – “हमारे देश में अन्नदाताओं को ऐसे नरसंहार, सत्ता संरक्षित वीभत्स अत्याचार से जूझना पड़ेगा, यह अब तक अकल्पनीय था, पर यह न्यू इंडिया है।
दंगाई सत्ता में हैं और संवैधानिक संस्थाएं डरी सहमी हैं। लखीमपुर खीरी में हुई हैवानियत को माफ़ नहीं किया जा सकता। हरगिज़ नहीं”!

वहीं राजद सांसद मनोज कुमार झा ने लखीमपुर खीरी जनसंहार पर प्रतिक्रिया देते हुये इसे हमारे दौर का जलियांवाला बाग़ करार दिया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है, ” लखीमपुर खीरी में आंदोलनरत किसानों पर केंद्रीय मंत्री के सुपुत्र ने गाड़ी चढ़ा दी। मृत किसानों की संख्या बढ़ने की खबर के साथ साथ कइयों के घायल होने की दुखद सूचना है। ये हमारे दौर का जालियांवाला बाग है और संवेदनशून्य सरकारी पक्ष से अब तक सांत्वना के बोल नहीं।

बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पुत्र द्वारा अंजाम दिये गये जनसंहार पर टिप्पणी करते हुये कहा है – “यूपी के जिला लखीमपुर खीरी में 3 कृषि कानूनों की वापसी की माँग को लेकर आन्दोलन कर रहे किसानों पर केन्द्रीय मंत्री के पुत्र द्वारा कथित तौर पर कई किसानों की गाड़ी से रौंद कर की गई हत्या अति-दुःखद। यह भाजपा सरकार की तानाशाही व क्रूरता को दर्शाता है जो कि इनका असली चेहरा भी है”।
उन्होंने घटना की न्यायिक जांच की मांग करते हुए आगे कहा है कि – “इस घटना के सम्बंध में भी पीड़ितों को सरकार से उचित न्याय मिलने की उम्मीद नहीं है। इसलिए माननीय सुप्रीम कोर्ट इस दुःखद घटना का स्वंय ही संज्ञान ले, बीएसपी की यह माँग। साथ ही, बीएसपी के स्थानीय प्रतिनिधिमण्डल को भी घटनास्थल पर जाने का निर्देश दिया है ।”

कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा है भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएँगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका। ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है, “जो इस अमानवीय नरसंहार को देखकर भी चुप है, वो पहले ही मर चुका है। लेकिन हम इस बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे- किसान सत्याग्रह ज़िंदाबाद”!

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मंत्री की बर्खास्तगी की मांग करते हुए कहा कि “लखीमपुर खीरी में अन्नदाताओं की बर्बर हत्या की खबर से समूचा देश स्तब्ध है। भाजपा सरकार में यह नया नहीं है। ऐसे बेलगाम केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी को तत्काल केंद्रीय मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया जाए तथा उनके बिगड़ैल बेटे सहित अन्य गुंडों को गिरफ्तार किया जाए”।

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि “कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे किसानों को भाजपा सरकार के गृह राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा, गाड़ी से रौंदना घोर अमानवीय और क्रूर कृत्य है। उत्तर प्रदेश दंभी भाजपाइयों का ज़ुल्म अब और नहीं सहेगा। यही हाल रहा तो उप्र में भाजपाई न गाड़ी से चल पाएंगे, न उतर पाएंगे। “

उन्होंने मुख्यमंत्री का इस्तीफा मांगते हुये कहा है कि – “लखीमपुर खीरी में भाजपाइयों द्वारा गाड़ी से रौंदे जाने की घटना में गंभीर रूप से घायल किसान नेता श्री तेजिंदर सिंह विर्क जी से अभी थोड़ी बात हो पाई। उनकी अति गंभीर स्थिति को देखते हुए सरकार तुरंत उन्हें सर्वोत्तम इलाज उपलब्ध कराए। बस एक माँग मुख्यमंत्री इस्तीफ़ा दें। “

राष्ट्रीय लोकदल अध्यक्ष जयंत चौधरी ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुये कहा है कि “विरोध को कुचलने का काला कृत्य जो किया है, साज़िश जब गृह मंत्री रच रहे हैं, फिर कौन सुरक्षित है?”
सीपीआईएम नेता सुभाषिनी अली ने कहा है कि बर्बर हत्या कांड। सीपीआईएम का इलाहाबाद में चल रहे राज्य सम्मेलन ने विरोध का फैसला लिया है।

भाजपा मंत्री अजय मिश्र व उसके बेटे अभिषेक मिश्र को धारा 302 के तहत गिरफ्तार किया जाए; एसपी व डीएम को सस्पेंड किया जाए- AIKMS

अखिल भारतीय किसान मजदूर सभा ने लखीमपुर खीरी में केंद्रीय मंत्री के काफिले की गाड़ियों द्वारा किसानों को कुचलकर उनकी हत्या करने की घटना की निंदा की है। AIKMSने मांग की है कि भाजपा मंत्री अजय मिश्र व उसके बेटे अभिषेक मिश्र को धारा 302 के तहत गिरफ्तार किया जाए; एस पी व डीएम को सस्पेंड किया जाए; इस घटना को न्यायिक जांच की मांग की है।

AIKMS महासचिव आशीष मित्तल ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के तिकोनिया में उपमुख्यमंत्री के कार्यक्रम का विरोध कर रहे किसानों पर पुलिस की शह पर आरएसएस बीजेपी के गुण्डों ने प्रदर्शनकारी किसानों पर गाड़ियां चढ़ाने से चार किसानों की मौके पर मृत्यु व किसान नेता तेजेंदर सिंह विर्क समेत आठ किसान घायल हो गये हैं।

कृषि के तीन कानूनों को लेकर देशभर के किसान आंदोलित हैं,कृषि कानूनों के वापसी तक किसानों ने भाजपा सरकार के समस्त कार्यक्रमों को निष्प्रभावी करने का निर्णय लिया है।

AIKMS बयान जारी करके कहा है कि उत्तर प्रदेश के उप मुख्य केशव प्रसाद मौर्य एव केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का कार्यक्रम पूर्व में नियोजित था। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल को जाने वाले तीनों रास्ते व हेलीपैड पर किसान शांति पूर्वक बैठ गए, उप मुख्यमंत्री को कार्यक्रम रद्द करना पड़ा।

इस दौरान केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र का बेटा व आरएसएस बीजेपी के गुण्डों ने गाड़ियों के काफिले के साथ पहुंचकर प्रदर्शनकारी किसानों के ऊपर गाडियां चढ़ा दी जिससे दो किसानों की मौके पर मृत्यु हो गई जबकि आठ घायल हो गए।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

बेटे और पति ने मुझे जीना सिखाया: आरके की पत्नी कंदुला शिरिषा

(माओइस्ट पार्टी केन्द्रीय कमेटी सदस्य आरके (अक्कीराजू हरगोपाल) की पत्नी कंदुला शिरिषा कहती हैं कि ‘‘मेरे पति और बेटे...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -