Subscribe for notification

मॉब लिंचिंग के खिलाफ पीएम को पत्र लिखने वाले गुहा,मणि रत्नम और अपर्णा समेत 50 शख्सियतों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा

नई दिल्ली। इतिहासकार और लेखक रामचंद्र गुहा, फिल्मकार मणिरत्नम और अपर्णा सेन समेत मॉब लिंचिंग के खिलाफ पीएम मोदी को पत्र लिखने वाले 50 शख्सियतों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है। इन सभी पर देश की छवि को खराब करने का आरोप लगाया गया है। इसके साथ ही उन्हें अलगाववादी प्रवृत्तियों का समर्थक करार दिया गया है।

पुलिस ने बताया कि यह एफआईआर बृहस्पतिवार को दर्ज की गयी। गौरतलब है कि इन सभी ने पीएम मोदी को पत्र के जरिये देश में बढ़ती मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर चिंता जाहिर की थी। बिहार के मुजफ्फरपुर में स्थानीय एडवोकेट सुधीर कुमार ओझा ने तकरीबन दो महीना पहले चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिसके बाद कोर्ट ने एफआईआर दर्ज करने का यह आदेश पारित किया था।

दि हिंदू के हवाले से आयी खबर के मुताबिक ओझा ने बताया कि “ मेरी याचिका स्वीकार करने के बाद सीजेएम ने यह आदेश 20 अगस्त को पारित किया था। उसके बाद आज पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गयी।”

उन्होंने बताया कि याचिका में 50 हस्ताक्षरकर्ताओं का नाम दिया गया था। एडवोकेट के मुताबिक इसके जरिये न केवल देश की छवि को खराब किया गया है बल्कि प्रधानमंत्री मोदी के शानदार प्रदर्शन पर भी सवालिया निशान लगाया गया है। इसके साथ ही उनका कहना था कि इससे अलगाववादी प्रवत्तियों को भी बढ़ावा मिलेगा।

पुलिस का कहना है कि देशद्रोह, धार्मिक आस्था को चोट पहुंचाने और उसे अपमानित करने और भड़काने के जरिये शांति को भंग करने संबंधी भारतीय दंड संहिता की तमाम धाराओं के तहत इस एफआईआर को दर्ज किया गया है।

यह पत्र इसी साल जुलाई महीने में लिखा गया था। जिसमें इन सभी के अलावा गायिका शुभा मुद्गल भी शामिल थीं। इसमें कहा गया था दलितों, मुसलमानों और सभी अल्पसंख्यकों की लिंचिंग पर तत्काल रोक लगायी जानी चाहिए। इसके साथ ही इसमें कहा गया था कि बगैर असहमति के कोई लोकतंत्र नहीं होता है। इसमें इस बात को बिल्कुल साफ-साफ कहा गया था कि “जय श्रीराम” इस समय युद्ध का नारा बन गया है।

This post was last modified on October 4, 2019 2:33 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Leave a Comment
Disqus Comments Loading...
Share
Published by

Recent Posts

किसानों और मोदी सरकार के बीच तकरार के मायने

किसान संकट अचानक नहीं पैदा हुआ। यह दशकों से कृषि के प्रति सरकारों की उपेक्षा…

9 mins ago

कांग्रेस समेत 12 दलों ने दिया उपसभापति हरिवंश के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस

कांग्रेस समेत 12 दलों ने उप सभापति हरिवंश के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया…

10 hours ago

दिनदहाड़े सत्ता पक्ष ने हड़प लिया संसद

आज दिनदहाड़े संसद को हड़प लिया गया। उसकी अगुआई राज्य सभा के उपसभापति हरिवंश नारायण…

10 hours ago

बॉलीवुड का हिंदुत्वादी खेमा बनाकर बादशाहत और ‘सरकारी पुरस्कार’ पाने की बेकरारी

‘लॉर्ड्स ऑफ रिंग’ फिल्म की ट्रॉयोलॉजी जब विभिन्न भाषाओं में डब होकर पूरी दुनिया में…

12 hours ago

माओवादियों ने पहली बार वीडियो और प्रेस नोट जारी कर दिया संदेश, कहा- अर्धसैनिक बल और डीआरजी लोगों पर कर रही ज्यादती

बस्तर। माकपा माओवादी की किष्टाराम एरिया कमेटी ने सुरक्षा बल के जवानों पर ग्रामीणों को…

13 hours ago

पाटलिपुत्र का रण: राजद के निशाने पर होगी बीजेपी तो बिगड़ेगा जदयू का खेल

''बिहार में बहार, अबकी बार नीतीश सरकार'' का स्लोगन इस बार धूमिल पड़ा हुआ है।…

15 hours ago