पहला पन्ना

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग, पांच कर्मचारियों की मौत

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने से पांच लोगों की मौत हो गई है। मौके पर पहुंचीं दमकल विभाग की 15 गाड़ियों ने आग पर काबू पा लिया है। इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई। पुणे के मेयर ने इसकी पुष्टि की है। मरने वाले पांचों लोग सीरम इंस्टीट्यूट के कर्मचारी हैं।

जानकारी के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट की बीसीजी टीका बनाने वाली इमारत में आग लगी है, जोकि इमारत की दूसरी मंजिल पर  है। सीरम इंस्टीट्यूट ने कोविशील्ड नाम से कोरोना वैक्सीन बनाई है।

आग पुणे के मंजरी में स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के नए प्लांट में लगी। पिछले साल ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने इस प्लांट का उद्घाटन किया था। बता दें कि सीरम इंस्टिट्यूट के गेट नंबर एक पर मंजरी प्लांट है, जहां आग लगी। वहीं, गेट नंबर-तीन, चार और पांच पर मौजूद प्लांट में कोविड वैक्सीन का निर्माण और भंडारण आदि किया जाता है। ये तीनों गेट हादसे वाली जगह से एकदम विपरीत दिशा में हैं और सुरक्षित हैं।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि कोरोना वैक्सीन सुरक्षित हैं। हालांकि उन्होंने इससे पहले ट्वीट करके इस आग में किसी के हताहत नहीं होने का भी दावा किया था, जबकि खुद पुणे के मेयर ने सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग में पांच कर्मचारियों के जलकर मरने की पुष्टि की है।

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग पर कहा है कि सबसे बड़ी प्राथमिकता पहले इस आग को बुझाना है, ताकि हो रहे नुकसान को रोका जा सके। शहर और जिला प्रशासन की सभी संबंधित एजेंसियां अग्निशमन और राहत कार्य में जुटी हुई हैं। इस दुर्घटना की जांच के आदेश भी दिए गए हैं।

पुणे पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता ने बताया है कि हमें 2:45 बजे सीरम इंस्टीट्यूट की एक इमारत में आग लगने की सूचना मिली। पुलिस और फायर ब्रिगेड तुरंत मौके पर पहुंची, जबकि दमकल विभाग के अनुसार सीरम इंस्टीट्यूट की तरफ से तकरीबन 2:30 पर आग लगने की खबर मिली थी, जिसके बाद दमकल विभाग की टीम तुरंत घटनास्थल पर पहुंची। अभी तक आग लगने की वजह या फिर आग में कितना नुकसान हुआ है, इसका पता नहीं चल सका है। इन तमाम बातों की जांच बाद में की जाएगी।

This post was last modified on January 21, 2021 8:00 pm

Share
Published by