Subscribe for notification

हरियाणा: किसानों के निशाने पर बीजेपी के नुमाइंदे, सड़क पर चलना हुआ दूभर

पिछले 15 दिनों में लगातार कई घटनाएं घटी हैं जब किसानों द्वारा भाजपा के सांसद, विधायक और मंत्रियों को घेरकर काले झंडे दिखाए गए और मोदी सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाए गए हैं।

इसी कड़ी में आज किसानों ने हरियाणा के सिरसा क्षेत्र की सांसद सुनीता दुग्गल को कृषि कानूनों के मुद्दे पर ओढां में किसानों ने घेर लिया। उन्हें काले झंडे दिखाए और मोदी सरकार के खिलाफ़ जमकर नारेबाजी की।

इससे पहले कल रादौर के बगाना जा रहे हरियाणा के कुरुक्षेत्र से भाजपा सांसद नायब सैनी को भी किसानों ने घेरकर काले झंडे दिखाए थे और उनके और उनकी सरकार के खिलाफ़ जमकर नारेबाजी की थी। इस दौरान किसानों ने रोड जाम कर दिया और सांसद को खरी-खोटी सुनाई। किसानों ने करीब 20 मिनट तक सांसद का रास्ता रोके रखा। सांसद नायब सैनी को उल्टे मुँह वहां से लौटना पड़ा था।

बता दें कि 10 सितंबर को सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि बिल के खिलाफ़ कुरुक्षेत्र के पिपली गांव में भाजपा की हरियाणा सरकार ने बर्बरतापूर्वक लाठियां चलवाई थी। वैसे भी किसान विरोधी तीन कृषि कानूनों को लेकर देश भर के किसानों में मोदी सरकार के खिलाफ़ गुस्सा है। हरियाणा में किसान लगातार भाजपा नेताओं और मंत्रियों का विरोध कर रहे हैं। कृषि कानूनों का हरियाणा के किसान लगातार उग्र होकर विरोध कर रहे हैं। इसको लेकर वह जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं।

पहले 11 सितंबर को और अभी एक सप्ताह पहले गुहला चीका में युवाओं ने हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को घेरकर मुर्दाबाद के नारे लगाए और काले झंडे दिखाकर विरोध किया था। 25 सितंबर को चरखी दादरी में किसानों द्वारा डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के आने पर अपनी माँगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर आंसू गैस और लाठी चार्ज किया गया!

वहीं 24 सितंबर को गोहाना में कृषि मंत्री जेपी दलाल को भी किसानों ने घेर लिया था। और उनके और उनकी सरकार के खिलाफ़ मुर्दाबाद के नारे लगाए थे। बरोदा हल्के के मुंडलाना गाँव में कृषि मंत्री जेपी दलाल का जबरदस्त विरोध गाँव में हुआ और उन्हें लोगों ने गांव में घुसने भी नहीं दिया। इस मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

फिर सोनीपत के मुंडलाना में कृषि मंत्री जे.पी. दलाल का भारी विरोध हुआ।  मुंडलाना में भारी पुलिस बल की मौजूदगी में हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल का विरोध हुआ। और यहां पीटीआई टीचर्स व ग्रामीणों ने मंत्री को काले झंडे दिखाए। बीजेपी सरकार और कृषि मंत्री मुर्दाबाद के लगाए नारे ।

किसानों के हत्यारों को जूते मारो …… को

कुछ ही महीनों में पूरा सिनैरियो बदल गया है, नारे बदल गए हैं। कल तक सड़कों पर ‘देश के गद्दारों को गोली मारो….. को’ का नारा लगाने वाले भाजपा के केंन्द्रीय मंत्रियों, सांसदों-विधायकों और उनके समर्थकों का हुजूम दिखाई देता था। लेकिन अब परिदृश्य और नारे दोनों बदल गए हैं। अब खुद भाजपा के सांसद मंत्री जगह जगह घेरे जा रहे हैं और किसान उनके खिलाफ ‘लठ मारो स….. को, किसानों के हत्यारों को’ और ‘कब तक पुलिस को आगे करेंगे’ का नारा बुलंद कर रहे हैं। और करें भी क्यों न। केंद्र सरकार पूरी तरह तानाशाही पर उतरकर, संसद को बंधक बनाकर, किसानों से राय लिए बिना ही किसानों के लिए किसान विरोधी कानून बना देती है। और जब किसान शांतिपूर्ण विरोध करते हैं तो सरकार उन पर लाठियां और आंसू-गैस चलवाती है।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

This post was last modified on October 2, 2020 6:29 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by