Thursday, June 1, 2023

बग़ैर शादी गर्भवती होने के झूठे आरोपों के बाद एक्टिविस्ट सफूरा के ख़िलाफ़ नया दुष्प्रचार अभियान, फेक पोर्न क्लिप की जा रही है शेयर

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर कुछ पोर्न क्लिप अपलोड की गयी हैं जिन्हें ग़लत तरीक़े से सीएए आंदोलन मामले में गिरफ्तार जेएमआई एक्टिविस्ट सफूरा जरगर का बताया जा रहा है। आपको बता दें कि सफूरा तीन महीने की गर्भ से हैं और दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिऱफ्तार किया हुआ है। उनकी यह गिरफ्तारी यूएपीए के तहत हुई है। पहले उनके ख़िलाफ़ बग़ैर शादी के गर्भवती होने की झूठी ख़बर फैलायी गयी। और जब यह बात सामने आ गयी कि वह शादीशुदा हैं और उनकी दो साल पहले शादी हुई थी। तब उनकी छवि को नुक़सान पहुँचाने और उन्हें बदनाम करने के लिए अब दूसरे क़िस्म से कोशिशें की जा रही हैं। इसके तहत पोर्न हब से क्लिप निकालकर उनके ख़िलाफ़ इस्तेमाल किया जा रहा है।

एक ख़ास फ़ेसबुक ग्रुप के बहुत सारे लोग यह दावा करते हुए एक पोर्न वीडियो की स्टिल फ़ोटो शेयर कर रहे हैं कि वह जरगर का है। ये सभी शख़्स दूसरे लोगों को भी इस बात का आमंत्रण भेज रहे हैं कि अगर वे उस वीडियो का एक्सेस चाहते हैं तो उनके पास मित्रता संदेश भेजें। ढेर सारे लोगों ने इस पर प्रतिक्रिया दी है और क्लिप को हासिल करने के लिए अपने फ़ोन नंबर दिए हैं। बहुत सारे लोगों ने ‘सेंड मी ब्रदर’ और ‘आई वांट द वीडियो’ जैसी टिप्पणियां की हैं। टिप्पणियाँ बताती हैं कि वे इसको देखने के कितने इच्छुक हैं।

Screenshot 2020 05 08 at 7.58.35 AM

इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि ये सभी टिप्पणियाँ ‘वी सपोर्ट नरेंद्र मोदी’ नाम से बने ग्रुप की पोस्ट में की गयी हैं। ग्रुप के 30 लाख फ़ालोअर हैं। और इसे प्रोपोगंडा के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। ज़्यादातर पोस्ट बीजेपी के पक्ष में और पीएम मोदी की तारीफ़ में होती है। इसके साथ ही विपक्ष की आलोचना और उसके ढेर सारे दुष्प्रचारों से भरी होती हैं।

एक दूसरे मोदी समर्थक ग्रुप में वीडियो का स्क्रीन शॉट शेयर किया गया है। नीचे राघव राजपूत नाम के एक शख़्स ने ‘आई सपोर्ट इंडियन आर्मी’ नाम से बने एक ग्रुप में इसे साझा किया है। ग्रुप का यूआरएल है ‘द रीयल हीरो नरेंद्र मोदी’। 

Screenshot 2020 05 08 at 7.59.19 AM

इस वीडियो को अब ह्वाट्सएप पर बड़े स्तर पर फारवर्ड किया जा रहा है। ‘अल्ट न्यूज़’ को इसकी सच्चाई जानने का जब अनुरोध मिला तो उसने इसको चेक किया।

Screenshot 2020 05 08 at 7.59.50 AM

सेलेना बैंक्स का है पोर्न हब का यह वीडियो:

रिवर्स इमेज चेक के बाद यह पता चला कि वीडियो को पोर्न वेबसाइट पोर्नहब से उठाया गया है। क्लिप में महिला सेलेना बैंक्स है।

Screenshot 2020 05 08 at 8.00.25 AM

पोर्नहब के पास एक मॉडल पार्टनर प्रोग्राम है जिसमें कोई भी शख्स अपना कोई निजी वीडियो अपलोड कर सकता है और इसके जरिये प्लेटफ़ार्म से आए रेवेन्यू में वह हिस्सेदार बन सकता है। मॉडल्स को वेरीफाइड टिक एकाउंट मिल जाता है। बैंक्स का भी इस तरह का एक एकाउंट है जिसके 25,000 सब्सक्राइबर हैं।

Screenshot 2020 05 08 at 8.00.57 AM

इस तरह से एक पोर्नोग्राफिक वीडियो ग़लत तरीक़े से सफूरा जरगर के नाम से शेयर किया जा रहा है। यह दूसरा इस तरह का वीडियो है। जिसको अल्ट न्यूज़ ने ग़लत पाया है। इसके पहले अल्ट न्यूज़ ने उस ख़बर की भी पड़ताल की थी जिसमें उनको तीन महीने की गर्भवती और साथ ही गैर शादी शुदा बताया गया था। जबकि सच्चाई यह है कि वह गर्भवती ज़रूर हैं लेकिन शादीशुदा हैं। यह बेहद परेशान करने वाला विषय है कि सफूरा जरगर के ख़िलाफ़ ऐसे प्लेटफ़ार्मों से खुले तौर पर अभियान चलाया जा रहा है। और दिलचस्प बात यह है कि फ़ेसबुक और ट्विटर से लेकर दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफ़ार्म न तो उसकी अश्लील भाषा पर रोक लगा रहे हैं और न ही उनके झूठे और ग़लत कंटेंट पर।

जरगर एक महिला होने और मुस्लिम समुदाय से जुड़े होने के चलते पुरुषों के हमलों की आसान शिकार हो जा रही हैं। इस मामले में सोशल मीडिया प्लेटफ़ार्मों साथ ही क़ानून की रक्षा करने वाली एजेंसियों को संज्ञान लेना चाहिए और उन्हें ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। अगर कोई किसी के विचार से असहमत होता है तो यह आलोचना नहीं है बल्कि उसकी चरित्र हत्या है। एक तरह से उसके पूरे वजूद को खत्म करने जैसा है। वह भी झूठी और मनगढ़ंत बातों के आधार पर।

(अल्ट न्यूज़ से साभार।) 

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of

guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles

महिला पहलवानों के समर्थन में आए आईओसी और अन्तर्राष्ट्रीय कुश्ती संघ

नई दिल्ली। लम्बे समय से आंदोलनरत महिला पहलवानों के समर्थन में अब अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पिक...