देश की जीडीपी में बड़ी गिरावट, विकास दर 5 फीसदी पर आ गयी

Estimated read time 1 min read

नई दिल्ली। भारत की जीडीपी विकास दर घटकर 5 फीसदी पर आ गयी है। 30 जून को खत्म हुए तिमाही से जुड़ा यह डाटा शुक्रवार को आया। पिछले छह सालों के दौरान यह सबसे कम विकास दर है। यह दर इकोनामिस्ट द्वारा अनुमानित विकास दर 5.7 से भी कम है। गौरतलब है कि इकोनामिस्ट ने न्यूज़ एजेंसी रायटर्स के जरिये कराए गए एक पोल में जीडीपी के 5.7 की गति से बढ़ने की संभावना जतायी थी।

बताया जा रहा है कि कृषि का विकास दर घटकर 2 फीसदी पर आ गया है जो अब तक सबसे नीचे है।

इसे कृषि और मैनुफैक्चरिंग सेक्टर में बुरे प्रदर्शन का नतीजा बताया जा रहा है। यह पिछले 20 क्वार्टर में सबसे कम विकास दर है। और दो साल बाद भारत को चीन के पीछे खड़ा कर दिया है। 2014-15 के बाद से लगातार जीडीपी की विकास दर में गिरावट दर्ज की जा रही है। सेंट्रल स्टैटिस्टिक (सीएसओ) आफिस की ओर से आए इस आंकड़े के बाद सरकार परेशान हो गयी है।

जीडीपी के आए नये आंकड़े के बाद लगता है सरकार परेशान हो गयी। लिहाजा आनन-फानन में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने मामले से ध्यान हटाने के लिए एक प्रेस कांफ्रेंस बुला लिया जिसमें उन्होंने सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों को मिलाकर चार बैंक बनाए जाने का ऐलान कर दिया। और उसे मोदी के 5 ट्रिलियन इकोनामी के सपने से जोड़ दिया।

इतना ही नहीं सीबीआई को कई जगहों पर छापों के निर्देश दे दिए गए जिसमें बताया जा रहा है कि एजेंसी के अधिकारियों ने 150 जगहों पर अचानक चेकिंग की है। इनमें कोल से लेकर हेल्थ और म्यूनिसिपल से पावर कारपोरेशन से जुड़ी ठिकाने हैं।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments