चीनी सीमा पर शहीद होने वालों में छत्तीसगढ़ के कांकेर का एक जवान भी शामिल

1 min read
घर में मातम और शहीद गणेश।

कांकेर (छत्तीसगढ़)। छत्तीसगढ़ के बस्तर कांकेर जिले से चारामा ब्लॉक का जवान भी चीन विवाद में शहीद हुआ है। सोमवार की रात सीमा पर चीनी सैनिकों से झड़प हो गई थी। इस झड़प में जवान गणेश राम कुंजाम गंभीर रूप से घायल थे। मंगलवार को इलाज के दौरान जवान ने दम तोड़ दिया था। शहीद गणेश राम ने साल 2011 में आर्मी ज्वाइन की थी। 1 माह पहले ही चीन बॉर्डर पर उनकी पोस्टिंग की गई थी। इस खबर के बाद से शहीद जवान के ग्राम गीधाली में शोक का माहौल है।

घर वालों की तरफ से कई बार उसे फोन कर बात करने की कोशिश की गयी, लेकिन उससे संपर्क नहीं हो सका और फिर अचानक से मंगलवार की दोपहर परिवार वालों को सेना की तरफ से बताया गया कि गणेश राम ने वीरगति पायी है। सेना के अफसरों ने जवान के चाचा तिहारूराम कुंजाम को बताया कि गुरुवार की शाम तक शहीद जवान का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव में भेजा जायेगा।

बता दें कि चीनी सेना के साथ 15-16 जून की रात भारतीय सेना की झड़प हुई। भारतीय सैनिकों का दल कमांडिंग अफसर कर्नल संतोष बाबू की अगुवाई में चीनी कैंप में गया था। भारतीय दल कोई हथियार लेकर नहीं गया था।

भारतीय दल चीनी सैनिकों के पीछे हटने को लेकर बनी सहमति पर बात करने गया था, लेकिन वहां भारतीय सैनिकों को चीन का धोखा मिला। बॉल्डर, पत्थर, कंटीले तारों और कील लगे डंडों से चीनी सैनिकों ने हमला बोल दिया। इस हमले के कारण कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू और दो जवान मौके पर शहीद हो गए, जबकि कई जवान घायल हो गए।

झड़प जिस प्वाइंट पर हुई उसके ठीक नीचे उफनती हुई श्योक नदी बहती है। कई सैनिकों के नदी में बहने की खबर है। कई जख्मी सैनिक इलाके में शून्य से कम तापमान की वजह से अपने जख्मों से उबर नहीं पाए और शहीद हो गए। भारत की तरफ से जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक, 20 जवान शहीद हुए हैं।

(कांकेर से जनचौक संवाददाता तामेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट।)

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर Janchowk Android App

Leave a Reply