Subscribe for notification

हाथरस जा रहे राहुल गांधी के साथ पुलिस ने अभद्रता की, धक्का-मुक्की में जमीन पर गिरे, हाथ और शरीर में लगी चोट

नई दिल्ली। हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए जा रहे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी को ग्रेटर नोएडा के पास पुलिस ने रोक लिया है। रोके जाने के बाद दोनों नेता हाथरस की ओर पैदल ही चल दिए। उनके साथ बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी शामिल हैं। राहुल और प्रियंका तकरीबन एक बजे दिल्ली से निकले थे अभी वे ग्रेटर नोएडा ही पहुंचे थे कि तभी पुलिस ने उनके काफिले को रोक लिया। यूपी पुलिस ने राहुल गांधी के साथ बदतमीजी की है। और उन्हें धक्का देने की कोशिश की है जिसमें एक बार राहुल जमीन पर गिर गए। और उनके हाथ में चोट भी आ गयी है। अब यह चोट कितनी गंभीर है बता पाना मुश्किल है।

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित लड़की के साथ गैंगरेप और बर्बरतापूर्ण हत्या के बाद पुलिस प्रशासन द्वारा आधी रात घर वालों की मर्जी के खिलाफ़ पीड़िता की लाश को जला देने के बाद से पूरे देश में गुस्सा है। पी. एल. पुनिया और उदित राज भी इन दोनों नेताओं के साथ हैं। कमल किशोर कमांडो पीड़िता के घर जाएंगे।

नेताओं का यह लश्कर उत्तर प्रदेश की सीमा वाले ग्रेटर नोएडा पर रोक लिया गया। और आगे गाड़ियां नहीं ले जाने की बात कही। अपने वाहन को वहीं छोड़कर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी तमाम कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ ग्रेटर नोएडा से 142 किलोमीटर दूर हाथरस पीड़ित परिवार के घर के लिए पैदल ही निकले हैं।

ख़बर है कि आगे डीएनडी पर भारी पुलिस बल तैनात है। संभव है दोना कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को यूपी पुलिस कानून व्यवस्था के नाम पर गिरफ़्तार कर ले।

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सुबह पीड़िता के पिता का वीडियो ट्वीट करके पुलिस द्वारा पीड़ित परिवार के साथ जबर्दस्ती करने का आरोप लगाया।

प्रियंका गांधी ने लिखा- “हाथरस की बेटी के पिता का बयान सुनिए। उन्हें जबरदस्ती ले जाया गया। सीएम से वीसी के नाम पर बस दबाव डाला गया। वो जांच की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। अभी पूरे परिवार को नजरबंद रखा है। बात करने पर मना है। क्या धमकाकर उन्हें चुप कराना चाहती है सरकार? अन्याय पर अन्याय हो रहा है।”

दोनों नेताओं के साथ जा रहे कार्यकर्ताओं को पुलिस रोकने का प्रयास कर रही है। और इसी कड़ी में उनके ऊपर लाठियां भी भांज रही है। जिसमें कई कार्यकर्ता घायल हो गए हैं। प्रियंका गांधी ने इस पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट कर इसका प्रतिवाद किया है और उनका कहना है कि इससे उनके हौसले दबने नहीं जा रहे हैं।

पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इसी तरह की एक तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट में कहा है कि यूपी के जंगलराज का आलम यह है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है। इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय!

पुलिस लगातार राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को रोकने की कोशिश कर रही है। वो सामने बैरिकेड बनाकर खड़े हो जा रहे हैं लेकिन राहुल गांधी रुकने के लिए तैयार नहीं हैं। उनका कहना है कि उनके इरादे पक्के हैं और वह परिजनों से मिलकर ही रहेंगे।

खबर आ रही है कि युपी पुलिस ने राहुल गांधी के साथ बदतमीजी की है। और उन्हें धक्का देने की कोशिश की है जिसमें एक बार राहुल जमीन पर गिर गए।

This post was last modified on October 4, 2020 12:06 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by