पहला पन्ना

गणतंत्र दिवसः किसान परेड का रोडमैप तैयार, 170 किलोमीटर लंबा होगा पूरा रूट

किसानों की ट्रैक्टर परेड कल यानि 26 जनवरी की सुबह 10 बजे शुरू होगी। सिंघु बॉर्डर पर किसान संगठनों की प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि ट्रैक्टर रैली संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर, बवाना, बादली, कुत्तबगढ़ होते हुए KMP से घूमकर वापस सिंघु बॉर्डर आएगी। किसान लीडर मार्च में आगे-आगे अलग गाड़ियों में रहेंगे। झांकियों की गाड़ियां ट्रैक्टर मार्च में बीच में चलेंगी। तीनों रूट मिलाकर क़रीब 170 किलोमीटर लंबी परेड होगी।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी दीपेंद्र पाठक ने मीडिया को बताया कि सिंघु बॉर्डर पर 62 किलोमीटर का रूट, टिकरी बॉर्डर पर 63 किलोमीटर का रूट और गाजीपुर से 46 किलोमीटर का रूट किसानों के ट्रैक्टर परेड के लिए तय किया गया है।

रैली के दौरान राष्ट्रीय ध्वज और किसान संगठनों के झंडे ट्रैक्टर पर लगाए जाएंगे। कौन सा नारा लगाना है और कौन सा नहीं, इसके बारे में कल तक फ़ाइनल रूपरेखा तैयार होगी। डॉक्टर, मैकेनिक और लंगर कहां-कहां उपलब्ध होगा ये पूरा सिस्टम मार्च के दौरान एक्टिव होगा। किसान संगठनों के वॉलिंटियर्स पूरे मार्च का संचालन करेंगे।

वहीं किसान नेताओं ने गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर परेड में शामिल होने वाले लोगों से 24 घंटे के लिए राशन उपलब्ध रखने के साथ ही परेड के दौरान शांति बनाए रखने की अपील की। एक किसान नेता ने कहा, “किसी के पास भी कोई हथियार या शराब नहीं होनी चाहिए। भड़काऊ संदेश वाले बैनर की अनुमति नहीं दी जाएगी।”

दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस समारोह के बाद प्रदर्शनकारी किसानों की ट्रैक्टर परेड की सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में एक परिपत्र जारी किया है। इसमें कहा गया है कि पुलिसकर्मियों के लिए दोपहर के भोजन की व्यवस्था की जानी चाहिए और उन्हें उनके संबंधित जोनल/सेक्टर अधिकारियों के तहत ड्यूटी के उनके बिंदुओं पर तैयार रहना चाहिए।

किसानों की ट्रैक्टर रैली को लेकर दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर दीपेंद्र पाठक ने बड़ा खुलासा किया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने कहा कि हमें कई इंटेलीजेंस इनपुट मिले हैं कि इस ट्रैक्टर रैली को डिस्टर्ब करने की साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर मार्च में गड़बड़ी फैलाने के लिए 308 ट्विटर हैंडल पाकिस्तान में बने हैं।

This post was last modified on January 25, 2021 2:48 pm

Share
Published by
%%footer%%