Friday, July 1, 2022

कांग्रेस प्रत्याशी व उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मां आशा सिंह के ख़िलाफ़ उम्मीदवार नहीं उतारेगी सपा, बसपा, भाजपा

ज़रूर पढ़े

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो बयान जारी कर अखिलेश यादव, मायावती, योगी आदित्यनाथ के प्रति आभार जताते हुये बताया है कि तीनों दल उनकी मां और उन्नाव विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी आशा सिंह के ख़िलाफ़ कोई प्रत्याशी नहीं उतारेंगे। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव गैंगरेप और हत्या पीड़ित मां को कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी बनाया है। गौरतलब है कि 13 जनवरी को कांग्रेस ने यूपी में 125 उम्मीदवारों का एलान करते हुये आशा सिंह को उन्नाव से अपना प्रत्याशी बनाया है। उसके अगले ही दिन 14 जनवरी को समाजवादी पार्टी ने उनके ख़िलाफ़ कोई प्रत्याशी न उतारने का फैसला किया। आशा सिंह ने खुद इसकी जानकरी देते हुये बताया था कि – “अखिलेश भैया ने हमेशा मेरा साथ दिया है। पार्टी ने भी हमेशा मेरा साथ दिया है। मुझे पता चला है कि यहां से एसपी से किसी को चुनाव मैदान में नहीं उतारेंगे। 

हालांकि दो दिन पहले ही भाजपा ने कन्नौज से असीम अरुण आईपीएस को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। 

आशा सिंह ने मायावती को लिखा था पत्र 

यूपी के उन्नाव सदर से कांग्रेस की उम्मीदवार और एक गैंगरेप पीड़िता की मां आशा सिंह ने 18 जनवरी को बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार को लेकर आपत्ति जताते हुये मायावती को एक पत्र लिखकर बसपा प्रत्याशी देवेंद्र सिंह की उम्मीदवारी खत्म करने की अपील की थी। आशा सिंह ने आरोप लगाया था कि बसपा उम्मीदवार देवेंद्र सिंह उनकी बेटी को प्रताड़ित करने वाले के करीबी हैं और उन्हें डराने-धमकाने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने पत्र में कहा था कि, “उन्नाव से बसपा प्रत्याशी देवेंद्र सिंह पर हत्या और रंगदारी के प्रयास समेत करीब एक दर्जन आपराधिक मामले हैं। वह कुलदीप सिंह सेंगर का करीबी भी है। सरकार की तरफ से प्राप्त सुरक्षा के जरिए उसने मुझे डराने-धमकाने की कोशिश की।”

इसके बाद बीएसपी अध्यक्ष ने उनके ख़िलाफ़ कोई प्रत्याशी न उतारने का फैसला किया। गौरतलब है कि भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा आशा सिंह की नाबालिग बेटी संग गैंगरेप और पति की हत्या कर दी गई थी। 

उन्नाव बलात्कार कांड की पीड़िता ने अपनी मां एवं सदर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी आशा सिंह के ख़िलाफ़ उम्मीदवार न खड़ा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के प्रति आभार व्यक्त किया है।

बलात्कार पीड़िता ने रविवार को एक वीडियो जारी कर कहा कि उन्नाव सदर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस ने उनकी मां आशा सिंह को टिकट दिया है। मां के ख़िलाफ़ भाजपा,सपा और बसपा ने अपना कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है जिसके लिए मैं और मेरा परिवार मुख्यमंत्री योगी आदत्यिनाथ,पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव एवं पूर्व मुख्यमंत्री एवं बसपा सुप्रीमो मायावती के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करता है।

इससे पहले माखी बलात्कार कांड के अभियुक्त पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की बेटी ऐश्वर्या ने बलात्कार पीड़िता की मां को टिकट दिये जाने का विरोध करते हुये कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर हमला करते हुये कहा था कि जब उनकी मां को टिकट मिला था तो कांग्रेस ने उसका विरोध किया था और अब वह खुद ऐसी महिला को उम्मीदवार बना रही है जिस पर नकली टीसी बनवाने का केस दर्ज़ है। इसके लिए समाज और नैतिकता का धर्म प्रियंका को माफ नहीं करेगा। गौरतलब है कि उन्नाव सदर से भाजपा,सपा और बसपा ने फिलहाल अपने उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है।

(सुशील मानव जनचौक के विशेष संवाददाता हैं।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

हिन्दुत्व के सबसे सटीक व्याख्याकार निकले एकनाथ शिंदे 

कई बार ढेर सारी शास्त्रीय कोशिशें, कई ग्रन्थ, अनेक परिभाषाएं और उनकी अनेकानेक व्याख्यायें भी साफ़ साफ़ नहीं समझा...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This