Monday, January 24, 2022

Add News

टिकरी बॉर्डर पर 3 महिला किसानों की ट्रक से कुचलकर मौत, साजिश की आशंका

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

टिकरी बॉर्डर के पास बहादुरगढ़ रेलवे स्टेशन जाने के लिए पकोड़ा चौक पर ऑटो रिक्शा का इंतजार कर रही महिला किसानों को एक ट्रक ने कुचल दिया। जिसमें तीन महिलाओं की मौत हो गयी। मृतकों की पहचान छिंदर कौर (60), अमरजीत कौर (58) और गुरमेल कौर (60) के तौर पर हुई है। ये सभी मानसा जिले के खीवा दयालुवाला गांव की निवासी थीं। वहीं तीन गंभीर रूप से घायल महिलाओं को रोहतक पीजीआई में भर्ती कराया गया है।

पुलिस का कहना है कि टिकरी बॉर्डर पर केंद्र के तीन कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन में भाग लेने के बाद महिलाएं पंजाब के मानसा जिले स्थित अपने गांव लौट रही थीं। जब यह हादसा हुआ। हादसे के बाद ट्रक चालक मौके से फरार हो गया।

वहीं घटना से आक्रोशित किसानों का कहना है कि मृतक महिला किसानों का पोस्टमार्टम नहीं कराएंगे । पहले आरोपी को गिरफ्तार करो। दरअसल किसानों को इस हादसे के पीछे साजिश का अंदेशा है। किसान नेताओं ने कहा- ट्रक कुछ ही दूरी से चलकर आया और सीधा आकर महिला किसानों को कुचल दिया। झज्जर एसपी वसीम अकरम ने भी किसानों से की बात, आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है। साथ ही यह भी कहा है कि महिला किसानों को कुचलने वाले ट्रक की मैकेनिकल जांच भी करवाई जाएगी। घटनास्थल का जायजा लेने के बाद एसपी ने पूरे शहर की ट्रैफिक व्यवस्था की भी समीक्षा करने की बात कही है।

वहीं भाकियू (एकता उग्राहन) के राज्य सचिव शिंगारा सिंह मान ने मामले की पुलिस जांच की मांग की है ताकि किसी भी तरह की गड़बड़ी की जांच की जा सके। शिंगारा सिंह मान ने कहा, “हम इस संबंध में दिन में बाद में एक बयान जारी करेंगे, लेकिन हमारी मांग है कि सरकार पीड़ित परिवारों को 10 लाख रुपये का मुआवजा और सरकारी नौकरी मुहैया कराए।”

झज्जर पुलिस का बयान

झज्जर पुलिस अधीक्षक (एसपी) वसीम अकरम ने बताया कि प्रथमदृष्टया यह घटना एक दुर्घटना लगती है, लेकिन वे जल्द ही सभी तथ्यों को स्पष्ट कर देंगे। उन्होंने बताया, ‘छह महिला किसान डिवाइडर पर बैठी थीं, तभी एक तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें कुचल दिया। दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई और तीसरी को बहादुरगढ़ सिविल अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। ये महिलाएं घर जा रही थीं और ट्रेन का इंतजार कर रही थीं, जो सुबह क़रीब 7.45 बजे पंजाब के लिए निकलती है’।

झज्जर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) वसीम अकरम ने आगे बताया कि हालांकि ट्रक ड्राइवर भाग गया, हमने उसकी पहचान कर ली है और उसे पकड़ने के लिए तलाश जारी है। हम किसान संघ के नेताओं से भी बात करेंगे और जल्द ही उन्हें आरोपी ट्रक ड्राइवर का बयान बताएंगे। बता दें कि झज्जर के नवनियुक्त SP वसीम अकरम तीन दिन पहले ही जिले का कार्यभार सम्भाला है।

प्रतिक्रियायें

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने हरियाणा के बहादुरगढ़ में ट्रक की टक्कर से तीन महिला किसानों की मौत वाली घटना से जुड़ी खबर साझा करते हुए ट्वीट करके कहा कि भारत माता- देश की अन्नदाता- को कुचला गया है। यह क्रूरता और नफ़रत हमारे देश को खोखला कर रही है। मेरी शोक संवेदनाएं।

टिकरी बॉर्डर पर मौजूद भारतीय किसान यूनियन (एकता उग्राहन) के किसान नेता बसंत कोठा गुरु ने प्रतिक्रिया देते हुए है कि – “घटना तब हुई जब महिलाएं विरोध प्रदर्शन से घर जा रही थीं। यह हमारे लिए एक बड़ी क्षति है क्योंकि जब से तीन कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ आंदोलन शुरू हुआ है तबसे वे नियमित तौर पर टिकरी सीमा पर आ रही थीं।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

यूपी चुनाव में जो दांव पर लगा है

यह कहावत बहुचर्चित है कि दिल्ली का रास्ता लखनऊ से होकर जाता है। यानी अक्सर यह होता है कि...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -