Monday, December 6, 2021

Add News

संसद में आज फिर गूंज रहा है पेगासस जासूसी व कृषि क़ानून का मुद्दा

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

पेगासस जासूसी कांड और तीन केंद्रीय कृषि क़ानून के ख़िलाफ़ विपक्षी दलों द्वारा गतिरोध के चलते राज्यसभा दोपहर 1 बजे तक स्थगित कर दी गई है। राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा ने कहा, ” हम राज्य सभा में विपक्ष के साथ किसानों का मुद्दा उठाना चाहते थे लेकिन अहंकार में चूर सरकार ने मौका नहीं दिया। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जिस तरह का बयान दिया है, उसके बाद हम भी कह सकते हैं कि वे बंगाल हारे और केरल हारे तो इसका क्या मतलब है। उन्‍होंने कहा कोविड के मामले पर धर्म जाति सब छोड़कर इस जानलेवा बीमारी से लड़ने की ज़रूरत है।”

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, हम पेगासस का मुद्दा उठाएंगे। कोई भी देश के विकास में बाधा नहीं डाल रहा है, यह बीजेपी है जिन्होंने इसे बाधित किया है। उन्होंने उपकर लगाकर, ईंधन की कीमत में बढ़ोतरी, परियोजनाओं पर पैसा बर्बाद करके लाखों और करोड़ों रुपये कमाए हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, पहले चर्चा और फिर प्रेजेंटेशन। अगर वे कोविड पर एक प्रेजेंटेशन देना चाहते हैं, तो उन्हें इसे सेंट्रल हॉल में सांसदों और राज्यसभा सदस्यों को अलग-अलग देना चाहिए।  सांसदों को अपने निर्वाचन क्षेत्रों में कोविड से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करने की अनुमति दी जानी चाहिए।

वहीं शिरोमणि अकाली दल की नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने मोदी सरकार द्वारा किसानों को अनसुना किये जाने पर कहा है कि -” सरकार किसानों का अपमान कर रही है। जिस अन्नदाता ने सबका पेट भरा उसी की बात संसद में नहीं सुनी जा रही है। कांग्रेस पार्टी केसिद्धू हों या फिर कैप्‍टन किसी को भी किसान की फिर्क नहीं है। सब कुर्सी की लड़ाई लड़ रहे हैं। किसानों के मुद्दे को लेकर शिरोमणि अकालीदल खड़ा है।”

वहीं शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने किसान आंदोलन के मुद्दे पर कहा है कि  पिछले साल से किसान धरने पर बैठे हैं। ठंड, बारिश और गर्मी का सामना कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों की बात सुने। पीएम मोदी ने जो जिद पकड़ी है, इससे किसानों का अपमान हो रहा है।”

बहुजन समाज वादी पार्टी सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा, किसानों के मुद्दे को बीएसपी और अकाली दल ने दोनों सदनों में उठाया है। कांग्रेस पार्टी ने इसे पूरी तरह से नजरअंदाज़ कर दिया है। हमारे अन्नदाता को मजबूर किया जा रहा है। पांच सौ से ज्यादा लोग मर चुके हैं लेकिन उनके कान पर जूं नहीं रेंग रही है।

इससे पहले आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में संसद में भाजपा के सभी सांसदों की बैठक हुयी। बीजेपी संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, संसद में कांग्रेस जिस तरह का व्‍यवहार अपना रही है वह दुर्भाग्‍यपूर्ण है। कांग्रेस मानसून सत्र में जान-बूझकर नकारात्‍मक माहौल बनाने की कोशिश कर रही है, जबकि देश में वैक्‍सीन की कोई कमी नहीं है।

वहीं गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट करके कहा है कि, “कल देर शाम हमने एक रिपोर्ट देखी, जिसे दुनिया भर में भारत को अपमानित करने के लिए कुछ वर्गों द्वारा बढ़ाया गया है। विध्वंसक साजिशों के माध्यम से भारत के विकास पथ को पटरी से नहीं उतार पाएंगे। मानसून सत्र नए फल देगा।”

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

परिनिर्वाण दिवस: आंबेडकर ने लिया था जाति के समूल नाश का संकल्प

भारतीय राजनीतिक-सामाजिक परिप्रेक्ष्य में छह दिसंबर बहुत महत्त्वपूर्ण है। एक तो डॉ. आम्बेडकर की यह पुण्यतिथि है, दूसरे यह...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -