Friday, January 21, 2022

Add News

मुज़फ्फ़रनगर में दो निजी स्कूलों के संचालकों ने 17 छात्राओं के साथ किया दुष्कर्म

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह तमाम चुनावी मंचों से यह बात पूरी बेशर्मी से कह रहे हैं कि उत्तर प्रदेश की सड़कों पर लड़कियां स्कूटी लेकर रातों में बेख़ौफ़ घूमती हैं। लेकिन हक़ीक़त इसके उलट है। सच तो यह है कि योगी राज में लड़कियां आसान शिकार बनी हुई हैं। अपराधियों को न तो क़ानून का ख़ौफ़ है, न प्रशासन का। 

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के मुज़फरनगर का है। जहां 18 नवंबर को पुरकाजी कस्बे के दो स्कूल प्रबंधकों ने भोपा की 17 लड़कियों को रात में जीजीएस इंटरनेशनल स्कूल में रोका, उनके खाने में नशीला पदार्थ मिला दिया और कथित तौर पर उनके साथ दुष्कर्म किया। सभी लड़कियां 10वीं कक्षा की छात्रा थीं और उन्हें प्रैक्टिकल परीक्षा के नाम पर एक स्कूल से दूसरे स्कूल ले जाया गया था।

वहां लड़कियों के साथ कोई महिला शिक्षिका मौजूद नहीं थी और परिवारों ने आरोप लगाया कि घटना की सूचना मिलने के बाद भी पुलिस ने स्कूल प्रबंधकों को बचाने का प्रयास किया। उन्होंने कथित तौर पर एक स्थानीय पत्रकार पर अफवाह फैलाने और ब्लैकमेल करने के लिए स्कूल प्रबंधकों की ओर से शिक़ायत दर्ज़ कराकर उस पर दबाव बनाने की कोशिश की।

लड़कियों को यह भी धमकी दी गई थी कि वे परीक्षा में फेल हो जाएंगी और अगर उन्होंने घटना के बारे में किसी को बताया तो उनके परिवारों को मार डाला जाएगा। अगले दिन छात्राओं ने स्कूल जाना बंद कर दिया और परिजनों को पूरी घटना बताई। छात्राओं का आरोप है कि उन्होंने रात के खाने के लिए खिचड़ी बनाई थी, लेकिन स्कूल प्रबंधक ने उसे बाहर फेंक दिया और ताजा खाना बनाया, जिसमें कथित तौर पर नशीली चीज मिलाई गई थी।

घटना को 18 – 19 नवंबर के दर्म्यान अंजाम दिया गया। 5 दिसंबर रविवार को दो स्कूलों के मैनेजरों के ख़िलाफ़ दसवीं कक्षा की 17 छात्राओं का कथित तौर पर शोषण करने के लिए एफ़आईआर दर्ज की गई।

सूर्य देव पब्लिक स्कूल, भोपा के संचालक योगेश कुमार और जीजीएस इंटरनेशनल स्कूल पुरकाजी के संचालक अर्जुन सिंह के ख़िलाफ़ पोक्सो एक्ट और आईपीसी की अन्य संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज़ की गई है। 

मुज़फ्फ़रनगर के एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया है कि “पुरकाजी थाना क्षेत्र के एक स्कूल में पढ़ने वाली एक लड़की के पिता की ओर से शिक़ायत मिली है और इस संबंध में मामला दर्ज़ किया गया है। साथ ही, एसएचओ पुरकाज़ी को उनकी लापरवाही के लिए हटा दिया गया है और यह पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी गई है कि क्या अन्य पुलिसकर्मियों ने इस मामले में ढिलाई दिखाई।”

मुज़फ्फ़रनगर के एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया है कि मुज़फ्फ़रनगर के गांव तुग़लपुर कामहेरा में हाई स्कूल की 17 छात्राओं को नशीला पदार्थ देकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दूसरे की तलाश जारी है। मामले की सूचना देने में लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारी पर भी जांच बैठाई गयी है। साथ ही थाना प्रभारी को तत्काल प्रभाव से हटा  दिया गया है। 

बता दें कि प्रैक्टिकल परीक्षा के नाम पर 17 लड़कियों को दूसरे स्कूल ले जाया गया था। जहां उन्हें नशीला पदार्थ खिलाकर उनके साथ दुष्कर्म किया गया। इनमें से एक अभियुक्त उस स्कूल का मैनेजर है जहां पर छात्राएं पढ़ती हैं वहीं दूसरा अभियुक्त उस स्कूल का मैनेजर है जहां पर छात्राएं ले जाई गई थीं। 

आखिरकार 17 दिन बाद मामला तब सामने आया जब दो पीड़ित छात्राओं के परिजनों ने हाल ही में पुरकाजी के बीजेपी विधायक प्रमोद अटवाल से संपर्क किया। और स्थानीय भाजपा विधायक प्रमोद अटवाल ने हस्तक्षेप किया।

भाजपा विधायक प्रमोद अटवाल का कहना है कि जब परिजनों ने उनसे संपर्क किया तो उन्होंने एसएसपी अभिषेक यादव से बात की और इसके बाद जांच शुरू की गई। 

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

पुरानी पेंशन बहाली योजना के वादे को ठोस रूप दें अखिलेश

कर्मचारियों को पुरानी पेंशन के रूप में सेवानिवृत्ति के समय प्राप्त वेतन का 50 प्रतिशत सरकार द्वारा मिलता था।...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -