Tuesday, September 27, 2022

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के परिजनों ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखकर बतायी थी सेंगर के गुर्गों की कारस्तानियां

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

नई दिल्ली। उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के परिजनों ने सेंगर के गुर्गों से मिल रही धमकियों के बारे में देश की सर्वोच्च अदालत के मुखिया को पत्र लिखकर बताया था। उधर संसद में भी यह मामला आज फिर गूंजा। कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने गृहमंत्री अमित शाह से इस मसले पर बयान देने की मांग की है। इस बीच, खबर आ रही है कि लगातार दबाव के बाद बीजेपी ने सेंगर को पार्टी से निलंबित कर दिया है। जहां तक रही पीड़िता की हालत की बात वह अभी भी नाजुक बनी हुई है।

पीड़िता के परिजनों ने चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को यह पत्र 12 जुलाई, 2019 को लिखा था। जिसमें उन्होंने सेंगर के आदमियों द्वारा परिवार को दी जा रही धमकियों के बारे में बताया था। एएनआई के मुताबिक पत्र में कहा गया था कि “लोग मेरे घर पर आए और केस को वापस लेने की धमकी देने लगे (उनका कहना था कि) वरना पूरा परिवार गलत मामलों में जेल में डाल दिया जाएगा।”

दिलचस्प बात यह है कि चीफ जस्टिस ने न तो इसका खुलासा किया और न ही उस दिशा में कोई पहल की।

ताजा खबर यह आ रही है कि लगातार पड़ रहे दबावों के बीच बीजेपी ने विधायक सेंगर को पार्टी से निलंबित कर दिया है। पार्टी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सीबीआई जांच पूरी होने तक उनका निलंबन बना रहेगा।

उधर संसद में आज फिर यह मुद्दा उठा। कांग्रेस, टीएमसी, बीएसपी और डीएमके के सांसदों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने गृहमंत्री अमित शाह से इस मसले पर बयाने देने की मांग की। इस मौके पर बीजेपी के मंत्रियों ने बचाव करते हुए कहा कि मामला सूबे का है और यूपी सरकार पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए पूरा प्रयास कर रही है।

उसके पहले कई विपक्षी दलों के सांसदों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया और सरकार से पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए तत्काल पहल करने की मांग की।

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि बीजेपी सेंगर को संरक्षण दे रही है। उन्होंने कहा कि इसका इससे बड़ा सबूत क्या होगा कि बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने उनसे जेल में जाकर मुलाकात की थी। मायावती ने ट्विटर पर लिखा कि “बीजेपी सांसद साक्षी महाराज का बलात्कार के आरोपी बीजेपी एमएलए से जेल में मिलना इस बात को साबित करता है कि बलात्कार का आरोपी लगातार सत्तारूढ़ दल से संरक्षण पा रहा है….सुप्रीम कोर्ट को इस मामले का संज्ञान लेना चाहिए।”   

पीड़िता के घर पर मौजूद पुलिस।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट कर पीएम नरेंद्र मोदी से कुलदीप सिंह सेंगर से राजनीतिक ताकत छीन लेने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि “हम क्यों कुलदीप सेंगर जैसे लोगों को ताकत और राजनीतिक शक्ति देते हैं और पीड़ितों को उनके हाल पर अकेले छोड़ देते हैं। एफआईआर में बिल्कुल साफ लिखा गया है कि परिवार को धमकी मिल रही थी और वह डरा हुआ था। इसमें यहां तक कि योजनाबद्ध दुर्घटना की बात कही गयी है।”

“प्रधानमंत्री ईश्वर के लिए इस अपराधी और उसके भाई को राजनीतिक सत्ता से अलग कीजिए जो आपकी पार्टी ने उसे दिया है। अभी भी देर नहीं हुई है।”

इसके पहले आज सुबह लखनऊ में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर हल्का बल प्रयोग करते हए उन्हें गिरफ्तार कर लिया। प्रदर्शन की अगुआई कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह कर रहे थे।

सपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह केजीएमयू में जाकर पीड़िता और उसके परिजनों से मुलाकात की है।

इस बीच, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा पीड़िता को देखने केजीएमयू गए थे। जहां उन्होंने बताया कि पीड़िता के चाचा को उसकी चाची के अंतिम संस्कार में भाग लेने के लिए एक दिन के पैरोल पर छोड़ा जा रहा है।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के बीच टकराव का शिकार हो गया अटॉर्नी जनरल का ऑफिस    

 दिल्ली दरबार में खुला खेल फर्रुखाबादी चल रहा है,जो वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी के अटॉर्नी जनरल बनने से इनकार...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -