Friday, February 3, 2023

जम्मू-कश्मीर पर प्रतिबंध के एक सालः जनता पर सरकारी दमन के खिलाफ भाकपा-माले ने मनाया एकजुटता दिवस

Follow us:
Janchowk
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

मुजफ्फरपुर में भाकपा माले ने पार्टी कार्यालय समेत शहर से गांव तक कश्मीर एकजुटता दिवस मनाया गया। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को खत्म करने, राज्य को भंग करने और वहां के लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों पर जारी हमले के एक साल पूरा होने पर वहां की जनता के साथ एकजुटता प्रकट करते हुए पोस्टर के साथ धरना-प्रदर्शन किया गया।

भाकपा-माले के राष्ट्रव्यापी आह्वान पर जम्मू-कश्मीर से बंदूक का राज खत्म कर लोकतंत्र बहाल करने, गिरफ्तार और नजरबंद आम लोगों सहित सभी राजनीतिक नेताओं को रिहा करने, जम्मू-कश्मीर को फिर से पूर्ण राज्य का दर्जा देने, कश्मीरियत पर हमला बंद करने तथा राजनीतिक-सामाजिक अधिकारों को पूर्णतः लागू करने की मांग की गई।

एकजुटता कार्यक्रम के दौरान माले जिला सचिव कृष्णमोहन और इंसाफ मंच के राज्य अध्यक्ष सूरज कुमार सिंह ने कहा कि पिछले एक साल से जम्मू-कश्मीर की जनता को जेलों या घरों में कैद कर दिया गया है। उनके सभी लोकतांत्रिक अधिकारों को खत्म कर दिया गया है। उनके जीने के अधिकार पर पहरा है। वे बंदूक के साये में जीने को बाध्य हैं। यह कश्मीर ही नहीं बल्कि देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था के खिलाफ है। आज पूरे देश की जनता को उनके लोकतांत्रिक अधिकारों को बहाल करने के लिए जम्मू-कश्मीर के साथ खड़ा होने की जरूरत है।

उन्होंने आगे कहा कि एक साल पहले जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने तथा राज्य को भी भंग करने के साथ मोदी सरकार ने बड़े-बड़े वायदे किए थे कि यह कदम जम्मू-कश्मीर के साथ पूरे भारत के लिए लाभकारी होगा। लेकिन उसी समय देश की लोकतांत्रिक शक्तियों ने चेतावनी दी थी कि कश्मीर में लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमला पूरे देश के लिए ब्लू प्रिंट बनेगा।

उन्होंने कहा कि एक साल में सरकार के वायदों की कलई खुल चुकी है और वह छलावा साबित हुआ है। आज देश के हर हिस्से में मोदी सरकार पर सवाल उठाने वाली राजनीतिक शक्तियों और लोकतांत्रिक लोगों पर दमन जारी है।

उन्होंने कहा कि कि आज हमें जम्मू-कश्मीर की जनता के साथ एकजुटता प्रकट करते हुए लोकतंत्र के लिए आवाज बुलंद करना होगा। मोदी सरकार के झूठ और दमन के खिलाफ सड़कों पर उतरना होगा।

एकजुटता कार्यक्रम में माले जिला सचिव कृष्णमोहन, इंसाफ मंच के राज्य अध्यक्ष सूरज कुमार सिंह और उपाध्यक्ष जफर आजम, जिला कार्यालय सचिव सकल ठाकुर, ऐपवा की जिला अध्यक्ष शारदा देवी और सह सचिव निर्मला सिंह, इंकलाबी नौजवान सभा के जिला सचिव राहुल कुमार सिंह, पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता सुरेश ठाकुर, राज किशोर प्रसाद, धनंजय कुमार, रतन कुमार, वीरेंद्र कुमार, दीपू महतो, मिली कुमारी, उपेंद्र कुमार, रवींद्र ठाकुर, मानसी जयसवाल, कोशी जयसवाल, चंदा देवी, शैल देवी, महेश्वरी देवी, हीरा देवी समेत अन्य कार्यकर्ताओं, महिलाओं और नौजवानों ने शिरकत की।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

जेल साहित्य को समृद्ध करती मनीष और अमिता की जेल डायरी

भारत में जेल साहित्य दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है, यह अच्छी बात भी है और बुरी भी। बुरी इसलिए...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This