Tuesday, March 5, 2024

छत्तीसगढ़ में ईडी के छापे भूपेश बघेल की छवि खराब करने की साजिश है: कांग्रेस

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ में जैसे-जैसे मतदान की तिथि नजदीक आ रही है। कांग्रेस-भाजपा में वाक युद्ध तेज होता जा रहा है। आरोप-प्रत्यारोप के दौर के अलावा राज्य में ईडी के छापे में भी तेजी आई है। शनिवार को कांग्रेस ने आरोप लगाया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा भूपेश बघेल को लेकर किए गए दावे और कुछ नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री की छवि खराब करने के लिए भाजपा द्वारा रची गई एक “साजिश” का हिस्सा हैं। कांग्रेस ने कहा कि राज्य के लोग आगामी विधानसभा चुनाव में इसका उचित जवाब देंगे।

कांग्रेस ने कहा कि वह इस मामले को चुनाव आयोग (ईसी) के समक्ष भी उठाएगा, क्योंकि यह आदर्श आचार संहिता के “उल्लंघन” का मामला है।

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने दावा किया कि राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार निश्चित है, भगवा पार्टी ईडी और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) जैसी केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। राजस्थान और छत्तीसगढ़ के लोगों को कांग्रेस पर भरोसा है। भाजपा प्रतिशोध की राजनीति में लिप्त है।

एक अन्य कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि बघेल की छवि खराब करने की स्पष्ट साजिश है और लोग आगामी चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को करारा जवाब देंगे।

ईडी ने शुक्रवार को दावा किया कि फोरेंसिक विश्लेषण और एक “कैश कूरियर” द्वारा दिए गए बयान से “चौंकाने वाले आरोप” सामने आए हैं कि महादेव सट्टेबाजी ऐप प्रमोटरों ने अब तक बघेल को लगभग 508 करोड़ रुपये का भुगतान किया है और “ये जांच पड़ताल का विषय हैं।”

भाजपा ने शनिवार को कांग्रेस पर छत्तीसगढ़ में अपने चुनाव अभियान के वित्तपोषण के लिए अवैध सट्टेबाजी संचालकों द्वारा लाए गए “हवाला” धन का उपयोग करने का आरोप लगाया, साथ ही उसने 500 करोड़ रुपये से अधिक की रिश्वत लेने के आरोप को लेकर बघेल पर निशाना साधा था। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव दो चरणों में होने वाले है, 7 नवंबर को 20 सीटों और दूसरे चरण में 17 नवंबर को 70 सीटों पर चुनाव होगा।

(जनचौक की रिपोर्ट)

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles