Sat. Sep 21st, 2019

कांग्रेस को समर्थन के ऐलान के तीन दिन बाद हार्दिक गिरफ्तार

1 min read
hardik-congress-arrest-jignesh-reshma

hardik-congress-arrest-jignesh-reshma

अहमदाबाद। गुजरात पुलिस ने आज पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और दिनेश मंभानिया को गिरफ्तार कर लिया। इन पर उत्तरी गुजरात के पाटन में एक शख्स के ऊपर हमले का मामला दर्ज था। नरेंद्र पटेल नाम के एक शख्स ने उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 395 (डकैती), 504 और 323 के तहत मामला दर्ज कराया था। हार्दिक को आनंद में गिरफ्तार किया गया। इस मामले में चार और लोगों के खिलाफ केस दर्ज है। जबकि बंभानिया को राजकोट से गिरफ्तार किया गया।

शिकायत में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) के नेता पटेल ने आरोप लगाया था कि शनिवार को जब वो पाटन में जब इन नेताओं से नवजीवन होटल में मिलने गया था तो उन लोगों ने उसके साथ मारपीट करने के साथ ही उसको अपमानित करने का काम किया।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर Janchowk Android App

कांग्रेस के समर्थन का किया था ऐलान

ऐसा माना जा रहा है कि इस गिरफ्तारी के पीछे गुजरात सरकार का हाथ है। क्योंकि 25 अगस्त को अनामत आंदोलन की बरसी पर हार्दिक ने खुलकर बीजेपी को हराने और कांग्रेस को जिताने की अपील कर डाली थी। जिसके बाद से ही सरकार बेहद नाराज हो गयी है। बीजेपी के कुछ नेताओं ने हार्दिक को कांग्रेस का एजेंट करार दिया है। हार्दिक ने इसका जवाब देते हुए कहा है कि अगर बीजेपी पाटीदारों के आरक्षण की मांग पूरी कर दे तो वो बीजेपी का भी एजेंट बनने के लिए तैयार हैं।

इसके पहले पाटीदार अनामत आन्दोलन समिति ने 25 अगस्त को अनामत आन्दोलन के दरम्यान शहीद पाटीदारों को श्रद्धांजली देने के लिए “एक शाम शहीदों के नाम” कार्यक्रम रखा था। इस मौके पर आन्दोलन के संयोजकहार्दिक पटेल ने कहा कि हम लोग सत्ता के लालची नहीं हैं हम अनामत के लिए लड़ रहे हैं हमें अनामत लेनी ही है चाहे वह नरेंद्र मोदी की जेब से मिले या अमित शाह की बंदूक की गोली से। हम हर प्रकार से तैयार हैं विकास केनाम पर फैलाये गए झूठ पर पटेल ने कहा कि मेरे दादा धोती पहनते थे, मेरे पिताजी पैंट पहनते हैं मैं जीन्स पहनता हूँ। विकास नरेंद्र मोदी के ढाई रुपये के चेक से नहीं हुआ है हार्दिक ने कहा 1995 में केशु भाई सत्ता में आये तोउस समय राज्य का कर्जा 3600 करोड़ था आज 4 लाख करोड़ है ऐसा विकास तो मुझे भी आता है।

लिया जाएगा पुलिस वालों से बदला

हार्दिक ने 25 अगस्त 2015 को पाटीदारों पर हुए अत्याचार व शहादत पर कहा कि पुलिस से बदला लिया जायेगा चाहे एक स्टार वाला हो या दो स्टार वाला या तीन स्टार वाला हो सबसे बदला लिया जायेगा। राज्य में 47 पटेलविधायक हैं, 7 मंत्री और एक उपमुख्यमंत्री। इसके बावजूद इन्हें समाज की दुर्दशा दिखाई नहीं देती है। इन भाजपाई पाटीदार नेताओं की 200 लोगों को इकठ्ठा करने की शक्ति नहीं है। इसीलिए 15 करोड़ में बिक जाते हैं। हार्दिकने पाटीदार समाज से अपील की कि हमें कांग्रेस को एक मौका देना चाहिए ताकि कांग्रेस को पाटीदारों पर भरोसा बने। राज्य सभा चुनाव में सबसे अधिक बिकने वाले विधायक पाटीदार ही थे यह पहला मौक़ा है जब हार्दिक पटेलने खुलकर कांग्रेस का समर्थन करने की बात की है।

गुजरात में हुए सामजिक न्याय आन्दोलन से उभरे बड़े चेहरे भी चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। पाटीदार अनामत आन्दोलन की महिला संयोजक रेशमा पटेल ने इस मौके पर कहा किसी भी हालत में भाजपा नहीं चाहिए भले ही हमें कांग्रेस के साथ जाना पड़े। पिछले कुछ दिनों से रेशमा सोशल मीडिया पर कांग्रेस के पक्ष में बोल रही हैं। जनचौक को विश्वशनीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पाटीदार अनामत आन्दोलन समिति की महिला विंग की संयोजक रेश्मा पटेल जूनागढ़ की केशोद सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ सकती हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस रेशमा को पाटीदार चेहरे के तौर पर चुनाव प्रचार कराएगी।

नेताओं ने शुरू की चुनाव की तैयारी

हार्दिक पटेल की आयु 25 वर्ष से कम होने के कारण 2017 का विधानसभा चुनाव नहीं लड़ सकते। वरुण पटेल और जयेश पटेल भी कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे। चिराग पटेल और केतन पटेल ने शुक्रवार को अपनी नईपार्टी लांच की है है जो बापू के मोर्चे के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी। दलित आन्दोलन के नायक जिग्नेश मेवानी अहमदाबाद जिले की धोलका सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस जिग्नेश मेवानी के लिए सीट छोड़ सकती है पूर्व आईपीएस राहुल शर्मा स्मार्ट पार्टी की तरफ से 182 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर चुके हैं।

Donate to Janchowk
प्रिय पाठक, जनचौक चलता रहे और आपको इसी तरह से खबरें मिलती रहें। इसके लिए आप से आर्थिक मदद की दरकार है। नीचे दी गयी प्रक्रिया के जरिये 100, 200 और 500 से लेकर इच्छा मुताबिक कोई भी राशि देकर इस काम को कर सकते हैं-संपादक.

Donate Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *