Subscribe for notification
Categories: राज्य

गृहनगर बेगुसराय पहुंचा कन्हैया का लांग मार्च

बेगुसराय। देश की आज़ादी और संविधान पर हमला कर रही है भाजपा सरकार, देश की आज़ादी व संविधान की स्वतंत्रता की रक्षा जरूरी है इसीलिए एआईएसएफ और एआईवाईएफ ने बचाओ देश, बदलो देश नारे के साथ राष्ट्रीय लॉंग मार्च निकाला है। उक्त बातें बेगूसराय के आयुर्वेदिक महाविद्यालय के परिसर में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए एआईएसएफ के चर्चित राष्ट्रीय नेता व जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कही।

सभा को संबोधित करते हुए कन्हैया ने कहा कि जब देश में जीएसटी को लागू कर एक देश एक कर किया जा सकता है तो फिर एक देश एक शिक्षा क्यों नहीं हो सकती है। आज शिक्षा का भगवाकरण किया जा रहा है विश्वविद्यालय की स्वतंत्रता को खत्म करने की पुरजोर कोशिश जारी हैं। उन्होंने कहा कि गाय, माय, गंगा के नाम पर भाजपा राजनीति कर रही है। गौ रक्षा के नाम पर मानव की हत्या की जा रही है।

कन्हैया ने कहा की वो कहते हैं की “मैं देशद्रोही हूं। अगर मैं देशद्रोही हूं तो मेरे खिलाफ चार्जसीट क्यों नहीं पेश की गयी। मुझे दोबारा क्यों नहीं जेल भेजा गया, वो मुझे डराते हैं पर उन्हें पता नहीं मैं किस मिट्टी से बना हूं, ना तो मैं डरता हूं ना ही डराता हूं और न डरकर राजनीति करता हूं।”

एआईएसएफ के राष्ट्रीय महासचिव विश्वजीत कुमार ने कहा कि देश बेहद कठिन दौर से गुजर रहा है। यह हमलों का दौर है शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य पर हमला जारी है। सरकारी अस्पतालों को कब्रिस्तान में तब्दील कर दिया गया है जो एक साजिश के तहत हुआ है ताकि सरकारी अस्पतालों को भी पूंजीपतियों के हाथों बेचा जा सके।

आप को बता दें 14 जुलाई को कन्याकुमारी से शुरू हुआ लॉन्ग मार्च देश के 13 राज्यों से गुजरने के बाद बिहार प्रवेश किया और बिहार के विभिन्न जिलों से गुजरते हुए 48 दिन बाद कन्हैया कुमार के गृह जिला बेगूसराय पहुंचा। बेगूसराय से सैकड़ों की संख्या में छात्र-युवा मोटरसाइकिल में लाल झंडा बांधे बेगूसराय, खगड़िया सीमा पर पहुंच कर जय भीम लाल सलाम के नारों से काफिले का स्वागत किया जिसके बाद लॉन्ग मार्च के स्वागत के लिए राष्ट्रीय मार्ग पर समर्थकों का हुजूम उमड़ पड़ा।

सभा स्थल पर हजारों की संख्या में उपस्थित छात्र,युवा व पार्टी कार्यकर्ताओं ने कन्हैया के सभा स्थल पर पहुँचते ही कामरेड कन्हैया को लाल सलाम इन्कलाब जिंदाबाद नारों के साथ मंच तक पहुंचाया। जिसके बाद कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए स्वागत भाषण प्रदेश उपाध्यक्ष अमीन हमजा ने दिया।

इससे पूर्व इप्टा की ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया। इस मौके पर पूर्व सांसद शत्रुघ्न प्रसाद सिंह, पूर्व विधायक राजेन्द्र प्रसाद सिंह, पूर्व विधायक अवधेश राय, उपमहापौर राजीव रंजन, अनिल कुमार अनजान, रामाधार सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में नेता, कार्यकर्ता उपस्थित थे।

This post was last modified on May 9, 2019 10:50 am

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Leave a Comment
Disqus Comments Loading...
Share
Published by

Recent Posts

पाटलिपुत्र की जंग: संयोग नहीं, प्रयोग है ओवैसी के ‘एम’ और देवेन्द्र प्रसाद यादव के ‘वाई’ का गठजोड़

यह संयोग नहीं, प्रयोग है कि बिहार विधानसभा के आगामी चुनावों के लिये असदुद्दीन ओवैसी…

29 mins ago

ऐतिहासिक होगा 25 सितम्बर का किसानों का बन्द व चक्का जाम

देश की खेती-किसानी व खाद्य सुरक्षा को कारपोरेट का गुलाम बनाने संबंधी तीन कृषि बिलों…

1 hour ago

लेबर कोड बिल के खिलाफ़ दस सेंट्रल ट्रेड यूनियनों का देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन

नई दिल्ली। कल रात केंद्र सरकार द्वारा लोकसभा में 3 लेबर कोड बिल पास कराए…

3 hours ago

कृषि विधेयक: ध्वनिमत का मतलब ही था विपक्ष को शांत करा देना

जब राज्य सभा में एनडीए को बहुमत हासिल था तो कृषि विधेयकों को ध्वनि मत से…

4 hours ago

आशाओं के साथ होने वाली नाइंसाफी बनेगा बिहार का चुनावी मुद्दा

पटना। कोरोना वारियर्स और घर-घर की स्वास्थ्य कार्यकर्ता आशाओं की उपेक्षा के खिलाफ कल राज्य…

5 hours ago