राज्य

लातेहार: आदिवासियों के लिए स्वराज का जिंदा दस्तावेज है पांचवीं अनुसूची

लातेहार। लातेहार जिला अंतर्गत महुआडांड़ का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल नेतरहाट के सनसेट पॉइंट बटुआ टोली में ग्रामीणों की एक आपात बैठक की गई। ग्रामीणों ने नेतरहाट क्षेत्र में तेजी से बाहर के गैर आदिवासियों द्वारा अवैध रूप से जमीन खरीद कर बसने की समस्या पर चिंता जाहिर की।

अवसर पर ग्रामीण अल्फ्रेड बिरजिया ने बताया कि यह इलाका पर्यटन के लिहाज से बहुत ही व्यावसायिक सम्भावना का इलाका है। प्रसिद्ध सनसेट पॉइंट पर देश के कोने-कोने से लोग सूर्यास्त का मनोरम दृश्य देखने आते हैं। यहाँ प्रत्येक वर्ष अक्टूबर से फरवरी माह में प्रतिदिन लगभग 50 से अधिक छोटी-बड़ी गाड़ियाँ और मोटर साईकिल आती हैं। जिनका हमारी जमीनों पर पार्किंग की जाती है, लेकिन ग्राम सभा में एकजुटता नहीं होने के कारण यहाँ किसी तरह के शुल्क की वसूली नहीं की जा रही है। जबकि यह यहां ग्राम कोष और युवाओं के लिए आंशिक रोजगार का एक बड़ा जरिया हो सकता है।

बता दें कि यह स्थल ग्राम सभा कुरगी के अधिकार क्षेत्र में आता है। स्थानीय किसान ने बताया कि यहाँ कुरगी में 26 घर और बटुआ टोली में 84 घर हैं। इनमें अधिक संख्या आदिवासियों अर्थात किसान (नगेसिया), बिरजिया और बडाईक  समुदायों का है। बता दें कि पर्यटक स्थल में कमल दल महिला स्वयं समूह शाम के वक्त चाय, कॉफ़ी पकौड़ी आदि बेचकर कुछ पैसे कमा लेते थे। लेकिन इन दिनों उनका यह कारोबार भी बंद है।

इस मौके पर जाने माने सामाजिक कार्यकर्ता जेम्स हेरेंज ने ग्रामीणों को सुझाव देते हुए कहा कि यह क्षेत्र पांचवीं अनुसूची के अंतर्गत आता है। जिसमें ग्राम सभा को असीमित संवैधानिक ताकत प्रदत्त है। ग्राम सभा के अधीन उपलब्ध सभी सरकारी तथा सामुदायिक परिसंपत्तियों का लेखा जोखा ग्राम सभा की सार्वजनिक संपदा समिति को करनी है। सिर्फ यही नहीं गांव के प्राकृतिक संसाधनों तथा जल, जंगल, जमीन के संरक्षण, संवर्द्धन और उपयोग के मामले में ग्राम सभा सर्वोच्च संस्था है।

एनसीडीएचआर के राज्य समन्वयक मिथिलेश कुमार द्वारा वनाधिकार कानून 2006 तथा ग्राम स्वशासन को मजबूत करने को लेकर चर्चा की गई। इसके साथ ही साथ बैठक में राशन, पेंशन सहित अन्य योजनाओं को लेकर होने वाली समस्याओं को लोगों ने रखा।

ग्रामीणों ने बैठक में निर्णय लिया कि इन मुद्दों पर विस्तारपूर्वक चर्चा एवं पर्यटक स्थल के प्रबंधन की जिम्मेवारी ग्राम सभा में लेने के लिए जल्द ही एक ग्राम सभा की एक मीटिंग बुलाई जाएगी। बैठक में बताया गया कि प्रस्ताव पारित करके सभी सम्बंधित अधिकारियों तथा राज्यपाल को पारित किये गए प्रस्ताव से अवगत कराने के लिए उन्हें सूचित किया जाएगा। इस बैठक में सुखु किसान, कुलदीप बिरजिया, सुनील बिरजिया, अजय बिरजिया, सुरेन्द्र किसान, नरेगा सहायता केंद्र के अफसाना खातून, जुवेल बिरजिया तथा बरवाडीह से कन्हाई सिंह एवं सतबरवा से मनोज भुइयां आदि उपस्थित थे।

This post was last modified on April 8, 2021 8:23 pm

Share
%%footer%%