Tuesday, September 27, 2022

सीतापुर: माले नेताओं की रिहाई की मांग को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पर जोरदार-प्रदर्शन

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

सीतापुर जेल में बंद भाकपा माले के प्रदेश के नेता और जिला पंचायत सदस्य कॉ अर्जुन लाल एवं उनके साथियों की रिहाई की मांग को लेकर भाकपा (माले) के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पार्टी की नेता कॉ सरोजनी के नेतृत्व में शुक्रवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया जिसमें भारी संख्या में महिलाओं ने भी भागीदारी की। प्रदर्शन के दौरान आयोजित प्रतिवाद सभा को संबोधित करते हुए एक्टू के प्रदेश अध्यक्ष का विजय विद्रोही ने प्रदेश की योगी सरकार पर जम कर हमला बोला। कहा कि भाजपा की यह सरकार पुलिस के बल पर लोकतांत्रिक आंदोलनों को दबाने के साथ ही दलितों मजदूरों तथा महिलाओं का दमन कर रही है। 

उन्होंने कहा कि तानाशाही और दमन की राजनीति की उम्र लम्बी नहीं होती। सरकार के इस दमन और अत्याचार के खिलाफ और न्याय मिलने तक यह आन्दोलन और तेज होगा। उन्होंने हरगांव पुलिस द्वारा दलित महिला का सरोजनी के हाथ से राष्ट्रीय ध्वज छीने जाने और जमीन पर फेंकने की कड़ी निन्दा करते हुए थानाध्यक्ष को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की।

सभा को सम्बोधित करते हुए भाकपा (माले) की राज्य स्थाई समिति के सदस्य कॉ रमेश सिंह सेंगर ने कहा कि पुलिस-सामंत गठजोड़ दमन के दम पर हरगांव क्षेत्र की दलित उत्पीड़ित जनता की लोकतांत्रिक चेतना को कुचल देने पर आमादा है जिसे भाकपा (माले) बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने ऐलान किया कि इस जुल्म के खिलाफ और न्याय के लिए 9 सितम्बर को हरगांव मुख्यालय पर विशाल रैली की जाएगी।

खेत और ग्रामीण मजदूर सभा के प्रदेश सचिव कॉ राजेश साहनी ने कहा कि ग्रामीण गरीबों की न्याय पाने की उम्मीद को साकार करने के लिए पार्टी संघर्ष को निर्णायक मोड़ तक ले जाएगी। उन्होंने कहा कि गरीबों के खिलाफ चल रहे योगी के बुल्डोजर राज को गरीब अपने एकताबद्ध आन्दोलन के दम पर रोकेंगे। ऐपवा की प्रदेश संयुक्त सचिव मीना ने कहा कि भाजपा सरकार ने गुजरात के 11 बलात्कारियों की सजा माफ करके यह साबित कर दिया है कि यह सरकार न सिर्फ महिला विरोधी है बल्कि वह महिलाओं की इज्जत और स्वाभिमान पर लगातार चोट कर रही है।

संगतिन किसान मजदूर संगठन की अध्यक्ष रिचा सिंह ने इस आन्दोलन के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करते हुए गिरफ्तार नेताओं की रिहाई की मांग करते हुए कहा कि हम न्याय की लड़ाई में माले के साथ हैं। किसान मंच के नेता शिवप्रकाश सिंह और किसान नेता सिद्धू सिंह ने भी आन्दोलन का समर्थन किया। सभा को लखनऊ की स्कीम वर्कर्स फेडरेशन की नेता कॉ कमला गौतम, बलिया जिले के लक्ष्मण यादव, लखीमपुर के माले नेता कॉ श्रीनाथ, पार्टी के जुझारू नेता का कन्हैया कश्यप, किसान नेता कॉ संतराम ने भी सभा को सम्बोधित किया। प्रतिवाद सभा की अध्यक्षता ऐपवा की अध्यक्ष कॉ सरोजनी ने तथा संचालन सदस्य राज्य कमेटी कॉ अनिल कुमार भारतीय ने किया। इस कार्यक्रम में प्रमुख रूप से कॉ केशव राम, ओमकार नाथ, क्वांरे, रामजतन कनौजिया, रमापति, जग जीवनराम, नत्थीलाल, सौरभ सिंह, सरला, आकाश वर्मा, रामरतन, मे्वालाल, आदि सैकड़ों लोग शामिल थे।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के बीच टकराव का शिकार हो गया अटॉर्नी जनरल का ऑफिस    

 दिल्ली दरबार में खुला खेल फर्रुखाबादी चल रहा है,जो वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी के अटॉर्नी जनरल बनने से इनकार...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -